पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन, तीन बार रहीं दिल्ली की मुख्यमंत्री

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शीला दीक्षित का 20 जुलाई 2019 को निधन हो गया. वे 81 वर्ष की थी. वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थीं. उनका अंतिम संस्कार 21 जुलाई 2019 को निगम बोध घाट पर हुआ.

दिल्ली सरकार ने उनके निधन पर दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया है. शीला दीक्षित के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए 21 जुलाई 2019 को सुबह 11 बजे तक उनके आवास पर रखा गया था. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सोनिया गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत तमाम नेता उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे.

उन्हें लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था. उन्होंने उत्तर-पूर्व दिल्ली से लोकसभा का चुनाव भी लड़ा था, लेकिन मनोज तिवारी के सामने उन्हें हार का सामना करना पड़ा. वे कुछ समय के लिए केरल की राज्यपाल भी रहीं.

15 सालों तक दिल्ली की मुख्यमंत्री

शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित ने कहा कि उन्हें दिल्ली के विकास के लिए हमेशा याद रखा जाएगा. शीला दीक्षित साल 1998 से लेकर साल 2013 तक लगातार 15 सालों तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. दिल्ली के राजनीतिक इतिहास में वह अब तक की सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहीं. उनके कार्यकाल में ही दिल्ली में दर्जनों फ्लाइओवर बने और दिल्ली की परिवहन व्यवस्था भी सुधरी.

शीला दीक्षित के बारे में:

•   शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था.

•   उन्होंने दिल्ली के जीसस एंड मेरी कॉन्वेंट स्कूल में शिक्षा पाई और दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से इतिहास में मास्टर डिग्री हासिल की थी.

•   शीला दीक्षित का विवाह उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी (आईएएस) विनोद दीक्षित से हुआ था.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

•   वे राजनीति में आने से पहले कई संगठनों से जुड़ी रही और उन्होंने कामकाजी महिलाओं हेतु दिल्ली में दो हॉस्टल भी बनवाए थे.

•   वे साल 1984 से साल 1989 तक वे कन्नौज (उत्तर प्रदेश) से सांसद रहीं. वे इस दौरान लोकसभा की समितियों में रहने के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र में महिलाओं के आयोग में भारत की प्रतिनिधि रहीं.

•   शीला दीक्षित को साल 2014 में केरल का राज्यपाल बनाया गया था. लेकिन उन्होंने 25 अगस्त 2014 को इस्तीफा दे दिया था.

For Latest Current Affairs & GK, Click here

Advertisement

Related Categories

Popular

View More