तालिबान ने ऑपरेशन ओमारी आरंभ किया

ऑपरेशन ओमारी: उग्रवादी संगठन ने अपनी ‘स्प्रिंग ओफेन्सिव’ नीति तहत यह घोषणा की एवं इसका नाम अपने मृतक नेता मुल्ला उमर के नाम पर रखा.

तालिबान ने 12 अप्रैल 2016 को घोषणा की कि वह अफगानिस्तान में अपना वार्षिक वसंत सेना कार्यक्रम ऑपरेशन ओमारी आरंभ करेगी. यह घोषणा की गयी कि इस ऑपरेशन का नाम तालिबान के मृतक नेता मुल्ला उमर के नाम पर रखा गया.

इस्लामिक ग्रुप द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि वे इस दौरान शत्रुओं पर वीभत्स हमले करेंगे. तालिबान का कहना है कि इस अभियान द्वारा वे ह अफगानिस्तान में अफगान और अमेरिकी फौजों के ठिकानों पर बड़े पैमाने पर हमले करेगा. समारिक दृष्टि से महत्वपूर्ण ठिकानों पर हमले किये जायेंगे और शहरी सैन्य ठिकानों पर कमांडरों की हत्या की जाएगी.


वर्ष 2015 में तालिबान ने अफगानिस्तान में 6000 अफगान सैनिकों की हत्या की. इसके अतिरिक्त वर्ष 2001 के बाद पहली बार इनके द्वारा इतने अधिक स्थानों पर कब्जा किया गया.

गौरतलब है कि तालिबान 1990 के दशक से अफगानिस्तान और पड़ोसी देश पाकिस्तान में शरीयत कानून लागू कराना चाहता है. इसके लिए वह दोनों देशों में नागरिकों और प्रशासनिक व्यवस्था के खिलाफ कई आतंकवादी हमलों को अंजाम दे चुका है.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App

 

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now