Advertisement

समुद्र में गंदगी के लिए गंगा सहित विश्व की 10 नदियां जिम्मेदार: रिपोर्ट

हाल ही में हुए एक अध्ययन से पता चला है कि दुनियाभर के समंदरों में मिल रहे कचरे के लिए 10 नदियां सबसे ज्यादा जिम्मेदार हैं. इनमें चीन की यांग्त्जे नदी पहले नंबर पर है जो कि चीन की सबसे लंबी नदी है.

इनमें दूसरे पायदान पर भारत की गंगा नदी है. समंदरों में जो प्लास्टिक कचरा मिल रहा है, उसका करीब 90% इन 10 नदियों से ही आ रहा है. इन 10 नदियों में से 8 एशिया की हैं.

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

•    समुद्र तक प्लास्टिक कचरा ले जाने में गंगा दुनिया में दूसरे स्थान पर है, जबकि सिंधु छठे स्थान पर आती है.

•    शोधकर्ता डॉ. क्रिश्चियन स्कीमिट के अनुसार अधिकतर कचरा नदी के किनारों की वजह से होता है, जिसका निपटारा नहीं हो पाता है और वह बहता हुआ समंदरों में आ जाता है.

•    ये भी देखने में आया कि बड़ी नदियों के प्रति घन मीटर पानी में जितना कचरा रहता है, उतना छोटी नदियों में नहीं रहता है.

•    कुछ साल पहले सरकार ने गंगा की सफाई के लिए 'नमामि गंगे प्रोजेक्ट' शुरू किया था, लेकिन गंगा की सफाई नहीं हो सकी है.

•    एशिया की सबसे लंबी और दुनिया में इकोलॉजी के लिहाज से महत्वपूर्ण नदियों में से एक यांग्त्जे के आसपास चीन की एक तिहाई आबादी यानी 50 करोड़ से ज्यादा लोग बसते हैं. यही समंदर में सबसे ज्यादा कचरा ले जा रही है.

•    वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की रिपोर्ट के अनुसार हर साल लगभग 80 लाख टन कचरा समंदरों में मिल रहा है. इसी को मद्देनजर रखते हुए चीन ने 46 शहरों में कचरे को काबू करने का निर्देश जारी किया है.

समुद्र में कचरे के लिए जिम्मेदार 10 नदियां:


1- यांग्त्जे, चीन

2- गंगा, भारत

3- येलो, चीन

4- पर्ल, चीन

5- एमर रूस, चीन

6- सिंधु, भारत

7- मिकांग, चीन

8- है ही, चीन

9- नील, अफ्रीका

10- नाइजर, अफ्रीका


यह भी पढ़ें: अंटार्कटिका की बर्फ तीन गुना तेजी से पिघल रही है: अध्ययन

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement