बच्चों के खिलाफ हिंसा रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों का नया कार्यक्रम

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लयूएचओ) और संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय बाल आपात राहत कोष परिषद (यूनिसेफ) ने विश्व में बच्चों के खिलाफ होने वाली हिंसात्मक घटनाओं पर रोक लगाने के लिए सात सूत्रीय कार्यक्रम (सेवन स्ट्रेटिजीज फॉर एंडिंग वायलेंस अगेंस्ट चिल्ड्रेन) इंस्पायर (INSPIRE) की शुरूआत पर सहमति जताई है.

एशिया और प्रशांत क्षेत्र के 21 देशों के प्रतिनिधि इन दिनों यहां एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं जिसका उद्देश्य बच्चों के खिलाफ होने वाली हिंसात्मक घटनाओं पर रोक लगाने की दिशा में कदम उठाना है. यह कार्यक्रम 31 अक्टूबर से एक नवंबर तक है.

स्मरणीय तथ्य

•    एक अनुमान के मुताबिक विश्व में कम से कम एक अरब बच्चे हर साल किसी न किसी रूप में हिंसा का सामना कर रहे हैं और एशिया में पिछले वर्ष 50 फीसदी बच्चों को हिंसात्मक घटनाओं का सामना करना पड़ा था.

•    अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने वर्ष 2030 तक बच्चों के खिलाफ हिंसा को रोकने की प्रतिबद्धता जताई है.

•    यह सतत विकास के उद्देश्यों को हासिल करने की दिशा में एक प्राथमिकता तय की गई है.

•    इसे हासिल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की दस एजेंसियों ने मिलकर काम करने पर सहमति जताई है.

•    रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक स्तर पर, 15 से 19 (84 मिलियन) आयु वर्ग की प्रत्येक तीसरी लड़की को अपने पति या साथी द्वारा भावनात्मक, शारीरिक अथवा यौन हिंसा का शिकार होना पड़ता है.

 

क्या है INSPIRE ?

यह (INSPIRE) एक सात सूत्रीय कार्यक्रम है जिसमें निम्नलिखित सूत्र शामिल किए गये हैं:

Implementation and enforcement of laws: कानूनों का नियमित कार्यान्वयन और प्रवर्तन

Norms and Values: मानदंड और मूल्य

Safe environments:  सुरक्षित वातावरण

Parent and caregiver support: अभिभावक और देखभाल करने वाले का समर्थन

Income and economic strengthening: आय और आर्थिक मजबूती

Response and support services: प्रतिक्रिया और देखभाल करने वाली सेवाएं

Education and life skills: शिक्षा और जीवन कौशल

 



यूनिसेफ के बारे में

 


यूनिसेफ की स्थापना 11 दिसम्बर साल 1946 में संयुक्त राष्ट्र के द्वारा न्यूयार्क में की गई थी. यूनीसेफ विश्वभर में मौजूद स्वास्थ्य सेवा संस्थानों विशेषकरविश्व स्वास्थ्य संगठन आदि के साथ मिलकर बच्चों को पानी, स्वच्छता, बीमारियों आदि से बचने के लिए कार्यक्रम चलाती है.

यूनिसेफ पूरे विश्व में मौजूद बच्चों के कल्याण हेतु कार्य करने के दौरान किसी भी तरह के जाति, धर्म, राष्ट्रीयता, राजनीतक विचारधारा आदि आधारों पर भेदभाव नहीं करता. यूनिसेफ प्रत्येक वर्ष दुनिया भर में नवजात बच्चों के टीकाकरण के लिए लगभग 3 बिलियन से अधिक टीके उपलब्ध कराता है.


यह भी पढ़ें: अक्टूबर 2018 के 30 महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स घटनाक्रम

 

यह भी पढ़ें: डब्ल्यूडब्ल्यूएफ ने लिविंग प्लैनेट रिपोर्ट 2018 जारी की

 

Related Categories

Popular

View More