Next

टॉप-10 साप्ताहिक करेंट अफेयर्स घटनाक्रम: 23 नवंबर से 28 नवंबर 2020

जागरण जोश पूरे सप्ताह से चुनिंदा एवं महत्वपूर्ण टॉप-10 साप्ताहिक करेंट अफेयर्स घटनाक्रम प्रस्तुत कर रहा है. इसमें मुख्य रूप से –अंतरराष्ट्रीय उड़ान और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं. 

1.DGCA का बड़ा निर्देश, 31 दिसंबर तक जारी रहेगा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध

देश में 31 दिसंबर तक न कोई कॉमर्शियल अंतरराष्ट्रीय उड़ान भारत से बाहर जाएगी और न ही दूसरे देश से आ सकती है. हालांकि, इस दौरान वंदे भारत मिशन के तहत जाने वाली खास उड़ानें जारी रहेंगी. इससे पहले डीजीसीए ने अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट पर रोक 30 नवंबर तक बढ़ाने का आदेश दिया था.

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत ने 23 मार्च से 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया था. 7 मई से वंदे भारत मिशन की शुरुआत किए जाने के बाद से 29 अक्टूबर तक 20 लाख से ज्यादा भारतीय दूसरे देशों से वापस आए हैं.

 

2.भारत और फिनलैंड ने पर्यावरण संरक्षण हेतु किए एमओयू पर हस्ताक्षर

यह एमओयू भारतीय और फिनलैंड के बीच साझेदारी और समर्थन को आगे बढ़ाने का एक मंच है. इस एमओयू के तहत वायु और जल प्रदूषण की रोकथाम जैसे क्षेत्रों में एक दूसरे का सहयोग शामिल है. इसी क्रम में भारत और फिनलैंड ने पर्यावरण संरक्षण और जैव विविधता संरक्षण के क्षेत्र में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया.

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने बताया कि एमओयू, भारतीय और फिनलैंड के बीच साझेदारी और समर्थन को आगे बढ़ाने का एक मंच है. इसके माध्यम से दोनों देश वायु और जल प्रदूषण की रोकथाम जैसे क्षेत्रों में उच्च साधनों और रणनीति का आदन प्रदान करेंगे.

 

3.प्रधानमंत्री मोदी का 80वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन के समापन सत्र में संबोधन भाषण

इस अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन का उद्घाटन भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने किया था. इस सम्मेलन में उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू, गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी भी शामिल हुए थे.

यह सम्मेलन सबसे पहले, वर्ष 1921 में शुरू हुआ और इस सम्मेलन का शताब्दी वर्ष सत्र गुजरात में आयोजित किया जा रहा है. 25 नवंबर को शुरू हुए इस आयोजन में, विभिन्न सत्रों के दौरान संवैधानिक संशोधनों पर चर्चा, जनहित याचिका की समीक्षा और अन्य विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई.

 

4.नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए इजरायली प्रधानमंत्री और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस का नामांकन

इजरायल के प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, 25 नवंबर, 2020 को नोबेल शांति पुरस्कार विजेता, लॉर्ड डेविड ट्रिम्बल ने नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस की उम्मीदवारी प्रस्तुत की. उत्तरी आयरलैंड के पूर्व मंत्री लॉर्ड डेविड ट्रिम्बल ने वर्ष 1998 में नोबेल शांति पुरस्कार जीता था.

बहरीन के विदेश मंत्री, इज़राइली प्रधानमंत्री, अब्राहम समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद, राष्ट्रपति ट्रम्प और क्राउन प्रिंस नाहयान द्वारा अन्य अरब और मुस्लिम राष्ट्रों से संयुक्त अरब अमीरात के नेतृत्व का अनुसरण करने का आह्वान किया गया. यह शांति समझौता इजरायल, यूएई और बहरीन के बीच किया गया है.

 

5.विश्व प्रसिद्द फुटबॉल खिलाड़ी डिएगो माराडोना का 60 साल की उम्र में कार्डिएक अरेस्ट के कारण हुआ निधन

उनके जन्मदिन मनाने के कुछ दिनों बाद, नवंबर 2020 की शुरुआत में माराडोना को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वे कई दिन से थकावट और कमजोरी महसूस कर रहे थे. उनके परीक्षणों से यह पता चला था कि उनके मस्तिष्क में रक्त का थक्का (ब्लड क्लॉटिंग) बन गया था.

स्टार फुटबॉलर डिएगो माराडोना का जन्म 30 अक्टूबर, 1960 को हुआ था और उन्होंने अपने पेशेवर करियर की शुरुआत 16 साल की उम्र में अर्जेंटीना जूनियर्स के साथ की थी और कुछ ही वर्षों में वे फुटबॉल खेलने वाले विश्व के सबसे महान खिलाड़ी बन गए. डिएगो अरमांडो माराडोना अर्जेंटीना के सबसे प्रसिद्द प्रोफेशनल फूटबल प्लेयर और मेनेजर थे.

 

6.यूपी कैबिनेट ने जबरन धर्मांतरण के खिलाफ अध्यादेश किया पारित, दोषी जा सकते हैं जेल भी  

यह अध्यादेश धर्मांतरण को एक गैर-जमानती अपराध बनाता है जिसके लिए 01 से 10 साल के कारावास और 15,000 रुपये से लेकर 50,000 रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है. यह अध्यादेश धर्मांतरण के लिए हुए विवाह को भी निरर्थक और अमान्य घोषित कर देगा.

उत्तर प्रदेश में विवाह के बहाने जबरन धर्म परिवर्तन के मामलों में वृद्धि के कारण इस अध्यादेश की आवश्यकता थी. ये सभी धर्मांतरण बल, छल, गलत बयानी, अनुचित प्रभाव, जबरदस्ती, प्रलोभन या अन्य धोखाधड़ी के माध्यम से किए गए थे. इस अध्यादेश में जबरन धर्म परिवर्तन के किसी मामले में, 01-05 साल तक जेल की सजा और 15,000 रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है.

 

7.केरल सरकार ने अपमानजनक सामग्री को दंडनीय बनाने वाले अध्यादेश को स्थगित किया: धारा 118A के बारे में पढ़ें यहां

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने, एक नया खंड डालने के लिए केरल पुलिस अधिनियम में संशोधन करने वाले विवादास्पद अध्यादेश को मंजूरी देने के एक दिन बाद यह फैसला लिया है. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने यह कहा कि, हाल ही में केरल पुलिस अधिनियम, 2011 में किए गए संशोधनों के बारे में कई लोगों ने आशंकाएं जताई थीं.

केरल के मुख्यमंत्री द्वारा, CPI (M) राज्य सचिवालय और वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF) पार्टी के सदस्यों के साथ चर्चा करने के बाद, केरल सरकार ने इस अध्यादेश को स्थगित करने का फैसला लिया है.

 

8.भारत और मेडागास्कर ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए कई समझौते पर किये हस्ताक्षर

भारत और मेडागास्कर के बीच आपसी संबंध और मजबूत बन रहे हैं जबकि, 23 नवंबर, 2020 को भारतीय राजदूत अभय कुमार ने, मेडागास्कर के विदेश मंत्री, तेहिंद्राजनरिवेलो जाकोबा लिवा से मुलाकात की और फिर, इन दोनों अधिकारियों ने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों का जायजा लिया.

मेडागास्कर का भारत के साथ, विशेषकर गुजरात से, एक मजबूत मित्रतापूर्ण रिश्ता है और 20,000 से अधिक भारतीय मेडागास्कर के व्यापार और अर्थव्यवस्था में अपनी प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं. विशेष रूप से फरवरी, 2011 में इन दोनों देशों के बीच संबंधों को, कई उच्च-स्तरीय अधिकारियों के आवागमन के दौरों के साथ सामान्य माना जाता था.

 

9.अमेरिका ओपन स्काईज संधि से पीछे हटा: इस बारे में सारी महत्त्वपूर्ण जानकारी पढ़ें यहां!

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने 22 नवंबर, 2020 को सूचित किया है कि, अमेरिका द्वारा ओपन स्काइज संधि से पीछे हटने के फैसले के बारे में, इस संधि के सदस्य देशों को सूचित किए हुए अबतक, छह महीने से अधिक समय बीत चुका है.

इस संधि के तहत, सभी सदस्य देश हवाई निगरानी के माध्यम से एक-दूसरे की सेनाओं का निरीक्षण कर सकते हैं. इस संधि में शामिल सभी सदस्य देशों को अन्य सभी सदस्य देशों के पूरे क्षेत्र में उड़ान भरने की अनुमति मिलती है.

 

10.असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन

कोरोना संक्रमित 84 वर्षीय कांग्रेस नेता का इलाज गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा था. गोगोई के निधन पर पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने शोक जताया है. असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल तरुण गोगोई के खराब स्वास्थ्य को देखते हुए डिब्रूगढ़ के सभी कार्यक्रम रद कर गुवाहाटी लौट आए थे.

गोगोई साल 2001 से साल 2016 तक असम के मुख्यमंत्री रहे. गोगोई ने कांग्रेस को लगातार तीन विधानसभा चुनावों में जीत दिलाई. सबसे लंबे समय तक असम का मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है. गोगोई का जन्म 01 अप्रैल 1936 को हुआ था.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now