टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 01 जून 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 01 जून 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विश्व दुग्ध दिवस और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

World Milk Day 2020: जानें क्यों मनाते हैं विश्व दुग्ध दिवस

विश्वभर में दूध से पोषित हो रहे लोगों और इससे चलने वाली आजीविका के कारण इस दिन को विशेष महत्व दिया जाता है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य दुनियाभर में दूध को वैश्विक भोजन के रूप में मान्यता देना है. दूध और दूध से बने पदार्थों के फायदे और इनकी खासियत बताने हेतु इस दिन को शुरू किया गया था.

विश्व दुग्ध दिवस का उद्देश्य मानव जीवन में दूध और दुग्ध उत्पादों के महत्व के बारे में लोगों में जागरुक करना है. दूध से आपकी सेहत को मिलने वाले फायदों के बारे में आम जनता की जागरुकता बढ़ाने के लिये विश्व दुग्ध दिवस मनाया जाता है. प्रथम विश्व दुग्ध दिवस 01 जून 2001 को मनाया गया था.

 

अमेरिका ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ संबंध समाप्त किये

अमेरिकी राष्ट्रपति ने हाल ही में एक लाइव भाषण में चीन पर आरोप लगाया कि, अमेरिका के लगभग 450 मिलियन डालर की तुलना में, चीन द्वारा प्रत्येक वर्ष WHO को केवल 40 मिलियन अमेरिकी डॉलर का भुगतान करने के बावजूद चीन का इस संगठन पर पूरा नियंत्रण है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने यह भी दावा किया है कि चीन के वुहान वायरस के कवर-अप से यह बीमारी दुनिया भर में एक वैश्विक महामारी के तौर पर फ़ैल गई और जिसने वैश्विक स्तर पर एक मिलियन से अधिक लोगों की जान ले ली है. उन्होंने यह भी कहा कि चीनी अधिकारियों ने WHO को इस बारे में सही समय पर रिपोर्ट करने के अपने रिपोर्टिंग दायित्वों की अनदेखी की है.

 

केंद्र सरकार ने छोटे उद्योगों को लाभ पहुंचाने हेतु 'मुद्रा शिशु ऋण' शुरू करने की घोषणा की

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना (COVID-19) महामारी के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ के पैकेज की दूसरी किश्त की घोषणा करते हुए ‘मुद्रा शिशु ऋण’ की घोषणा की थी. वित्त मंत्री ने कहा था कि कोरोना लॉकडाउन के कारण मुद्रा योजना के तहत आने वाले छोटे व्यवसाई सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

मुद्रा योजना के तहत 50 हजार से 10 लाख तक का लोन मिल जाता है. इसमें 3 तरह के लोन होते हैं. शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक का लोन मिलता है. किशोर लोन के तहत 50 हजार से 5 लाख रुपये तक का लोन और तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है.

 

मशहूर संगीतकार वाजिद खान का निधन, बॉलीवुड में शोक की लहर

मीडिय रिपोर्ट के मुताबिक, वाजिद खान को कोरोना संक्रमण और किडनी की बीमारी थी. साजिद और वाजिद की जोड़ी फिल्म इंडस्ट्री में काफी मशहूर थी. किडनी के इलाज के दौरान उनका टेस्ट किया गया तो उनकी रिपोर्ट में कोरोना (Coronavirus)  पॉजिटिव आया था. वह एक हफ्ते से कोरोना पॉजिटिव थे.

साजिद-वाजिद ने सबसे पहले साल 1998 में सलमान खान की फिल्म 'प्यार किया तो डरना क्या' के लिए संगीत दिया था. उन्होंने साल 1999 में, सोनू निगम की एल्बम 'दीवाना' के लिए संगीत दिया, जिसमें "दीवाना तेरा", "अब मुझसे रात दिन" और "इस कदर प्यार है" जैसे गाने शामिल थे.

 

 

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x