टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 06 अगस्त 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 06 अगस्त 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

केंद्र सरकार ने सेबी चेयरमैन अजय त्यागी को 18 महीने का सेवा विस्तार दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने त्यागी का कार्यकाल 18 महीने के लिये बढ़ाने का मंजूरी दे दी. केंद्र सरकार ने इससे पहले त्यागी के कार्यकाल को इस साल फरवरी में छह महीने के लिए तब बढ़ाया था, जब उनका पहला तीन साल का कार्यकाल खत्म होने के करीब था.

अजय त्यागी हिमाचल प्रदेश कैडर के 1984 बैच के आईएएस अधिकारी (सेवानिवृत्त) हैं. उन्हें तीन साल के लिये मार्च 2017 में सेबी चेयरमैन नियुक्त किया गया था. उन्हें मार्च 2020 में छह महीने अगस्त तक के लिये सेवा विस्तार दिया गया था. अजय त्यागी 01 मार्च 2017 में सेबी के चेयरमैन बने थे.

 

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल नियुक्त

मनोज सिन्हा को गिरीश चंद्र मुर्मू की जगह जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल का दायित्व सौंपा गया है. गिरीश चंद्र मुर्मू ने अचानक से 05 अगस्त 2020 को इस्तीफ़ा दे दिया था. राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफ़ा मंज़ूर कर लिया है. गिरीश चंद्र मुर्मू को पिछले वर्ष 29 अक्टूबर को राज्यपाल सत्यपाल मलिक को गोवा भेजे जाने के बाद जम्मू-कश्मीर का उपराज्यपाल बनाया गया था.

मनोज सिन्हा पूर्व में गाजीपुर से सांसद रहे हैं और पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के बड़े चेहरे हैं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में मनोज सिन्हा मंत्री रह चुके हैं और उनके पास रेलवे के राज्यमंत्री और संचार राज्यमंत्री का कार्यभार था.

 

नोबेल पुरस्कार विजेता जॉन ह्यूम का निधन

तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने आयरलैंड के नेता और नोबेल पुरस्कार विजेता जॉन ह्यूम के निधन पर शोक व्यक्त किया. दलाई लामा ने कहा कि ह्यूम की संघर्ष को सुलझाने के लिए शांति और अंहिसा के प्रति प्रतिबद्धता थी. जॉन ह्यूम का जन्म 18 जनवरी 1937 को उत्तरी आयरलैंड के लंदनडेरी शहर में हुआ था.

जॉन ह्यूम अपने देश उत्तरी आयरलैंड में विद्रोहियों के साथ समझौता कराने में अहम भूमिका के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. इस समझौते की वजह से उत्तरी आयरलैंड में हिंसा खत्म हुई. जॉन ह्यूम को साल 1998 में नोबेल पुरस्कार प्राप्त हुआ और वे कई सालों से डिमेंशिया से पीड़ित थे.

 

RBI ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में नहीं किया कोई बदलाव

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि इस बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया जा रहा है. गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि रेपो रेट को 4 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट को 3.3 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है. रेपो रेट को चार प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है.

आरबीआई बैंकों को जिस रेट पर कर्ज देता है उसे रेपो रेट कहते है. इसी आधार पर बैंक भी ग्राहकों को कर्ज मुहैया कराते हैं. रेपो रेट कम होने से बैंकों को बड़ी राहत मिलती है. बैंक भी इसके बाद कर्ज को कम ब्‍याज दर पर ग्राहकों तक पहुंचा सकते हैं. आरबीआई पहले ही फरवरी से लेकर अब तक रेपो रेट में 1.15 प्रतिशत की कटौती कर चुका है.

Related Categories

Also Read +
x