टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 10 जुलाई 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 10 जुलाई 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को होगी ऑनलाइन बैठक, जानें विस्तार से

इस प्रभावशाली समूह के अधिकारियों ने 09 जुलाई 2020 को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिखर बैठक में यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल और यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन के साथ विभिन्न मुद्दों पर व्यापक वार्ता करेंगे.

यूरोपीय संघ के अधिकारियों ने बताया कि शिखर सम्मेलन में साझा सिद्धांतों और कानून के शासन, स्वतंत्रता और लोकतंत्र के मूल्यों के आधार पर रणनीतिक संबंधों को मजबूत बनाने पर जोर दिया जाएगा. इस दौरान यूरोपीय संघ और भारत के लोगों को ठोस लाभ पहुंचाने पर जोर दिया जाएगा.

 

कैबिनेट ने नवंबर 2020 तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना बढ़ाई

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई योजना के तहत अगले पांच महीनों के लिए 81 करोड़ लोगों के बीच 203 लाख टन अनाज वितरित किया जाएगा. इस योजना को आगे बढ़ाने की घोषणा 30 जून, 2020 को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा की गई थी.

जरूरतमंद और गरीबों को निरंतर सहायता की आवश्यकता के मद्देनजर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार के लिए यह मंजूरी दी गई है. पिछले तीन महीनों में अनाज के वितरण के लिए 120 लाख टन अनाज का उपयोग किया गया था.

 

उत्तर प्रदेश की स्टार्टअप नीति 2020 को राज्य कैबिनेट ने दी मंजूरी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य मंत्रिमंडल की बैठक की अध्यक्षता की और उक्त नीति पर मंजूरी की मुहर लगा दी. इसका उद्देश्य राज्य के सभी 75 जिलों में 100 इन्क्यूबेटरों की स्थापना करना है. इस नीति से 50,000 प्रत्यक्ष रोजगार सहित 1,50,000 रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है.

अब तक, उत्तर प्रदेश में स्टार्टअप्स को उत्तर प्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी और स्टार्टअप नीति 2017 के तहत संचालित किया जा रहा था, जोकि मुख्य रूप से आईटी सेक्टर पर केंद्रित थी. केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों के साथ यहां के 1800 से अधिक स्टार्टअप उद्यम पंजीकृत थे.

 

प्रधानमंत्री मोदी ने एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट का लोकार्पण किया

मध्यप्रदेश के रीवा जिले में एशिया का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 750 मेगावाट के अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा संयंत्र को राष्ट्र को समर्पित किया. इस सोलर प्लांट से मध्य प्रदेश के लोगों को, उद्योगों को तो बिजली मिलेगी ही, दिल्ली में मेट्रो रेल तक को इसका लाभ मिलेगा.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व कई केंद्रीय मंत्री भी इस इवेंट में शामिल हुए. इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश के सामर्थ्य पर विश्वास जताया और कहा कि यह विश्व की सुरक्षा का नींव है जो रीवा में रखा गया है क्योंकि पर्यावरण की स्वच्छता में इसका अहम योगदान होगा.

 

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x