टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 15 अक्टूबर 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 15 अक्टूबर 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस और सुपर ओवर आदि शामिल हैं.

अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस का उद्देश्य कृषि विकास, ग्रामीण विकास, खाद्य सुरक्षा तथा ग्रामीण गरीबी उन्मूलन में ग्रामीण महिलाओं के महत्व के प्रति लोगों को जागरूक करना हैं. इसका अन्य मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका तथा उनके योगदान को सम्मानित करना भी है.

पहला अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस 15 अक्टूबर 2008 को मनाया गया था. संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इस दिवस को मनाकर ग्रामीण महिलाओं की भूमिका को सम्मानित करने का संकल्प लिया था. ग्रामीण महिलाएं विकसित तथा विकासशील देशों की ग्रामीण अर्थव्यवस्था के विकास में बहुत ही अहम भूमिका निभाती हैं.

ICC ने सुपर ओवर के नियम में बड़ा बदलाव किया, बाउंड्री काउंट नियम को किया खत्म

ICC ने टाई हुए मैच में ‘बाउंड्री काउंट’ नियम से टीम को विजेता घोषित करने वाले नियम को हटा लिया है. इस नियम को आईसीसी ने खत्म करने के बाद तय किया है कि यदि अब कोई मैच टाई होता है तो उसका परिणाम सुपर ओवर के तहत ही निकाला जायेगा और ये सुपर ओवर तब तक खेला जायेगा, जब तक कोई टीम दूसरे टीम से ज्यादा रन नहीं बना लेती.

आईसीसी ने साल 2009 के बाद हरेक एक टाई मैच का फैसला सुपर ओवर से निकालने का नियम बनाया था. आईसीसी के नियम के मुताबिक, यदि किसी नॉकआउट मैच में स्कोर टाई होने के बाद सुपर ओवर में भी दोनों टीमें बराबर स्कोर करती हैं तो फैसला ‘बाउंड्री काउंट’ नियम से होता था.

जिम्बाब्वे और नेपाल को फिर मिली ICC सदस्यता

आईसीसी की सदस्यता जिम्बाब्वे और नेपाल को बहाल कर दिया गया है. जिम्बाब्वे एवं नेपाल को जुलाई 2019 में बोर्ड के कामकाज में सरकारी हस्तक्षेप के वजह से सदस्यता निलंबित कर दिया गया था. जनवरी 2020 में जिम्बाब्वे अब आईसीसी पुरुष अंडर-19 विश्व कप और साल 2020 के आखिर में आईसीसी सुपर लीग में भाग ले पायेगा.

इसके अतिरिक्त आईसीसी ने आईसीसी महिला प्रतियोगिताओं की पुरस्कार राशि 26 लाख डॉलर तक बढ़ाने का घोषणा किया है. ऑस्ट्रेलिया में साल 2020 होने वाले आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के विजेता को अब दस लाख डॉलर और उप विजेता को पांच लाख डॉलर की राशि मिलेगी.

एपीजे अब्दुल कलाम की 88वीं जयंती: जाने उनके जीवन से जुड़ी 10 मुख्य बातें

15 अक्टूबर को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती पूरे भारत में मनाई जाती है. अब्दुल कलाम ने साल 1962 में इसरो से जुड़ने के बाद सफलतापूर्वक कई उपग्रह प्रक्षेपण परियोजनाओं में अपनी अहम भूमिका निभाई. वे ‘मिसाइल मैन’ के नाम से भी प्रसिद्ध है.

उन्होंने अपना पूरा जीवन शिक्षा और विज्ञान के क्षेत्र को समर्पित कर दिया था. उन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक के रूप में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में काम किया था. उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था.

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Related Categories

Popular

View More