टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 18 नवंबर 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 18 नवंबर 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-भारतीय मुक्केबाज सरिता देवी और न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे आदि शामिल हैं.

भारतीय मुक्केबाज सरिता देवी एआईबीए की पहली एथलीट आयोग में चुनी गईं

भारतीय मुक्केबाज सरिता देवी एशियाई संघ का प्रतिनिधित्व करेंगी. इस आयोग में पांच क्षेत्रीय संघों एशिया, ओसनिया, यूरोप, अमेरिका तथा यूरोप से एक महिला और एक पुरुष मुक्केबाज को चुना गया है. भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने विश्व संस्था में इस पद हेतु उनका नाम चुना था.

एथलीट आयोग उन सुधारों का भाग हैं जिनकी अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने एआईबीए हेतु सिफारिश की थी. यह फैसला एआईबीए में प्रशासनिक और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के वजह से लिया गया है.

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे सत्रह महीने तक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश पद पर रहेंगे तथा 23 अप्रैल 2021 को सेवानिवृत्त होंगे. न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे महाराष्ट्र के एक विख्यात वकीलों के परिवार से आते हैं.

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे का जन्म 24 अप्रैल 1956 को महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था. वे मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस भी रहे थे. उन्हें अप्रैल 2013 में सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लद्दाख क्षेत्र हेतु विंटर ग्रेड डीजल लॉन्च किया

लद्दाख में तापमान की गिरावट के साथ सर्दियों में सामान्य डीजल जम जाता है. इस डीजल के जमने से गाड़ियों को चलाने में बहुत परेशानी होती है. इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने इसे ध्यान में रखते हुए विशेष विंटर ग्रेड डीजल का उत्पादन शुरू किया.

इस विंटर ग्रेड डीजल से अत्यधिक ठंड के समय पर्यटकों को यात्रा के दौरान आसानी होगी. इस विंटर ग्रेड डीजल से क्षेत्र के लोगों की जरूरतों को पूरा करने के साथ-साथ पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा. यह डीजल -33 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भी नहीं जमता है.

गोतबया राजपक्षे श्रीलंका के राष्ट्रपति बने, जानें भारत पर क्या पड़ेगा असर

बहुसंख्यक सिंहली बौद्ध उन्हें 'युद्ध नायक' मानते हैं, जबकि बहुसंख्यक तमिल अल्पसंख्यक उन्हें अविश्वास से देखते हैं. वे श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति तथा मौजूदा विपक्ष के नेता महिंदा राजपक्षे के छोटे भाई है. गोतबया राजपक्षे का जन्म 20 जून 1949 को श्रीलंका में हुआ था.

गोतबया राजपक्षे ने साल 1983 में मद्रास विश्वविद्यालय से रक्षा अध्ययन में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की. जब श्रीलंका ने साल 2009 में लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के साथ अपना युद्ध समाप्त किया था तब वे रक्षा विभाग के प्रमुख रहे थे.

 

Related Categories

Popular

View More