टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 18 सितंबर 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 18 सितंबर 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-दिनेश मोंगिया और अस्त्र मिसाइल का सफल परीक्षण आदि शामिल हैं.

अमेरिकी सांसदों ने ट्रंप प्रशासन से भारत को फिर से GSP में शामिल करने का आग्रह किया

सांसदों ने कहा की इससे दोनों देशों के मध्य व्यापारिक समझौते करने में आसानी होगी. भारत को इससे पहले जीएसपी के अंतर्गत अमेरिका के साथ कारोबार में विशेष लाभार्थी का दर्जा प्राप्त था. अमेरिका ने जून 2019 में भारत को जीएसपी व्‍यवस्‍था से बाहर कर दिया था.

अमेरिकी सांसदों ने कहा की भविष्य को ध्यान में रखते हुए हमें अपने उद्योगों हेतु बाजारों की उपलब्धता सुनिश्चित करानी होगी. इस पर छोटे-मोटे मामलों के कारण से असर नहीं पड़ना चाहिए. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 सितंबर 2019 को ह्यूस्टन में भारतीय समुदाय की एक रैली को संबोधित करेंगे.

दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की

दिनेश मोंगिया ने आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के लगभग 12 साल बाद क्रिकेट के सभी प्रारुपों को अलविदा कह दिया है. गांगुली की कप्तानी में साल 2003 विश्व कप के दौरान दिनेश मोंगिया भारतीय टीम का हिस्सा थे. दिनेश मोंगिया ने साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध अपना डेब्यू किया था.

साल 2007 में दिनेश मोंगिया ने आखिरी बार क्रिकेट पंजाब की ओर से खेला था, लेकिन बीसीसीआई ने इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) में खेलने के कारण से उनपर बैन लगा दिया था. उन्होंने अपने करियर में 57 वनडे तथा एक टी-20 मैच खेला था.

मोती बाग: भारतीय किसान के जीवन पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ऑस्कर के लिए नामित

यह फिल्म निर्मल चंद्र डंडरियाल द्वारा निर्देशित है. यह फिल्म, विद्यादत्त शर्मा नामक एक किसान के जीवन पर आधारित है. मोती बाग एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म है. यह फिल्म दर्शाता है कि 83 वर्षीय विद्यादत्त शर्मा अपने खेत को जीवित रखने तथा निर्जन पहाड़ी भूमि तक कैसे संघर्ष करते हैं.

इस फिल्म में यह भी दिखाया गया है कि पलायन की मार झेल रहे पहाड़ों मे दृढ़ इच्छा शक्ति से हरियाली लौटाई जा सकती है. केरल मे आयोजित अंतरराष्ट्रीय शार्ट फिल्म समारोह में डाक्यूमेंट्री फिल्म ‘मोतीबाग’ को प्रथम पुरस्कार मिल चुका है.

भारत ने हवा से हवा में मार करने वाली अस्त्र मिसाइल का सफल परीक्षण किया

अस्त्र मिसाइल का परीक्षण सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान से किया गया था. इस मिसाइल ने पश्चिम बंगाल में एक हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी. इस मिसाइल का परीक्षण ओड़िशा के तट पर किया गया है. यह मिसाइल परीक्षण के दौरान अपने निशाने पर सटीक वार किया. अस्त्र मिसाइल पूरी तरह से देश में बनी है.

यह मिसाइल अपनी श्रेणी की हथियार प्रणालियों में सबसे अच्छा है. अभी तक इस मिसाइल के कई परीक्षण किए जा चुके हैं. यह मिसाइल दुश्मन विमानों को 70 किलोमीटर दूर से ही मार गिराने की क्षमता रखती है. यह मिसाइल हवा में उड़ रहे किसी भी भी लक्ष्य को पूरी तरह से बर्बाद कर सकती है.

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

 

 

Related Categories

Popular

View More