टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 21 सितम्बर 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 21 सितम्बर 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

DCGI ने कम लागत के कोविड -19 परीक्षण 'फेलुदा' के वाणिज्यिक शुभारंभ को दी मंजूरी

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के दिशानिर्देशों के अनुसार, इस परीक्षण में 96% संवेदनशीलता और कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए 98% विशिष्टता के साथ उच्च गुणवत्ता वाले बेंचमार्क मिले हैं. यह खबर वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) द्वारा साझा की गई थी.

टाटा समूह ने इस उच्च गुणवत्ता वाले परीक्षण को बनाने के लिए ICMR और CSIR-IGIB के साथ मिलकर काम किया था, जोकि 'मेड इन इंडिया' परीक्षण के साथ राष्ट्र को जल्द ही और आर्थिक रूप से सस्ते, विश्वसनीय, सुरक्षित और सुलभ कोविड ​​-19 परीक्षण को सफल बनाने में मदद करेगा.

 

प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार में 9 राजमार्ग परियोजना का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री ने बिहार में कनेक्टिविटी को बढ़ाने वाली 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया है. इन परियोजनाओं में हाइवे को 4 लेन और 6 लेन का बनाने और नदियों पर 3 बड़े पुलों के निर्माण का काम शामिल है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के गांवों में इंटरनेट उपयोग करने वालों की संख्या शहरों से ज्यादा हो जाएगी, ये कुछ वर्षों तक सोचना मुश्किल था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विगत दो सप्ताह से बिहार के विकास के लिए अनेक नई नई जनकल्याणकारी योजनाएं शुरू कर रहे हैं. विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को सौगात मिलने का सिलसिला जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बिहार को करीब 14 हजार करोड़ रुपये की सौगात दी.

 

भारत बंदरगाहों पर पड़ा प्याज बांग्लादेश सहित अन्य देशों को भी निर्यात करेगा

भारत ने इस 14 सितंबर, 2020 को तत्काल प्रभाव से कटे हुए या पाउडर के रूप में तैयार प्याज के सिवाय, प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था. प्याज के निर्यात पर यह प्रतिबंध, घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों को कम करने के लिए लगाया गया था.

प्याज के निर्यात पर यह प्रतिबंध लगाने के भारत के इस कदम के परिणामस्वरूप, बांग्लादेश में प्याज की कीमतों में वृद्धि हुई. इसके परिणामस्वरूप, पश्चिम बंगाल में विभिन्न बंदरगाहों और भूमि सीमाओं पर बांग्लादेश में प्याज लेकर जाने वाले सैकड़ों ट्रक फंसे हुए थे.

 

पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ ली

राज्यसभा के सभापति एम नायडू ने कहा कि इस सदन की अच्छी परंपरा रही है और पूर्व प्रधानमंत्री तथा देश के वरिष्ठतम नेता इस सदन के सदस्य बने हैं. विभिन्न दलों के सदस्यों ने भी देवगौड़ा का सदन में स्वागत किया. एचडी गौड़ा को 13 जून को कर्नाटक से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुना गया.

एचडी गौड़ा ने साल 1994 से साल 1996 तक कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया. वे साल 1996 के आम चुनावों के बाद संयुक्त मोर्चा सरकार का नेतृत्व करने वाले देश के 11वें प्रधानमंत्री बने. एचडी देवगौड़ा का जन्म 18 मई 1933 में कर्नाटक के हासन जिले के हरदनहल्ली गांव में हुआ था.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now