टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 24 जनवरी 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 24 जनवरी 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और राष्ट्रीय बालिका दिवस आदि शामिल हैं.  

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने ब्रेक्जिट बिल को दी मंजूरी, 31 जनवरी को EU से अलग हो जाएगा ब्रिटेन

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने हाल ही में ब्रिटिश सरकार के ब्रेक्जिट कानून को मंजूरी दे दी है. इसके साथ ही 31 जनवरी को ब्रिटेन यूरोपीय संघ (EU) से बाहर निकल जायेगा. इसके साथ ही ब्रेक्जिट विधेयक अब कानून बनने के लिए तैयार है.

ब्रिटेन संसद का निचला सदन सदन हाउस ऑफ कॉमंस 09 जनवरी 2020 को ईयू से निकलने से संबंधित ब्रेग्जिट विधेयक पर अपनी मुहर लगा चुका था. यूरोपीय संघ (ईयू) 28 देशों का शक्तिशाली समूह है. इस समूह में फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन जैसे देश आर्थिक और राजनीतिक रूप से जुडे़ हुए हैं.

आईसीजे का अहम फैसला: रोहिंग्या मुसलमानों की सुरक्षा हेतु तत्काल कदम उठाए म्यांमार

कोर्ट ने हाल ही में म्यांमार सरकार से कहा है कि वे रोहिंग्या समुदाय को सैनिको के अमानवीय जुल्म से बचाने तथा जबरन अपना घर छोड़ने हेतु मजबूर किए जाने जैसी घटनाओं को तुरंत रोके. यह आदेश अंतरराष्ट्रीय अदालत का अफ्रीकी देश गांबिया की याचिका पर आया है.

कोर्ट द्वारा दिये गए आदेश में कहा गया कि म्यांमार सरकार रोहिंग्या समुदाय की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाए. गांबिया के कानूनी विशेषज्ञों ने आईसीजे में यह मामला नवंबर 2019 में रखा था तथा कोर्ट से दखल देने की अपील की थी.

National Girl Child Day 2020: राष्ट्रीय बालिका दिवस क्यों मनाया जाता है?

राष्ट्रीय बालिका दिवस का उद्देश्य लड़कियों के साथ होने वाले भेदभाव को लेकर लोगों को जागरूक करना है. राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने के पीछे भारत सरकार का यह कदम युवा लड़कियों के महत्व को बढ़ावा देना है. भारत में प्रत्येक साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है.

राष्ट्रीय बालिका दिवस समाज में लड़कियों की स्थिति में सुधार लाने हेतु मनाया जाता है. इस दिवस के तहत ढेरों कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इस दिवस की शुरुआत साल 2008 में महिला और बाल विकास मंत्रालय और भारत सरकार द्वारा की गई थी.

केंद्र सरकार ने सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार 2020 के विजेताओं की घोषणा की

उत्तराखंड (संस्था श्रेणी में) और कुमार मुन्नन सिंह (व्यक्तिगत श्रेणी) को आपदा प्रबंधन में उनके सराहनीय कार्य के लिए सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार हेतु चुना गया है. इस पुरस्कार की घोषणा प्रति वर्ष 23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर की जाती है.

सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार के द्वारा उन व्यक्तियों तथा संस्थानों को सम्मानित किया जायेगा जिन्होंने ने आपदा प्रबंधन में देश में बेहतरीन काम किया है. इस पुरस्कार के चयन हेतु दो उच्च स्तरीय समितियों द्वारा नामांकन की घोषणा की गई थी.

वैश्विक प्रतिभा सूचकांक में भारत 72वें स्थान पर, जानिए पहले स्थान पर कौन सा देश

यह वैश्विक प्रतिभा प्रतिस्पर्धा सूचकांक का सातवां संस्करण है. यह सूचकांक विश्व के देशों को उनकी तरक्की करने, प्रतिभाओं को अपने साथ बनाए रखने और आकर्षित करने की उनकी क्षमता के आधार पर तैयार किया जाता है. इसी आधार पर उनकी रैंकिंग की जाती है.

वैश्विक प्रतिभा सूचकांक में शीर्ष दस देशों में सभी विकसित देश ही शामिल हैं. विश्व आर्थिक मंच में जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करने हेतु और भी काम किया जा सकता है.

 

Related Categories

Also Read +
x