टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 25 जून 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 25 जून 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से - अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और इमरजेंसी आदि शामिल हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगाने वाले आदेश पर हस्ताक्षर किए

इन प्रतिबंधों से ईरान के सर्वोच्च नेता और अन्य अधिकारी अमेरिकी क्षेत्र में किसी भी बैंकिंग सुविधा के लाभ नहीं उठा पाएंगे. ईरान ने कहा था कि उसने 20 जून 2019 को क्षेत्र में अमेरिका के एक ड्रोन को मार गिराया गया है जिसके कुछ दिन बाद डोनाल्ड ट्रंप ने नए प्रतिबंध लगाने का कदम उठाया है. डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ओवल दफ्तर में पत्रकारों के साथ संक्षिप्त बातचीत में कहा कि हम ईरान या किसी भी देश के साथ संघर्ष नहीं चाहते हैं.

हाल के दिनों में ईरान और अमेरिका के बीच परमाणु समझौते को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है. अमेरिका ने साल 2018 में ईरान परमाणु समझौते से स्वयं को अलग कर लिया था. अमेरिका ईरान पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का उल्लंघन करने का भी आरोप लगाता रहा है.

44 साल पहले आज के दिन ही लगी थी इमरजेंसी, जानिए किसने क्या कहा?

भारत में 25 जून 1975 की आधी रात को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में इमरजेंसी यानी आपातकाल लगाने की घोषणा की थी. ये दिन भारत के इतिहास में कभी भी ना बदलने वाला दिन बन गया हैं. भारत में 21 माह तक आपातकाल लगा रहा. भारत में 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक आपातकाल था.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने साल 1975 में इंदिरा गांधी को चुनाव में धांधली करने का दोषी पाया था. उसके बाद उन पर 6 सालों तक कोई भी पद संभालने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. इंदिरा गांधी ने कोर्ट के इस फैसले को इंकार कर दिया और फिर सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की घोषणा की.

RBI ने दी आम आदमी को राहत: अब बैंकों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकेंगे

केंद्रीय बैंक की वेबसाइट पर शिकायत प्रबंधन प्रणाली (सीएमएस) की शुरुआत की गई है. आरबीआई का इसके पीछे मकसद समय से शिकायतों को हल कर ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाना है. इस सिस्‍टम के लॉन्‍च होने के बाद बैंक ग्राहक की शिकायत को नजरअंदाज नहीं कर पाएंगे. उन्‍हें हर हाल में शिकायत पर कार्रवाई तय समय में करनी होगी.

किसी भी शिकायत का समाधान तय समय में होगा. आरबीआई इस बात को सु‍निश्चित करेगा कि शिकायत का हल तय समय में निकले और बैंक उस पर कार्रवाई ले. अगर समस्‍या का निवारण तत्‍काल नहीं हुआ तो फिर आरबीआई के नियम के तहत उसमें संबंधित बैंकर या कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई होगी. सीएमएस को लॉन्च करते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि यह एप्लीकेशन पारदर्शिता को और बेहतर बनाती है.

यह भी पढ़ें: मई 2019 के 30 महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स घटनाक्रम

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

Download our Current Affairs& GK app from Play Store

Continue Reading
Advertisement

Related Categories

Popular

View More