Next

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 27 नवंबर 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 27 नवंबर 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से भारतीय रेलवे और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

भारत और फिनलैंड ने पर्यावरण संरक्षण हेतु किए एमओयू पर हस्ताक्षर

भारत और फिनलैंड ने हाल ही में पर्यावरण और जैव विविधता संरक्षण के क्षेत्र में  द्विपक्षीय सहयोग विकसित करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए. यह एमओयू भारतीय और फिनलैंड के बीच साझेदारी और समर्थन को आगे बढ़ाने का एक मंच है.

केंद्र सरकार ने भूविज्ञान और खनिज संसाधनों के क्षेत्र में सहयोग के लिए भारत और फिनलैंड के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) को दो महीने पहले सितंबर 2020 में ही मंजूरी दे दी थी. इसी क्रम में आज दोनों देशों के बीच एमओयू पर सहमति बनी और भारत-फिनलैंड ने एक मंच पर आते हुए एमओयू पर हस्ताक्षर किया.

 

भारतीय रेलवे ने डिजीटल ऑनलाइन एचआर मैनेजमेंट सिस्टम का किया शुभारंभ

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और CEO, विनोद कुमार यादव ने 26 नवंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रेलवे कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए इस प्रणाली का शुभारंभ किया है. यह HRMS प्रणाली भारतीय रेलवे के लिए एक उच्च प्रेरक परियोजना है.

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम (HRMS) सेवारत रेलवे कर्मचारियों के साथ-साथ सेवानिवृत्त हुए लोगों के 27 लाख से अधिक परिवारों को प्रभावित करेगा. यह रेलवे प्रणाली की दक्षता और उत्पादकता में सुधार की सुविधा प्रदान करेगा.

 

DGCA का बड़ा निर्देश, 31 दिसंबर तक जारी रहेगा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध

देश में 31 दिसंबर तक न कोई कॉमर्शियल अंतरराष्ट्रीय उड़ान भारत से बाहर जाएगी और न ही दूसरे देश से आ सकती है. हालांकि, इस दौरान वंदे भारत मिशन के तहत जाने वाली खास उड़ानें जारी रहेंगी. इससे पहले डीजीसीए ने अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट पर रोक 30 नवंबर तक बढ़ाने का आदेश दिया था.

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत ने 23 मार्च से 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया था. 7 मई से वंदे भारत मिशन की शुरुआत किए जाने के बाद से 29 अक्टूबर तक 20 लाख से ज्यादा भारतीय दूसरे देशों से वापस आए हैं.

 

मजबूत पर्यावरण नीतियों से बनेंगी अर्थव्यवस्थायें मजबूत: प्रधानमंत्री मोदी का RE-INVEST 2020 में संबोधन

इस मंच में नवीकरणीय ऊर्जा विकल्पों पर दो दिवसीय आभासी सम्मेलन और स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र से जुड़े डेवलपर्स, मैन्युफैक्चरर्स, इनोवेटर्स और इन्वेस्टर्स की प्रदर्शनी भी शामिल हुए है. RE-INVEST 2020 अपने पहले दो संस्करणों की सफलता पर भी आधारित होगा जो वर्ष 2015 और वर्ष 2018 में आयोजित किए गए थे.

प्रधानमंत्री मोदी ने RE-INVEST 2020 के उद्घाटन के दौरान अपने संबोधन के दौरान यह कहा कि, जब यह किफायती नहीं थी, तब भी भारत ने नवीकरणीय ऊर्जा में निवेश किया था, और अब हमारा निवेश और पैमाने इस लागत में कमी ला रहे हैं.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now