Advertisement

डोनाल्ड ट्रम्प ने विवादित प्रवासी नीति में बदलाव पर हस्ताक्षर किये

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अवैध प्रवासियों को उनके बच्चों से अलग न किए जाने के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. उन्होंने प्रवासी नीति में बदलाव करते हुए वादा किया कि अब प्रवासी परिवार एकसाथ रहेंगे.
कुछ समय पहले डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा ही जारी आदेश के अनुसार अवैध रूप से अमेरिका में प्रवास करने वालों से उनके बच्चे छीनकर अलग कर दिए जाते थे जिसकी विश्व भर में आलोचना हुई थी.

डोनाल्ड ट्रम्प का आदेश

•    इस आदेश में कहा गया है कि अब अवैध प्रवासी परिवारों को एकसाथ हिरासत में लिया जाएगा.

•    यदि माता-पिता के हिरासत में लिए जाने से बच्चों पर ग़लत प्रभाव पड़ने की आशंका हो तो उन्हें अलग ही रखा जाएगा.

•    बच्चों को उनके माता-पिता से कितने समय के लिए अलग रखा जाएगा यह साफ़ नही बताया गया.

•    आदेश में आप्रवासन के उन मामलों को प्राथमिकता से निपटाने को कहा गया जिनमें एक ही परिवार के कई सदस्यों को हिरासत में लिया गया हो.

•    ट्रंप ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि वे अपने मां-बाप से अलग हुए बच्चों की तस्वीरें देखकर पिघल गए और इसीलिए उन्होंने यह आदेश जारी किया.

क्या था विवाद?

विवादित क़ानून के मुताबिक़ अमेरिका की सीमा में अवैध तरीके से घुसने वालों पर आपराधिक मामला दर्ज कर उन्हें जेल में डाल दिया जाता है. ऐसे प्रवासियों को उनके बच्चों से भी मिलने नहीं दिया जाता और उन्हें अलग रखा जाता है. इन बच्चों की देखभाल अमरीका का 'डिपार्टमेंट ऑफ़ हेल्थ ऐंड ह्यूमन सर्विसेज' करता है. इससे पहले बिना ज़रूरी काग़ज़ात के पहली बार सीमा पार आने वाले प्रवासियों को अदालत में बुलाया जाता था. अमेरिकी सरकार के आंकड़ों के अनुसार 5 मई से 9 जून तक 2,342 प्रवासी बच्चे उनके माता-पिता से अलग हो चुके हैं.

 

यह भी पढ़ें: अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद छोड़ने की घोषणा की

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement