Advertisement

UIDAI ने 5 साल से छोटे बच्चों के लिए ‘बाल आधार’ जारी किया

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए नीले रंग का 'बाल आधार' कार्ड जारी करने की घोषणा की है. सरकारी सुविधाओं के लाभ और पहचान के महत्वपूर्ण दस्तावेज के तौर पर जरूरी हो चुके आधार को लेकर यूआईडीएआई ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है.

5 साल से कम आयु के बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए माता या पिता में से किसी एक का आधार नंबर और बच्चे के जन्म का प्रमाण पत्र जरूरी होगा. साथ ही यह भी सुविधा दी गयी है कि पांच साल से कम आयु के बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए बायोमीट्रिक डिटेल्स की जरूरत नहीं होगी.

बाल आधार

पांच वर्ष से कम आयु के बच्चे के जन्म प्रमाणपत्र और माता-पिता में से किसी भी एक के आधार कार्ड के नंबर के जरिए 'बाल आधार' बनवाया जा सकता है लेकिन जैसे ही बच्चा पांच साल की उम्र पार कर लेगा उसके बाद उसका वैरिफिकेशन करवाना होगा. पांच वर्ष से बड़े बच्चे के लिए आधार में रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. इसके बाद जब बच्चा 15 साल का हो जाएगा उसे एक बार फिर सामान्य आधार में अपडेट करवाना होगा. बच्चों के लिए बायोमेट्रिक अपडेट निशुल्क होगा.

वीडियो: इस सप्ताह के करेंट अफेयर्स घटनाक्रम जानने के लिए देखें



बाल आधार बनवाने की प्रक्रिया

1. बाल आधार बनवाने के लिए नामांकन केंद्र जा कर फॉर्म भरना होगा.

2. बच्चे का जन्म प्रमाणपत्र और एक अभिभावक का आधार नंबर देना होगा.

3. पंजीकरण के समय एक मोबाइल नंबर भी देना होगा.

4. आवेदक की उम्र 5 साल से कम है इसलिए उसके बायोमेट्रिक की जरूरत नहीं होगी बल्कि फोटो की आवश्यकता होगी.

5. पांच साल से छोटे बच्चे की एक फोटो क्लिक की जाएगी

6. बच्चे का 'आधार' उसके माता/पिता के यूआईडी(आधार कार्ड नंबर) से लिंक किया जाएगा.

7. रजिस्ट्रेशन के बाद स्वीकृति की पर्ची मिलेगी.

8. जब रजिस्ट्रेशन और वेरिफिकेशन की प्रक्रिया खत्म हो जाएगी तब एक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS आएगा. यह SMS आने के 60 दिनों के भीतर बच्चे का आधार कार्ड नंबर मिला जाएगा.


यह भी पढ़ें: आरबीआई ने एनबीएफसी के लिए लोकपाल योजना शुरू की

Advertisement

Related Categories

Advertisement