अमेरिकी सरकार का बड़ा फैसला, ईरान पर बढ़ाएगा परमाणु प्रतिबंध

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 30 मार्च 2020 को ईरान पर अतिरिक्त 60 दिनों के लिए 4 परमाणु प्रतिबंधों का नवीनीकरण करने का फैसला किया है. अमेरिका ईरान पर अपने प्रतिबंधों को और आगे बढ़ा रहा है. अमेरिकी विदेशी मंत्रालय के अनुसार, ईरान को परमाणु हथियार रखने की अनुमति कभी नहीं दी जाएगी

प्रतिबंधों का मुख्य उद्देश्य ईरान को परमाणु हथियार बनाने से रोकना है. इसके साथ ही तेहरान के लिए न्यूक्लियर हथियार बनाना मुश्किल होगा. अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम के विकास की बारीकी से निगरानी करेंगे और इन प्रतिबंधों को किसी भी समय समायोजित कर सकते हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति ने क्या कहा?

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि ईरान को परमाणु हथियार रखने की अनुमति कभी नहीं दी जाएगी. राष्ट्रपति ट्रंप ने साल की शुरुआत में कहा था कि ईरान का परमाणु हथियार रखना स्वीकार नहीं कर सकते, यह विश्व के शांति और सुरक्षा का सवाल है.

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार ने क्या कहा?

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख ने कोरोना वायरस का सामना कर रहे ईरान जैसै देशों पर लगाए गए प्रतिबंधों का तत्काल पुनः मूल्यांकन का आग्रह किया, ताकि चिकित्सा तंत्र को नुकसान पहुंचने से बचाया जा सके. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख ने एक बयान में कहा कि इस अहम समय में, वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य कारणों और इन देशों के लाखों लोगों के अधिकार एवं जिंदगियों के समर्थन में इन प्रतिबंधों में ढील देनी चाहिए या निलंबित कर देना चाहिए.

पृष्ठभूमि

अमेरिका ने साल 2018 में ईरान न्यूक्लियर डील रद्द करके प्रतिबंध लगा दिए थे .अमेरिका और ईरान के बीच लंबे समय से तनाव का माहौल है. अमेरिका ने बीते दिनों एक मिसाइल हमले में ईरान के बड़े कमांडर को मार गिराया था, जिसके बाद दोनों ओर से हथियारों का इस्तेमाल हुआ. अमेरिका ने तभी ईरान पर कुछ बड़े प्रतिबंध लगा दिए थे. ईरान अब कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर अमेरिका से गुहार लगा रहा है कि प्रतिबंधों में छूट दी जाए, ताकि अन्‍य देश उसकी सहायता कर सकें.

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x