उत्तर प्रदेश बजट 2019-20: प्रमुख घोषणाएं

उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने 07 फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश का वार्षिक बजट पेश किया. उन्होंने सदन में बताया कि बजट का आकार 4 लाख 79 हजार 701 करोड़ 10 लाख रुपये (4,79,701,10 करोड़ रुपये) है जो कि वर्ष 2018-2019 के बजट के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक है. बजट में 21 हजार 212 करोड़ 95 लाख रुपये (21,212.95 करोड़ रुपये) की नई योजनाओं को शामिल किया गया है.

वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा सरकार ने कार्यभार संभालते ही किसानों का कर्ज माफ करने का बड़ा फैसला लिया. पिछले दो वर्ष में यूपी इन्वेस्टर्स समिट व प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन किया. साथ ही कुंभ का आयोजन भव्य तरह से किया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश बजट 2019-20: प्रमुख घोषणाएं

•    बजट में वाराणसी, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज एवं झांसी में मेट्रो रेल परियोजनाओं के प्रारंभिक कार्यों के लिए 150 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

•    इसके अलावा दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरीडोर 'रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम' परियोजना के लिए 400 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है.

•    बुंदेलखंड, विंध्य क्षेत्र और पानी के संकट से जूझ रहे गांवों में पाइप पेयजल योजना के लिए 3,000 करोड़ रुपये प्रस्तावित किया गया है.

•    बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 1,000 करोड़ रुपये, डिफेंस कॉरिडोर विकसित करने के लिए जमीन अधिग्रहण में 500 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है.

•    बजट में मथुरा-वृंदावन के बीच ऑडिटोरियम निर्माण के लिए 8.38 करोड़ रुपये, सार्वजनिक रामलीला स्थलों की चारदिवारी के लिए 50 करोड़ रुपये, यूपी ब्रज तीर्थ में सुविधाओं के लिए 125 करोड़ रुपये, अयोध्या व गढ़मुक्तेश्वर के पर्यटन स्थलों के लिए क्रमशः 101 करोड़ व 27 करोड़ रुपये की घोषणा की गई है.

•    वाराणसी में लहर तारा तालाब कबीर स्थल, गुरु रविदास जन्मस्थली सीर गोवर्धनपुर सुदृढ़ीकरण व प्रयाग में भारद्वाज आश्रम और लखनऊ में बिजली पासी किले का विकास प्रस्तावित किया गया है.

•    वृंदावन शोध संस्थान के सुदृढ़ीकरण के लिए एक करोड़ रुपये तथा सरकार पर्यटन नीति 2018 के क्रियान्वयन पर 120 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

•    अल्पसंख्यकों की छात्रवृत्ति के लिए 942 करोड़ रुपये और अरबी-फारसी मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 459 करोड़ रुपये की घोषणा की गई है.

•    वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने प्रादेशिक विमान सेवा के लिए 150 करोड़, पिछड़ा वर्ग के लिए 1516 करोड़, जेवर एयरपोर्ट की भूमि अधिग्रहण के लिए 800 करोड़ रुपये, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए 1988 करोड़ रुपये तथा किशोरी बालिका योजना के लिए 156 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा की.

•    वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने गोवंश रखरखाव पर 247 करोड़ और शहरों में कान्हा गोशाला के लिए 200 करोड़ के बजट की घोषणा की.

स्वास्थ्य संबंधी घोषणाएं

कैंसर संस्थान लखनऊ के लिए 248 करोड़ रुपये की घोषणा. लखनऊ में अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय के लिए 50 करोड़ रुपये आवंटन की घोषणा की गई. उत्तर प्रदेश में आयुष विश्वविद्यालय खुलेगा जिसके लयी बजट में 10 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया.

जन कल्याण योजनाओं संबंधी घोषणाएं

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के लिए 3,488 करोड़ रुपये, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना के लिए 2,954 करोड़ रुपये, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के लिए 1,393 करोड़ रुपये, मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लिए 429 करोड़ रुपये, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के लिए 224 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है.

 

पूर्वांचल के लिए घोषणाएं

मिर्जापुर में इंजिनियरिंग कॉलेज की स्थापना के लिए 8 करोड़, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के तहत गंगा तट से विश्वनाथ मंदिर तक सौन्दर्यीकरण के लिए 207 करोड़, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में वैदिक विज्ञान केन्द्र की स्थापना हेतु 16 करोड़ रुपये, प्रयागराज में ऋषि भारद्वाज आश्रम और श्रृंगवेरपुर धाम का विकास किया जाना प्रस्तावित. चंदौली की कनहर सिंचाई परियोजना के लिए 500 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था तथा मिर्जापुर की बाणसागर परियोजना के लिए 122 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है.

 

असम बजट 2019-20: हर दुल्हन को 1 तोला सोना, 1 रु. किग्रा चावल और अन्य घोषणाएं

Advertisement

Related Categories