वाइस एडमिरल करमबीर सिंह ने नौसेना प्रमुख का पदभार संभाला

वाइस एडमिरल करमबीर सिंह ने दिल्ली में नौसेना प्रमुख के रूप में पदभार संभाल लिया है. वाइस एडमिरल करमबीर सिंह ने एडमिरल सुनील लांबा की जगह ली है. एडमिरल सुनील लांबा 31 मई 2019 को रिटायर हो गये हैं.

वाइस एडमिरल करमबीर सिंह भारतीय नौसेना के 24वें प्रमुख हैं. उन्होंने नौसेना अध्यक्ष का पद संभालने के बाद  कहा की यह मेरे लिए बड़े गर्व और सम्मान की बात है. उन्होंने कहा की एडमिरल सुनील लांबा ने पहले से ही मज़बूत नींव पर खड़ी भारतीय नौसेना को नई ऊंचाईयों पर पहुंचाया है. मैं उनके कामों को और आगे बढ़ाऊंगा.

सरकार थल सेना की तरह नौसेना में भी सीनियर के रहते जूनियर अफसर को प्रमुख बनाने जा रही है. वाइस एडमिरल करमबीर सिंह से छह महीने सीनियर वाइस एडमिरल बिमल वर्मा ने इसके खिलाफ आर्म्ड फ़ोर्सेज़ ट्रिब्यूनल (एएफटी) में अपील कर रखी है. सैन्य ट्रिब्यूनल ने नए नौसेना प्रमुख के तौर पर वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को कार्यभार संभालने की इजाजत दे दी.

ट्रिब्यूनल ने 29 मई 2019 को उनकी नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई को सात हफ्तों के लिए टाल दिया. वाइस एडमिरल बिमल वर्मा के वकील अंकुर छिब्बर ने कहा कि एएफटी ने मामले की सुनवाई 17 जुलाई को तय की है क्योंकि सरकार ने ट्रिब्यूनल के समक्ष करमबीर सिंह की नियुक्ति से संबंधित दस्तावेज पेश करने के लिए और समय की मांग की थी.

तत्काल प्राथमिकता:

नौसेना प्रमुख के तौर पर वाइस एडमिरल सिंह की तत्काल प्राथमिकता नए जंगी जहाजों, पनडुब्बियों एवं विमानों को शामिल कर भारतीय नौसेना के आधुनिकीकरण में लंबे समय से चली आ रही देरी को जल्द से जल्द पूरा करना है. फिलहाल भारतीय नौसेना में लगभग 132 जहाज, 220 विमान और 15 पनडुब्बियां हैं.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

वाइस एडमिरल करमबीर सिंह के बारे में:

•   वाइस एडमिरल सिंह का जन्म 03 नवंबर 1959 को जालंधर में हुआ था. वे वेस्टर्न फ्लीट में फ्लीट ऑपरेशन के अफसर भी रह चुके हैं.

•   वाइस एडमिरल करमबीर सिंह ने नौसेना की कमान संभालने से पहले पूर्वी नौसैनिक कमान के प्रमुख थे.

•   उन्होंने महाराष्ट्र, पुणे के करीब खड़कवासला स्थित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी से पढ़ाई की है.

•   वे भारतीय नौसेना में जुलाई 1980 में शामिल हुए थे. उन्हें दो साल बाद ही साल 1982 में हेलीकॉप्टर पायलट के तौर पर पहली उपलब्धि मिली.

•   उन्होंने इसके बाद चेतक और कामोव जैसे हेलीकॉप्टर उड़ाए. वे भारतीय तटरक्षक बल के जहाज की कमान संभालने सहित अन्य कई अहम ज़िम्मेदारियां संभाल चुके हैं.

•   नौसेना में 39 साल से कार्यरत वाइस एडमिरल सिंह को उत्कृष्ट सेवाओं हेतु राष्ट्रपति द्वारा अति विशिष्ट सेवा मेडल भी दिया जा चुका है.

•   वह पहले हेलीकॉप्टर पायलट हैं, जिन्हें नौसेना प्रमुख बनाया गया है. वह इससे पहले महाराष्ट्र और गुजरात में भी कमांडिंग ऑफिसर रह चुके हैं.

•   उन्हें आईएनएस विजयदुर्ग, आईएनएस राणा, आईएनएस दिल्ली की कमान संभालने का अनुभव है.

Download our Current Affairs & GK app from Play Store

Continue Reading
Advertisement

Related Categories

Popular

View More