Advertisement

डब्ल्यूएचओ ने भारत के डिजिटल स्वास्थ्य प्रस्ताव को दी मंजूरी

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा ने 29 मई 2018 को कहा कि भारत द्वारा डिजिटल स्वास्थ्य पर लाए गए प्रस्ताव को 71वें विश्व स्वास्थ्य सभा (वर्ल्ड हेल्थ एसेंबली) ने मंजूरी दे दी है. विश्व स्वास्थ्य सभा, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की निर्णय लेने वाली संस्था है.

जेनेवा में 71वें वर्ल्ड हेल्थ एसेंबली का आयोजन किया गया और इसमें डब्लूएचओ के सभी सदस्य देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया.

जेपी नड्डा का ट्वीट

डिजिटल स्वास्थ्य प्रस्ताव:

•    डिजिटल स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी में सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) का समर्थन करने व स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच, गुणवत्ता, सुधार करने की बड़ी संभावना है.

•    यह प्रस्ताव डब्ल्यूएचओ को प्राथमिकताओं वाले क्षेत्र की पहचान कर डिजिटल स्वास्थ्य के लिए वैश्विक रणनीति बनाने का मार्ग प्रशस्त करता है.

•    इसमें डब्ल्यूएचओ को अपने प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करने और वैश्विक डिजिटल स्वास्थ्य एजेंडे के साथ समन्वय में सदस्य देशों को अपनी स्वास्थ्य प्रणाली में सुधार की बात कही गई है.

•    जेपी नड्डा ने कहा कि भारत डब्ल्यूएचओ के समर्थन से निकट भविष्य में वैश्विक डिजिटल स्वास्थ्य शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने की योजना बना रहा है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ):

•    विश्व स्वास्थ्य संगठन विश्व के देशों के स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर आपसी सहयोग एवं मानक विकसित करने की संस्था है.

•    विश्व स्वास्थ्य संगठन के 193 सदस्य देश तथा दो संबद्ध सदस्य हैं.

•    यह संयुक्त राष्ट्र संघ की एक अनुषांगिक इकाई है.

•    इस संस्था की स्थापना 07 अप्रैल 1948 को की गयी थी.

•    इसका उद्देश्य संसार के लोगो के स्वास्थ्य का स्तर ऊँचा करना है.

•    डब्‍ल्‍यूएचओ का मुख्यालय स्विटजरलैंड के जेनेवा शहर में स्थित है.

यह भी पढ़ें: भारत ने विश्व बैंक के साथ राजस्थान परियोजना के लिए 21.7 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किया

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement