Are you worried or stressed? Click here for Expert Advice
Next

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस 2021: जानें कैसे हुई थी इस दिवस की शुरुआत

Vikash Tiwari

हर साल 23 जून को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस मनाया जाता है. आज का यह दिन खेल और फिटनेस को समर्पित किया जाता है. ओलंपिक दिवस खेल, स्वास्थ्य, और सबसे अच्छा होने का एक उत्सव है जिसमें दुनियाभर से लोग शामिल होते हैं.

इस खास दिन पर विश्व के अलग-अलग हिस्सों में कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. इसमें हर वर्ग के लोग या खिलाड़ी शामिल होते हैं. कोरोना महामारी की वजह से पिछले साल ओलंपिक खेलों का आयोजन टाल दिया गया था, जो अब अलगे महीने टोक्यो में खेले जाएंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि आज, ओलंपिक दिवस पर, मैं उन सभी की सराहना करता हूं जिन्होंने वर्षों से विभिन्न ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया है. हमारे देश को खेलों में उनके योगदान और अन्य एथलीटों को प्रेरित करने के उनके प्रयासों पर गर्व है.

Today, on Olympic Day, I appreciate all those who have represented India in various Olympics over the years. Our nation is proud of their contributions to sports and their efforts towards motivating other athletes.

— Narendra Modi (@narendramodi) June 23, 2021

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस की थीम

कोरोना काल में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस की थीम 'स्वस्थ रहें, मजबूत रहें और सक्रिय रहें' (स्टे हेल्दी, स्टे स्ट्रांग एंड स्टे एक्टिव) रखी गई है.

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस का उद्देश्य

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस मनाए जाने का प्रमुख उद्देश्य खेलों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हर वर्ग और आयु के लोगों की भागीदारी को बढ़ावा देना है. यह दिन खेल, स्वास्थ्य और खुद को बेहतर बनाने का दिन है. इसमें दुनियाभर से कोई भी भाग ले सकता है.

यह दिवस पहली बार कब मनाया गया था?

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस 23 जून 1948 को पहली बार मनाया गया था. उस समय पुर्तगाल, ग्रीस, ऑस्ट्रिया, कनाडा, स्विट्जरलैंड, ग्रेट ब्रिटेन, उरुग्वे, वेनेजुएला और बेल्जियम ने अपने-अपने देशों में ओलंपिक दिवस का आयोजन किया और उस समय के आईओसी के अध्यक्ष सिगफ्रीड एडस्ट्रॉम ने दुनिया के युवाओं को एक संदेश भी दिया.

भारत ने पहली बार कब हिस्सा लिया

भारत ने पहली बार 1900 में ओलंपिक्स में हिस्सा लिया था. तब भारत की तरफ से केवल एक एथलीट नॉर्मन प्रिचर्ड को भेजा गया था, जिसने एथलेटिक्स में दो सिल्वर मेडल जीते थे. हालांकि, भारत ने आधिकारिक तौर पर पहली बार 1920 में ओलंपिक खेलों में हिस्सा लिया था. भारत ने अब तक ओलंपिक खेलों में कुल 28 पदक जीते हैं.

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस का इतिहास

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक दिवस मनाए जाने की शुरुआत 23 जून 1948 में हुई थी. दरअसल, आधुनिक ओलंपिक खेलों का पहला आयोजन वर्ष 1896 में हुआ था, लेकिन अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समीति (आईओसी) की स्थापना पियरे द कुबर्तिन द्वारा 23 जून 1894 को की गई थी.

आईओसी के स्थापना दिवस 23 जून को ही बाद में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा प्रतिवर्ष ओलंपिक दिवस के रूप में मनाया जाना शुरू किया गया. आईओसी का मुख्यालय स्विट्जरलैंड के लॉजेन में स्थित है और वर्तमान में दुनियाभर में 205 राष्ट्रीय ओलंपिक समितियां इसकी सदस्य हैं.

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now