विश्व में पहली बार टेस्ट ट्यूब तकनीक द्वारा शेर के शावकों का जन्म हुआ

दक्षिण अफ्रीका में हाल ही में टेस्ट ट्यूब तकनीक द्वारा शेर के शावकों के जन्म में सफलता हासिल की गई. ये शेर शावक कृत्रिम गर्भाधान से पैदा हुए हैं.

शेर के शावकों की यह जोड़ी विश्व की पहली ऐसी जोड़ी है. प्रिटोरिया विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक अफ्रीकी शेरनियों के प्रजनन तंत्र पर शोध कर रहे हैं. इन वैज्ञानिकों ने आईवीएफ तकनीक की मदद से इन शावकों को जन्म देनें में सफलता हासिल की है.

मुख्य तथ्य

•    प्रिटोरिया मैमल रिसर्च इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर आंद्रे गांसविंड द्वारा जारी जानकारी के अनुसार टेस्ट ट्यूब से जन्मे इन शावकों में एक नर और एक मादा है, अब पूरी तरह से स्वस्थ और सामान्य हैं.

•    लगभग 18 महीनों के गहन परीक्षण और मेहनत के बाद वैज्ञानिकों को यह सफलता हासिल हुई है.

•    इन शावकों के लिए वैज्ञानिकों ने एक स्वस्थ शेर का स्पर्म लिया था. उसके बाद जब शेरनी का हार्मोन स्तर सामान्य अवस्था में आने पर स्पर्म को कृत्रिम तरीके से ट्रांसपोर्ट किया गया.

•    वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि इस तकनीक की मदद से अन्य लुप्तप्राय प्रजातियों को भी बचाया जा सकता है.

लाभ

इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंज़रवेशन ऑफ नेचर (आईयूसीएन) के मुताबिक, '26 अफ्रीकी देशों में शेरों की प्रजाति विलुप्त होने के कगार पर है और पिछले दो दशकों में इनकी संख्या में 43 प्रतिशत की कमी आई है. इस समय यहां लगभग 20,000 शेर ही बचे हैं. अगर इन्हें बचाने का प्रयास नहीं किया जाता तो ये वास्तव में विलुप्त हो जाएंगे.

 

यह भी पढ़ें: तमिलनाडु सरकार द्वारा नीलकुरिंजी पौधे के संरक्षण की घोषणा

 

Related Categories

Popular

View More