Advertisement

वाराणसी में अलकनंदा क्रूज़ सेवा आरंभ की गई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 02 सितंबर 2018 को वाराणसी में अलकनंदा क्रूज़ सेवा का उद्घाटन किया. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इस कदम को उठाया गया है. निजी कंपनी नॉर्डिक को इस क्रूज़ के संचालन का उत्तरदायित्व सौंपा गया है.

यह क्रूज प्रतिदिन देशी-विदेशी पर्यटकों को अस्सी घाट से पंचगंगा घाट तक काशी के प्राचीन घाटों, सुबह-ए-बनारस और शाम को गंगा आरती का दर्शन करायेगी. क्रूज में दोपहर के वक्त पार्टी, बिज़नेस मीटिंग, सेमिनार आदि के लिए बुक किया जा सकता है. इस पर रुद्राभिषेक जैसे आध्यात्मिक आयोजन भी कराए जाएंगे.

अलकनंदा क्रूज़ की विशेषताएं


•    क्रूज में सफर के लिए एक व्यक्ति को 750 रुपये खर्च देने होंगे. यह दो मंजिला क्रूज़ 2000 स्क्वायर फीट में बनाया गया है.

•    इस दौरान गंगा की लहरों पर दो घंटे का आनंद लिया जा सकेगा जिसमें खाने-पीने की सुविधा शामिल है.

•    क्रूज में 125 सीटें हैं, सफर के लिए पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग भी की जा सकती है.

•    क्रूज़ के अंदर पर्यटकों को अस्सी से पंचगंगा के बीच सभी घाटों के इतिहास की जानकारी टीवी प्रसारण के माध्यम से दी जायेगी.

•    इस क्रूज़ के माध्यम से वाराणसी को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा.

भारत में क्रूज़ सेवा
भारत में एक अन्य क्रूज़ सेवा मुंबई से गोवा के मध्य अक्टूबर 2018 से आरंभ की जाएगी. इस शिप को आंग्रीया नाम दिया गया है. यह नाम मराठा नौसेना के महान कोरल बैंक रीफ एडमाइरल कन्होजी आन्ग्रे के नाम पर रखा है. इस शिप में एक समय में 400 लोग सवार हो सकते हैं.

 

यह भी पढ़ें: विधि आयोग ने ‘परिवार कानून में सुधार’ हेतु परामर्श पत्र जारी किया

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement