भेल ने छत्तीसगढ़ में 500 मेगावाट मारवा थर्मल पावर स्टेशन लोकार्पण किया

बिजली उपकरण विनिर्माता की नियामकीय सूचना के अनुसार ‘‘भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) ने छत्तीसगढ़ में मारवा थर्मल पावर स्टेशन में 500 मेगावाट की दूसरी इकाई का परिचालन शुरू किया है.

Created On: Aug 3, 2016 18:13 ISTModified On: Aug 3, 2016 21:00 IST

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी भेल ने तीन अगस्त 2016 को छत्तीसगढ़ में मारवा थर्मल पावर स्टेशन में 500 मेगावाट की दूसरी ताप इकाई का शुभारम्भ किया.

बिजली उपकरण विनिर्माता की नियामकीय सूचना के अनुसार ‘‘भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) ने छत्तीसगढ़ में मारवा थर्मल पावर स्टेशन में 500 मेगावाट की दूसरी इकाई का परिचालन शुरू किया है.

छत्तीसगढ़ के जंजगीर-चंपा जिले में स्थित मारवा टीपीएस की स्थापना छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जेनरेशन कंपनी ने की.

मारवा टीपीएस में पहली इकाई भी भेल नहीं चालू की.

भेल का शेयर बीएसई में 2.41 प्रतिश गिरकर 135.40 रुपए पर चल रहा था.

भेल के बारे में -

  • भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचइएल या भेल) भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की इंजीनियरिंग व विनिर्माण क्षेत्र की बड़ी कंपनी है.
  • भारत में ऊर्जा संबंधी मूलभूत संरचना क्षेत्र में बीएचईएल विशालतम इंजीनियरिंग एवं विनिर्माण उद्यम है.
  • बीएचईएल की स्थापना हुए 5० वर्ष से अधिक समय बीत चुके है.
  • कम्पनी १९७१-७२ से निरन्तर लाभ अर्जित कर रही है और १९७६-७७ से लाभांश का भुगतान कर रही है।
  • बीएचईएल ३० प्रमुख उत्पाद समूहों के अंतर्गत १८० से अधिक उत्पादों का विनिर्माण करता है.
  • विद्युत उत्पादन एवं पारेषण, उद्योग, परिवहन, दूरसंचार, नवीकरण योग्य ऊर्जा आदि जैसे भारती अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों की पूर्ति करता है.
  • बीएचईएल के १५ विनिर्माण प्रभागों, पावर सेक्टर के ४ क्षेत्रीय केन्द्रों, १५० से अधिक परियोजना साइटों, ८ सेवा केन्द्रों और १८ क्षेत्रीय कार्यालयों का व्यापक नेटवर्क कम्पनी को अपने ग्राहकों की शीघ्रता से सेवा करने और उन्हें दक्षता के साथ एवं प्रतिस्पर्धात्मक मूल्यों पर उपयुक्त उत्पाद, प्रणालियों और सेवाएं उपलब्ध कराने में समर्थ करता है.
  • इसके उत्पादों की गुणवत्ता का उच्च स्तर और विश्वसनीयता, इसके अपने अनुसंधान और विकास केन्द्रों में विकसित प्रौद्योगिकियों के साथ विश्व की अग्रणी कम्पनियों से सर्वोत्तम प्रौद्योगिकियों में से कुछ को प्राप्त करके और अनुकूल बनाकर अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप डिजाइन, इंजीनियरिंग और विनिर्माण पर बल द्ने के कारण है.
  • बीएचईएल ने गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली (आईएसओ-९००१), पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली (आईएसओ-१४००१) और व्यावसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली (ओएचएसएएस १८००१) के लिए प्रमाणन प्राप्त कर चुका है तथा समग्र गुणवत्ता प्रबंधन के मार्ग पर अग्रसर है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

9 + 2 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now