Search

बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

बीएस येदियुरप्पा 29 जुलाई को विश्वास मत पेश करेंगे. कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के दो और एक निर्दलीय बाग़ी विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था.

Jul 27, 2019 09:54 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

कर्नाटक में भाजपा विधायक दल के नेता बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई 2019 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. यह चौथी बार है जब उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है. बीएस येदियुरप्पा को राज्यपाल वजुभाई वाला ने राजभवन में एक समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. उनके शपथ लेते समय समर्थकों के बीच जबरदस्त उत्साह था. येदियुरप्पा 29 जुलाई 2019 को विश्वास मत पेश करेंगे.

बीएस येदियुरप्पा ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया था. बीएस येदियुरप्पा ने राज्यपाल से मुलाकात कर 105 विधायकों के समर्थन वाला पत्र सौंपा था और बताया था कि उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया है. इससे पहले जब 2018 में कर्नाटक में चुनाव हुए तो बीएस येदियुरप्पा ही मुख्यमंत्री बने थे लेकिन उनका कार्यकाल सिर्फ ढाई दिन तक ही चल सका था. उसके बाद कुमारस्वामी कर्नाटक में कांग्रेस के समर्थन से मुख्यमंत्री बन गए थे.

कर्नाटक विधानसभा में 24 जुलाई 2019 को एचडी कुमारस्वामी की सरकार विश्वास प्रस्ताव पास नहीं कर पाई थी. कांग्रेस-जेडीएस को मात्र 99 वोट और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 105 वोट मिले थे. कर्नाटक बीजेपी के नेताओं ने 25 जुलाई 2019 को नई दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी. कर्नाटक के नेताओं ने इस मुलाकात में अमित शाह को राज्य के हालात की जानकारी दी थी.

बीएस येदियुरप्पा के बारे में:

   बीएस येदियुरप्पा का जन्म 27 फरवरी 1943 को मंड्या जिले में हुआ था.

   उनके पिता का नाम सिद्धलिंगप्पा तथा माता का नाम पुट्टतायम्मा था.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

   येदियुरप्पा कर्नाटक राज्य की विधानसभा में शिकारीपुरा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक हैं.

•   वे किसी भी दक्षिण भारतीय राज्य में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री हैं.

   उन्हें साल 2016 में भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक राज्य इकाई का अध्यक्ष बनाया गया था.

   वे पहली बार 2007 में सात दिनों के लिए मुख्यमंत्री बने और इसके बाद 30 मई 2008 को दूसरी बार मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली, जिसे भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद जुलाई 2011 में पद छोड़नी पड़ी थीं.

यह भी पढ़ें: कलराज मिश्रा हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त

यह भी पढ़ें:SBI की एमडी अंशुला कांत विश्व बैंक की एमडी और सीएफओ बनीं

For Latest Current Affairs & GK, Click here

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS