टॉप कैबिनेट मंजूरी: 02 नवम्बर 2018

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने के लिए भारत और कोरिया के मध्‍य समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर करने की मंजूरी दी है.

Created On: Nov 2, 2018 11:01 ISTModified On: Nov 2, 2018 11:07 IST

मंत्रिमंडल ने पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने हेतु भारत और कोरिया के मध्‍य समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी 

•  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने के लिए भारत और कोरिया के मध्‍य समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर करने की मंजूरी दी है. यह बैठक प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में हुई.

•  इस समझौता ज्ञापन के मुख्‍य उद्देश्‍य पर्यटन क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग का विस्‍तार करना, पर्यटन से संबंधित जानकारी और डाटा के आदान-प्रदान को बढ़ाना, मानव संसाधन विकास में सहयोग के लिए आदान-प्रदान कार्यक्रमों को स्‍थापित करना, सुरक्षित, सम्‍मानित और सतत पर्यटन को बढ़ावा देना, एक-दूसरे के देश में यात्रा मेलों/प्रदर्शनियों में भागीदारी को प्रोत्‍साहित करना इत्यादि हैं.

•  भारत और कोरिया के मध्‍य मजबूत राजनयिक और दीर्घकालीन आर्थिक संबंध मौजूद हैं. दोनों पक्ष अब पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग को और अधिक सुदृढ़ बनाने के लिए मौजूदा संबंधों को ज्‍यादा मजबूत तथा विकसित करना चाहते हैं. कोरिया के साथ इस समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर होने से इस संसाधन बाजार से भारत में पर्यटकों का आगमन बढ़ाने में महत्‍वपूर्ण योगदान मिलेगा.

 

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने दक्षिण कोरिया और रूस के साथ पर्यटन तथा परिवहन के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने संबंधी समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी

•  केंद्रीय मंत्रिमंडल को रूस के साथ 05 अक्टूबर 2018 को हस्ताक्षर किए गए समझौता ज्ञापन (एमओयू) तथा एक सहयोग ज्ञापन (एमओसी) की जानकारी दी गई. यह बैठक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई.

•  यह समझौता परिवहन शिक्षा में सहयोग विकास के लिए रूसी संघ के परिवहन मंत्रालय के साथ तथा रेलवे के क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर संयुक्त स्टॉक कंपनी ‘रूसी रेलवे’ (आरजेडडी) के साथ सहयोग ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर हुई.

•  एमओयू में परिवहन शिक्षा के विकास के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में सहयोग का प्रावधान है. समझौता ज्ञापन व्यापार-आर्थिक, वैज्ञानिक-तकनीकी तथा सांस्कृतिक सहयोग पर अंतर-सरकारी रूसी – भारतीय आयोग के ढांचे में क्रियान्वयन सहित विशेष प्रस्तावों की तैयारी में सहायता देगा.

•  भारतीय रेल ने विभिन्न विदेशी सरकारों तथा राष्ट्रीय रेलवे के साथ रेल क्षेत्र में तकनीकी सहयोग के लिए एमओयू / एमओसी पर हस्ताक्षर किए हैं. सहयोग के चिन्हित क्षेत्रों में उच्च गति की रेलगाड़ी, वर्तमान मार्गों की गति बढ़ाना, विश्व स्तरीय स्टेशनों का विकास, भारी परिवहन संचालन रेल ढांचे का आधुनिकीकरण शामिल है. यह सहयोग रेलवे टेक्नोलॉजी तथा संचालन ज्ञान का आदान-प्रदान, तकनीकी यात्राओं, प्रशिक्षण तथा संगोष्ठियों और कार्यशालाओं के माध्यम से परस्पर हित के क्षेत्रों में किया जाता है.

 

मंत्रिमंडल ने संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों देशों को आईएसए की सदस्यता के लिए प्रस्ताव पेश करने की मंजूरी दी

•  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों देशों को अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) की सदस्यता के लिए आईएसए के समझौता ढांचे में संशोधन के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन की प्रथम बैठक में प्रस्ताव पेश करने की मंजूरी दे दी है.

•  संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन की सदस्यता देने से सौर ऊर्जा वैश्विक एजेंडा में शामिल हो जाएगा और सौर ऊर्जा के विकास औऱ तैनाती के लिए सार्वभौमिक अपील की जा सकेगी.

•  यह आईएसए को समावेशी बनाएगा जिसके अंतर्गत संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य देश अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के सदस्य होंगे. सदस्यता के विस्तार से आईएसए विश्व स्तर पर लाभ प्रदान करेगा.

 

मंत्रिमंडल ने आपराधिक मामलों में पारस्परिक कानूनी सहायता पर भारत और मोरक्को के बीच समझौते को मंजूरी दी

•  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आपराधिक मामलों में पारस्परिक कानूनी सहायता पर भारत और मोरक्को के बीच समझौते को अपनी स्वीकृति दे दी है.

•  यह समझौता भारत और मोरक्को के बीच अपराध की जांच तथा अभियोजन, रोकथाम, अपराध से हुई प्राप्तियों  और अपराध के साधनों की जब्ती तथा अपराध के तरीकों से निपटने में व्यापक कानूनी ढांचा प्रदान करेगा.

•  इसका उद्देश्य अपराध की जांच और अभियोजन को अधिक कारगर बनाना तथा समाज के लिए आवश्यक शांतिपूर्ण वातावरण प्रदान करना है. यह समझौता संगठित अपराधियों और आतंकवादियों के तौर-तरीकों के बारे में जानकारी हासिल करने में सहायता देगा और परिणामस्वरूप आंतरिक सुरक्षा के क्षेत्र में उचित नीतिगत निर्णय लिए जा सकेंगे.

 

मंत्रिमंडल ने ओडिशा के झारसुगुड़ा हवाई अड्डे का नया नाम वीर सुरेन्द्र साई हवाई अड्डा, झारसुगुड़ाकरने की स्वीकृति दी

•  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंत्रिमंडल ने ओडिशा के झारसुगुड़ा हवाई अड्डे का नया नाम ‘वीर सुरेन्द्र साई हवाई अड्डा, झारसुगुड़ा’ करने की स्वीकृति दे दी है. यह बैठक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई.

•  वीर सुरेन्द्र साई ओडिशा के जाने-माने स्वतंत्रता सेनानी हैं. झारसुगुड़ा हवाई अड्डे को नया नाम देने से ओडिशा सरकार की पुरानी मांग पूरी होगी जो स्थानीय लोगों की भावनाओं के अनुकूल है. यह कदम राज्य से जुड़े सम्मानित लोगों के प्रति उचित श्रद्धांजलि भी होगा.

यह भी पढ़ें: अक्टूबर 2018 के 30 महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स घटनाक्रम

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

3 + 5 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now