Search

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेटीएम पेमेंट बैंक की शुरुआत की

Nov 30, 2017 16:47 IST
1

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 29 नवम्बर 2017 को भुगतान बैंक 'पेटीएम पेमेंट्स बैंक' को औपचारिक रूप से लांच किया. इस अवसर पर भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व कार्यकारी निदेशक पी. विजय भास्कर, नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के अंतरिम सीईओ दिलीप आस्बे, पेटीएम के संस्थापक व सीईओ विजय शेखर शर्मा और पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के एमडी व सीईओ रेणु सत्ती मौजूद थे.

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जीएसटी के अंतर्गत राष्ट्रीय मुनाफाखोरी विरोधी प्राधिकरण की स्थापना को मंजूरी दी

वर्तमान में, भारत में पेटीएम पेमेंट्स बैंक सहित चार अन्य पेमेंट्स बैंक हैं. अन्य तीन बैंक एयरटेल पेमेंट्स बैंक, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक और फाइनो पेमेंट्स बैंक हैं. पेटीएम को वर्ष 2010 में स्थापित किया गया था, हालांकि, विमुद्रीकरण के बाद इसका ज्यादा विकास हुआ है.

पेटीएम के कुल 28 करोड़ रजिस्टर्ड यूजर हैं जिसमें 1 करोड़ 80 लाख इसके वॉलेट सर्विस का इस्तेमाल करते हैं.

पेटीएम पेमेंट्स बैंक:

•    पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत का सबसे बड़ा मोबाइल प्रमुख, तकनीकी चालिक बैंक है.

CA eBook


•    पेटीएम पेमेंट्स बैंक ऑनलाइन लेन-देन पर शून्य शुल्क और शून्य न्यूनतम बैलेंस वाला भारत का पहला असली मोबाइल प्रमुख बैंक है.

•    इस बैंक को देश में वित्तीय समावेश हासिल करने में मदद करने के लिए डिजाइन किया गया है. यह आधा अरब भारतीयों को मुख्यधारा की अर्थव्यवस्था में लाने के पेटीएम के मिशन का हिस्सा है.

•    पेटीएम के पेमेंट बैंक में बचत खाते पर 4 फीसदी और स्वीप लिंक्ड एफडी पर 7 फीसदी तक ब्याज मिलेगा.

•    पेटीएम के पेमेंट बैंक का पैसा सरकारी बॉन्ड में निवेश किया जाएगा.

•    पेमेंट बैंक एक विभेदित बैंक है. एक ग्राहक इसमें बचत बैंक खाता खोल सकता है और इसमें 1 लाख रूपये तक जमा कर सकता है. ये बैंक अपने ग्राहकों को पैसे उधार नहीं देता है.

भारत 2028 तक विश्व की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा: रिपोर्ट