Search
LibraryLibrary

केंद्र सरकार द्वारा IMPRINT-2 के तहत 122 नई शोध परियोजनाओं को स्वीकृति प्रदान की गई

Aug 6, 2018 09:07 IST

    उच्च शिक्षा संस्थानों में अनुसंधान को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने इंप्रिंट-2 (IMPRINT-2) के तहत 112 करोड़ रुपये की लागत से 122 नई शोध परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है, जिसमें ऊर्जा, सुरक्षा, स्वास्थ्य, उन्नत सामग्री, आईसीटी और सुरक्षा/रक्षा शामिल है.

    केंद्र सरकार द्वारा 2,145 प्रस्तावों में से, इंप्रिंट-2 के तहत वित्त पोषण के लिए 122 सर्वश्रेष्ठ प्रस्तावों का चयन किया गया था, जो उच्च स्तर की प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने की क्षमता रखते हैं.

    चयनित शोध प्रस्ताव

    चयनित नए शोध परियोजना प्रस्तावों में 35 (आईसीटी); 18 (उन्नत सामग्री), 17 (स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी), 12 (ऊर्जा सुरक्षा); 11 (सुरक्षा और रक्षा); 9 (सतत आवास); 7 (जल संसाधन और नदी प्रणाली); 5 (पर्यावरण और जलवायु); 4 (विनिर्माण); और 4 (नैनो प्रौद्योगिकी) शामिल हैं.


    स्मरणीय तथ्य

    •    स्वीकृत की गई 122 नई आईएमपीआरआईटी (IMPRINT) परियोजनाओं में से 81 उद्योग द्वारा प्रायोजित हैं.

    •    अनुसंधान परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी और निष्कर्ष के लिए अक्टूबर 2018 में ज्ञान पोर्टल शुरू किया जाएगा.

    •    आईएमपीआरआईटीटी प्रस्ताव उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए खुले हैं जिनमें निजी संस्थान भी शामिल हैं,इससे प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा होगी और बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे.

    इंप्रिंट (IMPRINT) योजना क्या है?

    •    देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में शोध एवं अनुसंधान कार्यों का रोड मैप तैयार करने और इसे जनता से जोड़ने के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 5 नवम्बर 2015 को इंप्रिंट (इम्पैक्टिंग रिसर्च इनोवेशन एण्ड टेक्नोलॉजी) इंडिया योजना का शुभारम्भ किया.

    •    ‘इम्प्रिंट इंडिया’ भारत के लिए प्रासंगिक दस तकनीकी क्षेत्र की प्रमुख इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी चुनौतियों से निपटने के लिए अनुसंधान का खाका विकसित करने हेतु आईआईटी और आईआईएससी की संयुक्त पहल है.

    •    इस पहल का उद्देश्य समाज में नवाचार के लिए आवश्यक क्षेत्रों की पहचान करना, पहचाने गए क्षेत्रों में प्रत्यक्ष वैज्ञानिक अनुसंधान, इन क्षेत्रों में अनुसंधान के लिए उचित कोष की आपूर्ति सुनिश्चित करना,  इन अनुसंधानों के परिणामों का शहरी और ग्रामीण क्षेत्र पर प्रभाव का आकलन करना है.

    इंप्रिंट (IMPRINT) के 10 कार्य क्षेत्र

    • स्वास्थ्य की देखभाल - आईआईटी खड़गपुर,

    • कम्प्यूटर साइंस और आईसीटी - आईआईटी खड़गपुर,

    • अग्रिम सामग्री - आईआईटी कानपुर,

    • जल संसाधन और नदी प्रणालियाँ - आईआईटी कानपुर,

    • सतत शहरी डिजाइन - आईआईटी रुड़की,

    • रक्षा - आईआईटी मद्रास,

    • विनिर्माण - आईआईटी मद्रास,

    • नैनो प्रौद्योगिकी हार्डवेयर- आईआईटी बॉम्बे,

    • पर्यावरण विज्ञान और जलवायु परिवर्तन - आईआईएससी, बंगलौर

    • ऊर्जा सुरक्षा - आईआईटी बॉम्बे

     

    यह भी पढ़ें: भारत ने सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का सफल परीक्षण किया

     

    Is this article important for exams ? Yes

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.