एनीमिया मुक्त भारत सूचकांक-2020 में हरियाणा सबसे ऊपर

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा इस संबंध में हाल ही में जारी सूची के स्कोर कार्ड में हरियाणा को 46.7 अंक के साथ एनीमिया मुक्त भारत सूचकांक में शीर्ष स्थान पर रखा गया है.

Created On: Oct 22, 2020 10:10 ISTModified On: Oct 22, 2020 10:17 IST

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) की पहल पर एनीमिया मुक्त भारत (एएमबी) कार्यक्रम के तहत हरियाणा को देश के 29 राज्यों की सूची में पहला स्थान मिला है. हरियाणा देश के 29 राज्यों में एनीमिया मुक्त भारत (एएमबी) सूचकांक में सबसे ऊपर है.

यह जानकारी चंडीगढ़ में राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन की राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य सोसाइटी की 8वीं बैठक के दौरान दी गई. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा इस संबंध में हाल ही में जारी सूची के स्कोर कार्ड में हरियाणा को 46.7 अंक के साथ एनीमिया मुक्त भारत सूचकांक में शीर्ष स्थान पर रखा गया है.

सूची में पहले स्थान पर पहुंचा हरियाणा

हरियाणा के मुख्य सचिव विजयवर्धन और स्वास्थ्य विभाग के अलावा मुख्य सचिव राजीव आरोड़ा ने बैठक में एनएचएम की उपलब्धियों व नई तैयार की गई योजनाओं से अवगत कराया. हरियाणा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक प्रभजोत सिंह ने एक प्रस्तुति के जरिये बताया कि एनएचएम के तहत प्रदेश में 34 राष्ट्रीय कार्यक्रम चल रहे हैं.

एनीमिया मुक्त भारत

स्वास्थ्य सचिव राजीव अरोड़ा के अनुसार, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अप्रैल 2018 में ’अटल अभियान‘ एश्योरिंग एनीमिया लिमिट अभियान शुरू किया था. इसके तहत एनीमिया मुक्त भारत की तर्ज पर हरियाणा में एनीमिया को कम करने के लिए योजना की घोषणा की गई थी. वर्ष 2019-20 में पहली बार राज्य में 93 फीसदी टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त किया गया.

शिशु मृत्यु दर में कमी

राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा 12 वैक्सीन प्रीवेंटबल डिजीज (वीपीडी) के खिलाफ टीकाकरण की सेवाएं प्रदान की जा रही हैं. यह टीके शिशु मृत्यु दर और पांच वर्ष से कम आयु वर्ग में मृत्यु दर में लगातार कमी लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं.

मातृ मृत्यु दर के मामले में हरियाणा 11वें स्थान पर

स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक मातृ मृत्यु दर में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है और वर्तमान में हरियाणा मातृ मृत्यु दर के मामले में देश में 11वें स्थान पर है. मुख्य सचिव विजयवर्धन को जानकारी दी गई कि प्रदेश में संस्थागत प्रसूति 93.7 फीसदी तक बढ़ गई है और यह प्रदेश में 24 घंटे उपलब्ध प्रसूति सुविधाओं के कारण संभव हो पाया है.

एनीमिया क्या है, लक्षण, कारण, उपचार

एनीमिया का अर्थ शरीर में खून की कमी होना है. यह तब होता है, जब शरीर के रक्त में लाल कणों या कोशिकाओं के नष्ट होने की दर, उनके निर्माण की दर से अधिक होती है. एनीमिया एक गंभीर बीमारी है. एनीमिया एक रक्त से संबंधित बीमारी है.

एनीमिया के लक्षण त्वचा का सफेद दिखना, चक्कर आना, सांस फूलना, हृदयगति का तेज होना और चेहरे एवं पैरों पर सूजन दिखाई देना है. एनीमिया से बचाव के लिए आहार में कुछ बदलाव करना काफी फायदेमंद साबित होता है. शरीर में आयरन की जरूरत को पूरा करने के लिए खाने में चकुंदर, गाजर, ट्माटर और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

4 + 9 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now