Search

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत कैसे हुई, भारत के नाम दर्ज रिकॉर्ड

योग एक प्राचीन कला है जिसकी उत्पत्ति भारत में करीब 5000 साल पहले हुई थी. पहले समय में, लोग अपने दैनिक जीवन में योग और ध्यान, पूरे जीवनभर स्वस्थ और ताकतवर बने रहने के लिए किया करते थे.

Jun 20, 2019 15:59 IST

विश्वभर में 21 जून को 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' मनाया जाएगा है. योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है. योग न केवल आपके शरीर को रोगों से दूर रखता है बल्कि आपके मन को भी शांत रखने का काम करता है.

योग एक प्राचीन कला है जिसकी उत्पत्ति भारत में करीब 5000 साल पहले हुई थी. पहले समय में, लोग अपने दैनिक जीवन में योग और ध्यान, पूरे जीवनभर स्वस्थ और ताकतवर बने रहने के लिए किया करते थे.

योग दिवस की शुरुआत कैसे हुई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत हुई. प्रधानमंत्री मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में एकसाथ योग करने की बात कही थी. इसके बाद महासभा ने 11 दिसंबर 2014 को इस प्रस्ताव को स्वीकार किया और तभी से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस अस्तित्व में आया.

योग दिवस 21 जून ही क्यों चुना गया?

दरअसल उत्तरी गोलार्द्ध में 21 जून सबसे लंबा दिन होता है. लिहाजा विश्व के अधिकांश देशों में इस दिन का खास महत्व है. यह दिन आध्यात्मिक कार्यों के लिए भी अत्यंत लाभकारी है. भारतीय मान्यता के अनुसार आदि योगी शिव ने इसी दिन मनुष्य जाति को योग विज्ञान की शिक्षा देनी शुरू की थी. वे इसके बाद आदि गुरु बने. इसीलिए 21 जून अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में चुना गया है.

योग शब्द का अर्थ

योग एक आध्यात्मिक प्रकिया है जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का कार्य होता है. ‘योग’ शब्द का अर्थ- समाधि अर्थात् चित्त वृत्तियों का निरोध है.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

योग दिवस पर भारत के नाम दर्ज रिकॉर्ड

पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था. भारत ने पहले योग दिवस पर दो शानदार रिकॉर्ड भी बनाए थे. प्रधानमंत्री मोदी ने इस दिन 35 हजार से ज्यादा लोगों के साथ राजपथ पर योग किया था. पहला रिकॉर्ड 35,985 लोगों के साथ योग करना और दूसरा रिकॉर्ड 84 देशों के लोगों द्वारा इस समारोह में हिस्सा लेना.

बाबा रामदेव ने साल 2018 में कोटा में 2.5 लाख लोगों के साथ योग कर विश्व रिकॉर्ड बनया था. दिल्‍ली स्थि‍त अमेरिका के दूतावास में भी योग दिवस के प्रति गजब का क्रेज देखने को मिला था. दूतावास के कर्मियों ने जमकर योगासन किए. भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने साल 2018 में 18,000 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख के ठंडे रेगिस्तान में सूर्य नमस्कार किया और विश्व रिकॉर्ड बनाया.

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आज रांची पहुंचेंगे, जाने योग के फायदे

For Latest Current Affairs & GK, Click here