Search

भारत और स्लोवेनिया के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने हेतु सात समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत तथा स्लोवेनिया के बीच निवेश, खेल, संस्कृति, स्वच्छ गंगा मिशन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी सहित कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये. साल 1991 में स्‍लोवेनिया की स्‍वतंत्रता प्राप्ति के बाद किसी भारतीय राष्‍ट्रपति की यह पहली यात्रा है.

Sep 17, 2019 09:33 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारत के राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और स्‍लोवेनिया के राष्‍ट्रपति बोरूत पाहोर ने दोनों देशों के लोगों के बीच आपसी सम्‍पर्क तथा सांस्‍कृतिक संबंधों पर विचार व्‍यक्‍त किया है. भारत तथा स्लोवेनिया के बीच निवेश, खेल, संस्कृति, स्वच्छ गंगा मिशन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी सहित कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा दोनों देशों के बीच हुए अहम समझौतों से आर्थिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संबंध और मजबूत होंगे. साल 1991 में स्‍लोवेनिया की स्‍वतंत्रता प्राप्ति के बाद किसी भारतीय राष्‍ट्रपति की यह पहली यात्रा है.

द्विपक्षीय बैठक के बाद दोनों नेताओं के बीच स्‍लोवेनिया की राजधानी लुबलियाना में जारी बयान में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि दोनों देशों ने बहुपक्षवाद को सुदृढ़ बनाने तथा बहुध्रुवीय विश्‍व को बढ़ावा देने पर विचार व्‍यक्‍त की है.

डाक टिकट भी जारी

स्‍लोवेनिया के राष्‍ट्रपति बोरूत पाहोर ने भारत के साथ प्रगाढ़ संबंधों की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की. उन्‍होंने कहा कि स्‍लोवेनिया शांति तथा अहिंसा के दूत महात्‍मा गांधी की 150 वीं जयंती समारोहपूर्वक मनायेगा. महात्‍मा गांधी के सम्‍मान में एक डाक टिकट भी जारी ‍कि‍या जाएगा.

सात समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और स्लोवेनियाई राष्ट्रपति बोरुत पाहोर ने भारत और स्लोवेनिया के बीच निवेश, खेल, संस्कृति, स्वच्छ गंगा मिशन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी सहित सात महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर किए.

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सीमापार आतंकवाद के विरुद्ध भारत की लड़ाई को समर्थन देने हेतु स्‍लोवेनिया के राष्‍ट्रपति का आभार व्‍यक्‍त किया. उन्‍होंने भारत प्रवर्तित अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल होने हेतु स्‍लोवेनिया को आमंत्रित किया.

भारत और स्‍लोवेनिया संबंध

भारत और स्‍लोवेनिया का संबंध बहुत ही प्रगाढ़ है. भारत और स्‍लोवेनिया ने साल 2014 से साल 2018 तक व्‍यापार में तेज प्रगति की है. भारत से फार्मा, जैविक रसायन, खनिज तेल, कॉफी, चाय, मसाले, लौह अयस्‍क तथा इस्‍पात स्‍लोवेनिया भेजे जाते हैं. 

यह भी पढ़ें: Saudi Oil Facility Attack: जानिए भारत पर क्या हो सकता है असर?

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS

Also Read +