Search

भारत ने अग्नि-I (ए) बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया

Feb 6, 2018 11:16 IST
1

भारत ने ओडिशा के तट पर मौजूद अब्दुल कलाम द्वीप से 06 फरवरी 2018 को सुबह 8.30 बजे स्वदेशी तौर पर विकसित अणु-सक्षम अग्नि-आई (ए) बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया. यह परीक्षण भारतीय सेना के सामरिक बल कमांड द्वारा आयोजित किया गया था.

भारत के पास मौजूदा समय में अग्नि-I (700 किलोमीटर मारक क्षमता), अग्नि-II (2000 किलोमीटर मारक क्षमता) अग्नि III एवं अग्नि IV (3500 किलोमीटर से अधिक मारक क्षमता) एवं सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाइलें हैं. इससे पहले भारत ने अग्नि-V का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था. यह मिसाइल का चौथा एवं अंतिम परीक्षण बताया गया था.


भारत ने अग्नि-I (ए) बैलिस्टिक मिसाइल

•    इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर तक है.

•    अग्नि-I भारत की पहली बहुउद्देशीय अग्नि सीरीज की मिसाइल है जिसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है.

•    यह मिसाइल सॉलिड तथा लिक्विड दोनों प्रकार की क्षमता से संचालित होती है तथा प्रति सेकेंड 2.5 किलोमीटर की गति से अपने निशाने तक पहुंच सकती है.

•    इसकी उंचाई 15 मीटर है तथा इसे रोड एवं रेल मोबाइल लॉन्चर से छोड़ा जा सकता है.

•    अग्नि-I का वजन लगभग 12 टन है तथा यह 1,000 किलोग्राम तक का पारम्परिक एवं परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम है.

स्कॉर्पीन क्लास की तीसरी पनडुब्बी 'करंज' भारतीय नौसेना में शामिल

अग्नि मिसाइलें

अग्नि मिसाइलें मध्यम से अंतरमहाद्विपीय दूरी तक मार करने में सक्षम प्रक्षेपास्त्रों का समूह है. यह भारत के एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम द्वारा स्वदेशी तकनीक से विकसित की गईं मिसाइलें हैं. भारत वर्ष 2008 तक इस प्रक्षेपास्त्र (मिसाइल) समूह के तीन संस्करण तैनात कर चुका है.

अग्नि-1: मध्यम दुरी का बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र 700 – 1,250 किलोमीटर (परिचालन में)

अग्नि-2: मध्यवर्ती दुरी का बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र      2,000 – 3,000 किलोमीटर (परिचालन में)

अग्नि-3: मध्यवर्ती दुरी का बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र      3,500 – 5,000 किलोमीटर (परिचालन में)

अग्नि-4: मध्यवर्ती दुरी का बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र      3,000 – 4,000  किलोमीटर (परीक्षण अवस्था में)

अग्नि-5: अंतरमहाद्विपीय बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र 5,000 – 8,000 किलोमीटर (परीक्षण अवस्था में)

अग्नि-6: अंतरमहाद्विपीय बैलिस्टिक प्रक्षेपास्त्र 8,000 – 10,000 किलोमीटर (विकास के तहत)

 

अग्नि-5 बैलेस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण एवं विशेषताएं