Search

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-नेपाल पाइपलाइन का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल और भारत के आपसी सहयोग को रेखांकित करते हुए कहा कि यह पाइपलाइन समय से पहले पूरा हो गया. यह दक्षिण एशिया की पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन है.

Sep 10, 2019 15:55 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 सितम्बर 2019 को भारत-नेपाल पेट्रोलियम उत्पाद पाइपलाइन का उद्घाटन किया. यह पाइपलाइन नेपाल के अमलेखगंज से बिहार के मोतिहारी के बीच बिछाई गई है. पीएम मोदी ने नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा इस पाइपलाइन का उद्घाटन किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल और भारत के आपसी सहयोग को रेखांकित करते हुए कहा कि यह पाइपलाइन समय से पहले पूरा हो गया. यह दक्षिण एशिया की पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन है. फिलहाल भारत तथा नेपाल के बीच पेट्रोलियम उत्‍पादों का ट्रांसपोर्ट साल 1973 में बनाए गए नियमों के आधार पर ही हो रहा है.

पाइपलाइन के फायदे से जुड़ी मुख्य बड़ी बातें

• यह पाइपलाइन नेपाल के लिए बड़ा बदलाव लायेगा और वहां तेल भंडारण की समस्‍या से निजात दिलाने में सहायता करेगा.

• इस परियोजना के द्वारा कीमत में कमी आयेगी और पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचेगा. इस परियोजना के तहत नए क्षेत्रों में सहयोग को और बढ़ाने के लिए नए अवसरों का लाभ मिलेगा.

• 69 किमी लंबी पाइपलाइन के कारण से भारत-नेपाल ईंधन के ट्रांसपोर्ट पर खर्च में कमी आएगी.

• इस परियोजना से नेपाल के लिए समुचित लागत और पर्यावरण अनुकूल पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति सुनिश्चित होगी.

• प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आने वाले दिनों में दोनों देशों के बीच साझेदारी बढ़ाई जाएगी. यह परियोजना दोनों देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है और इससे दोनों देश को आर्थिक लाभ होगा.

• बिहार के बेगूसराय जिले में बरौनी रिफाइनरी से दक्षिण पूर्व नेपाल के अमालेखगंज तक जाने वाले पाइपलाइन से ईंधन का ट्रांसपोर्ट किया जाएगा.

• नेपाल ऑयल कार्पोरेशन के अनुसार, 69 किमी लंबे पाइपलाइन के आ जाने से भारत से नेपाल के बीच ईंधन के ट्रांसपोर्ट पर खर्च में काफी ज्यादा कमी आएगी.

पृष्ठभूमि:

इस परियोजना का प्रस्ताव वर्ष 1996 में पेश हुआ था. ये परियोजना कुल 440 करोड़ रुपये की है. इसमें से भारत ने 320 करोड़ रुपये लगाए हैं और नेपाल ने 120 करोड़ का निवेश किया है. इस परियोजना को लेकर भारत-नेपाल के बीच अप्रैल 2015 में समझौता हुआ था.

दोनों देशों ने जुलाई में सफलतापूर्वक ऑयल पाइपलाइन के जरिए ट्रांसफर का परीक्षण भी कर लिया था. पीएम मोदी ने इस परियोजना के बारे में कहा की मई 2019 में नेपाल के पीएम की भारत यात्रा के दौरान, हम परियोजना के जल्द उद्घाटन पर सहमत हुए थे.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी ‘राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण’ कार्यक्रम को लॉन्च करेंगे

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS