Search

मार्कोस ट्रायजो न्यू डेवलपमेंट बैंक के अध्यक्ष नियुक्त, जानें विस्तार से

न्यू डेवलपमेंट बैंक की बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की विशेष बैठक का मुख्य उद्देश्य एनडीबी के अगले अध्यक्ष का चुनाव सहित उपाध्यक्ष, चीफ रिस्क ऑफिसर की नियुक्ति और सदस्यता विस्तार शामिल था. वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दौरान नियुक्तियों पर फैसला लिया गया.

May 30, 2020 13:06 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

मार्कोस ट्रायजो को हाल ही में न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) का अगला अध्यक्ष चुना गया है. वे ब्राजील के पूर्व उप-अर्थव्यवस्था मंत्री रह चुके हैं और बहुपक्षीय वित्तीय संस्थान के अध्यक्ष के रूप में भारत के केवी कामथ का स्थान लेंगे. प्रख्यात बैंकर केवी कामथ ने अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद ब्रिक्स के पांच सदस्य देशों के नेतृत्व में एनडीबी के अध्यक्ष के रूप में 27 मई 2020 को पद छोड दिया.

उन्हें वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित की गई एनडीबी की बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की विशेष बैठक के दौरान सर्वसम्मति से चुना गया. वे 7 जुलाई 2020 को एनडीबी के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार ग्रहण करेंगे. वीडियो-कॉन्फ्रेंस में भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया. भारत के अनिल किशोर को एनडीबी के उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया है.

एनडीबी बैठक के मुख्य उद्देश्य

न्यू डेवलपमेंट बैंक की बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की विशेष बैठक का मुख्य उद्देश्य एनडीबी के अगले अध्यक्ष का चुनाव सहित उपाध्यक्ष, चीफ रिस्क ऑफिसर की नियुक्ति और सदस्यता विस्तार शामिल था. वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दौरान नियुक्तियों पर फैसला लिया गया.

न्यू डेवलपमेंट बैंक के बारे में

यह ब्रिक्स (BRICS) देशों द्वारा संचालित एक बहुपक्षीय विकास बैंक है. ब्रिक्स दुनिया की पाँच अग्रणी उभरती अर्थव्यवस्थाओं में ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका है. साल 2014 के ब्रिक्स सम्मेलन में 100 अरब डॉलर की शुरुआती अधिकृत पूंजी के साथ ‘नए विकास बैंक’ की स्थापना का निर्णय किया गया.

बैंक पांच उभरते बाजारों के बीच अधिक से अधिक वित्तीय और विकास सहयोग को बढ़ावा के लिए बनाया गया है. इस बैंक का मुख्य उद्देश्य ब्रिक्स देशों और अन्य उभरती तथा विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की सतत विकास की मूलभूत परियोजनाओं के लिए वित्तीय संसाधन जुटाना है.

एनडीबी की स्थापना एक वैश्विक विकास वित्त संस्थान के रूप में हुई थी. आगे भविष्य में इसकी सदस्यता ब्रिक्स देशों के अलावा अन्य देशों तक विस्तारित की जाएगी. नवीन सदस्यों के एनडीबी में शामिल होने से बैंक की वैश्विक पहुँच मज़बूत होगी तथा क्रेडिट रेटिंग में सुधार होगा. एनडीबी का मुख्यालय शंघाई, चीन में है.

सदस्य देशों को एक-एक अरब डॉलर देगा एनडीबी

एनडीबी ने अपने पांच सदस्य देशों के लिए प्रति सदस्य महामारी से लड़ने के लिए एक अरब डॉलर प्रदान करने का वादा किया है. एनडीबी ने अब तक सदस्य देशों की 55 परियोजनाओं को 16.6 अरब डॉलर की राशि के लिए मंजूरी दी है. साल 2014 में भारत और चीन के बीच हुए एग्रीमेंट में यह फैसला लिया गया था कि एनडीबी शंघाई से बाहर आधारित होगा जबकि एक भारतीय इसका पहला प्रेसीडेंट होगा.

एनडीबी का उपाध्यक्ष नियुक्त

ब्राजील के अनिल किशोर को एनडीबी का उपाध्यक्ष और चीफ रिस्क ओफिसर (सीआरओ) नियुक्त किया गया है. अनिल किशोर हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक के सीआरओ के रूप में सेवारत थे और मई में रिटायर होने वाले थे.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS
Whatsapp IconGet Updates

Latest News