Search

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंगापुर में रुपे कार्ड, भीम और एसबीआई ऐप लॉन्च किया

Jun 1, 2018 10:59 IST
1

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 मई 2018 को सिंगापुर में रुपे कार्ड, भीम और एसबीआई ऐप को लॉन्च किया.

भारत की रूपे डिजिटल भुगतान प्रणाली को सिंगापुर की 33 साल पुरानी नेटवर्क फोर इलेक्ट्रोनिक ट्रांसफर्स (एनईटीएस) से जोड़ा गया है.

रूपे के सभी उपयोक्ता सिंगापुर में उन सभी जगहों पर भुगतान कर पाएंगे जहां एनईटीएस स्वीकार्य है.

इसी तरह सिंगापुर एनईटीएस के धारक भारत में एनपीसीआई ई-कामर्स मर्चेंट वेबसाइट पर आनलाइन खरीद के लिए 28 लाख रूपे प्वाइंट आफ सेल टर्मिनल का इस्तेमाल कर पाएंगे.

यह भी पढ़ें: रेल मंत्रालय ने अत्याधुनिक ई-टिकट प्रणाली का नया यूजर इंटरफेस लांच किया

महत्व:

विश्लेषकों का मानना है कि इस पहल से जहां रूपे भुगतान प्रणाली का अंतरराष्ट्रीयकरण शुरू होगा वहीं इससे अरबों डालर के लेनदेन का मार्ग प्रशस्त होगा. 50 लाख भारतीय सिंगापुर आते हैं या यहां से गुजरते हैं.

                                                       एसबीआई द्वारा यूपीआई

  • बिजनेस इवेंट के दौरान, एसबीआई की सिंगापुर शाखा के एप आधारित रुपया प्रेषण व्यवस्था की शुरुआत भी की.
  • सिंगापुर में काम करने वाले भारतीय कर्मियों के लिये इस एप के जरिये भारत पैसा भेजना आसान होगा.
  • स्टेट बैंक की सिंगापुर में छह शाखायें और आटो टेलर मशीनें (एटीएम) हैं.
  • यह सेवा एसबीआई सिंगापुर के सभी बचत खाता धारकों के लिए उपलब्ध होगी. यूपीआई भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम एवं भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा शुरू किया गया ऑनलाइन भुगतान का एक नया तरीका है.

 

                                                                       भीम ऐप के बारे में

  • भीम ऐप वित्तीय लेनदेन हेतु भारत सरकार के उपक्रम भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम द्वारा आरम्भ किया गया एक मोबाइल ऐप है.
  • इस ऐप का नामकरण भीमराव अम्बेडकर के नाम पर किया गया है.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल पेमेंट को आसान बनाने के लिए 30 दिसम्बर 2016 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में भीम एप को लॉन्च किया था.
  • भीम का मतलब भारत इंटरफेस ऑफ मनी ऐप हैं.

 

                                                                         रुपे कार्ड के बारे में

  • रुपे कार्ड भारत का स्वदेशी भुगतान प्रणाली पर आधारित एटीएम कार्ड है.
  • इसे वीजा और मास्टर कार्ड की तरह प्रयोग किया जाता है.
  • अभी देश में भुगतान के लिए वीजा और मास्टर कार्ड के डेबिट कार्ड तथा क्रेडिट कार्ड प्रचलन में हैं.
  • ये कार्ड विदेशी भुगतान प्रणाली पर आधारित है. रुपे कार्ड को अप्रैल 2011 में विकसित गया था.
  • इसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने विकसित किया है. एनपीसीआई ने रुपे सेवा को अप्रैल 2013 में ही शुरू कर दिया था जबकि कार्ड भुगतान नेटवर्क को पूरी तरह कार्य रूप देने में सामान्यत: पाँच से सात वर्ष लग जाते हैं.
  • रुपे कार्ड परियोजना में 17 बैंकों ने सहयोग दिया है.
 
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK