प्रगति मैदान को विश्वस्तरीय बनाने की तैयारी

जून 2017 तक प्रगति मैदान का 75 फीसदी हिस्सा तोड़ लिया जाएगा. साथ ही नए प्रगति मैदान का निर्माण कार्य भी आरंभ कर दिया जाएगा. प्रगति मैदान को न केवल विश्वस्तरीय बनाया जाएगा. अपितु इसको विश्वस्तरीय प्रदान की जाएंगी.

Created On: May 17, 2017 13:16 ISTModified On: May 17, 2017 18:04 IST

 pragati-maidan केंद्र सरकार ने प्रगति मैदान को विश्वस्तरीय बनाने की तैयारी आरम्भ कर दी है. आगामी दो वर्ष में प्रगति मैदान को अपग्रेड कर लिया जाएगा. प्रगति मैदान के पुन: निर्माण में लगभग 2250 करोड़ रूपए की लागत आने का अनुमान है.

लागत के भार को कम करने के लिए प्रगति मैदान का एक हिस्सा प्राइवेट सेंटर को होटल बनाने के लिए बेचा जाएगा.

निर्माण कार्य के बावजूद इस साल और अगले साल यहां ट्रेड फेयर का आयोजन किया जाएगा. इन दो सालों में ट्रेड फेयर के लिए पहले के मुकाबले आधी जगह ही उपलब्ध होगी.

आईटीपीओ प्रमुख एल. सी. गोयल और प्रगति मैदान का निर्मात्री कम्पनी नैशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन के चेयरमैन ए. के. मित्तल के अनुसार ढाई हजार करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट के तहत प्रगति मैदान को तोड़ा जा रहा है.

जून 2017 तक प्रगति मैदान का 75 फीसदी हिस्सा तोड़ लिया जाएगा. साथ ही नए प्रगति मैदान का निर्माण कार्य भी आरंभ कर दिया जाएगा. प्रगति मैदान को न केवल विश्वस्तरीय बनाया जाएगा. अपितु इसको विश्वस्तरीय प्रदान की जाएंगी.

प्रमुख तथ्य-

  • प्रगति मैदान में इंटीग्रेटिड एग्जीबिशन-कम-कन्वेंशन सेंटर तैयार करने हेतु जुलाई 2019 का टारगेट रखा गया है.
  • इस कार्य हेतु पर्यावरण को छोड़कर बाकी सभी विभागों से एनओसी प्रदान की जा चुकी है.
  • प्रगति मैदान में बनने वाला कन्वेंशन सेंटर, क्षेत्रफल के अनुसार मौजूदा विज्ञान भवन से भी पांच गुणा बड़ा होगा. इसकी क्षमता 7 हजार लोगों की होगी.
  • एग्जीबिशन के लिए एक लाख 22 हजार वर्ग मीटर स्पेस उपलब्ध होगा. कन्वेंशन सेंटर में ग्लास फेसेड भी लगा होगा. शीशे से लोग इंडिया गेट भी देख पाएंगे.
  • CA eBook

  • इसके अलावा प्रगति मैदान में चार एम्फी और इसके अलावा एक लाख वर्ग मीटर में कुछ इस तरह के सात आधुनिक एक्जीबिशन सेंटर बनेंगे.
  • 15 एकड़ के ओपन एक्जीबिशन एरिया में 3000 लोगों की क्षमता वाले 4 एम्पीथियेटर्स निर्माण भी किए जाएंगे.

प्रगति मैदान में हैलीपेड भी होगा-
32 मीटर ऊंचे कन्वेंशन सेंटर के ऊपर तीन हेलीपैड का निर्माण भी किया जाएगा.

सिग्नल फ्री ट्रैफिक इंटरवेंशन पर 800 करोड़ की लागत-

  • आए दिन जाम की समस्या के समाधान हेतु गाड़ियों की आवाजाही के लिए पुराना किला रोड से रिंग रोड तक करीब 1 किलोमीटर लंबी सुरंग का निर्माण भी किया जाएगा.
  • प्रगति मैदान को चारों तरफ से जोड़ने वाली सड़कों पर कई अंडरपास का भी निर्माण किया जाएगा.
  • यहीं से प्रगति मैदान की 4800 गाड़ियों की पार्किंग तक जाया जा सकेगा.
  • काम के दौरान भी यहां होने वाले कार्यक्रम चलते रहेंगे.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

7 + 9 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now