शोधकर्ताओं ने दो घंटे में गैर-आक्रामक रूप से कैंसर सेल समाप्त करने की विधि विकसित की

ट्यूमर में नाइट्रोबेन्ज़ालडीहाइड नामक केमिकल डाला जाता है जिससे यह टिश्यू में जाकर उसपर अपना प्रभाव डालता है. डोविन के इस शोध को 27 जून 2016 को द जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल ऑन्कोलॉजी में प्रकाशित किया गया.

Created On: Jun 30, 2016 15:05 ISTModified On: Jun 30, 2016 15:10 IST

Tumour Cellsयूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्सास स्थित सैन एंटोनियो डिपार्टमेंट ऑफ़ बायोलॉजी (यूटीएसए) के एसोसिएट प्रोफेसर मैथ्यू डोविन ने हाल ही में कैंसर सेल्स को समाप्त करने की नयी विधि का पेटेंट प्राप्त किया.

डोविन के इस शोध को 27 जून 2016 को द जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल ऑन्कोलॉजी में प्रकाशित किया गया.

इस शोध से जिन लोगों के ऑपरेशन अथवा ट्यूमर को ठीक करने के उपायों में परेशानी आती है उनका उपचार किया जा सकेगा.

विधि का आविष्कार

•    इसके अनुसार ट्यूमर में नाइट्रोबेन्ज़ालडीहाइड नामक केमिकल डाला जाता है जिससे यह टिश्यू में जाकर उसपर अपना प्रभाव डालता है.

•    लेजर बीम से उपचार के दौरान टिश्यू एसिडिक हो जाते हैं लेकिन इस उपचार द्वारा टिश्यू को समाप्त होना पड़ता है.

•    शोध में पाया गया कि दो घंटे में लगभग 95 प्रतिशत कैंसर सेल मर चुके थे.

इस विधि की उपयोगिता

•    डोविन ने इसका प्रयोग नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर पर किया, कैंसर का यह रूप महिलाओं में पाया जाने वाला सबसे अधिक रूप है.

•    इस प्रकार के कैंसर के बारे में किसी भी तरह का पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता.

•    प्रयोगशाला में चूहों पर किये गये एक अध्ययन के अनुसार ट्यूमर ने बढ़ना रोक दिया जिससे चूहे के जीवित रहने की संभावना दोगुनी हो गयी.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

0 + 6 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now