Search

केवल दो देशों के पास हैं विश्व के 92% परमाणु हथियार: SIPRI रिपोर्ट

Jun 21, 2018 09:20 IST
प्रतीकात्मक फोटो
1

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) द्वारा परमाणु हथियारों से जुड़ी रिपोर्ट जारी की गई है. रिपोर्ट के अनुसार केवल दो देशों के पास दुनियाभर के 92 प्रतिशत परमाणु हथियार मौजूद हैं.

रिपोर्ट में भारत, पाकिस्तान और चीन के परमाणु हथियारों की संख्याओं का भी विवरण दिया गया है. सीपरी (SIPRI) की इस रिपोर्ट के अनुसार अभी विश्व में लगभग 14,650 परमाणु शस्त्र  मौजूद हैं.

SIPRI रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

•    रूस के पास 6850 और अमेरिका के पास करीब 6450 परमाणु शस्त्र  मौजूद हैं जो कि विश्व में सबसे अधिक हैं.

•    रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के पास परमाणु हथियारों की संख्या 140-150 है जबकि भारत के पास 130-140 परमाणु हथियार हैं.

•    सीपरी के अनुसार चीन के पास भारत और पाकिस्तान दोनों से अधिक 280 परमाणु हथियार हैं.

•    रिपोर्ट के अनुसार इज़रायल के पास लगभग 80, फ्रांस के पास 300 और ब्रिटेन के पास लगभग 215 परमाणु हथियार हैं.

•    अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, चीन, भारत, पाकिस्तान, इजरायल और उत्तर कोरिया के पास इस साल की शुरुआत में 14 हजार 465 परमाणु हथियार थे, जिनमें से 3,750 को तैनात किया जा चुका है.

•    रिपोर्ट के मुताबिक इस वक्त दुनिया में 14465 परमाणु हथियार हैं। जबकि 2017 में इनकी संख्या 14935 थी.

•    रिपोर्ट में कहा गया कि दुनिया की परमाणु शक्तियां अब इन हथियारों को धीरे-धीरे कम कर रही हैं लेकिन चिंता की बात ये शक्तियां परमाणु हथियारों का आधुनिकीकरण भी कर रही हैं.

 

यह भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने स्पेस फ़ोर्स गठित करने का निर्देश जारी किया

 

विभिन्न देशों में परमाणु हथियारों की स्थिति

देश

परमाणु हथियार

रूस

6850

अमेरिका

6450

फ्रांस

300

ब्रिटेन

215

चीन

280

पाकिस्तान

140-150

भारत

130-140

इज़रायल

80

उत्तर कोरिया

10-20

 

भारत के संदर्भ में

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार भंडार का विस्तार कर रहे हैं और नए जमीन, समु्द्र और वायु में मार करने वाले मिसाइल डिलिवरी सिस्टम का विकास कर रहे हैं. चीन भी अपने परमाणु हथियार प्रणाली का विकास कर रहा है और धीरे-धीरे अपने परमाणु हथियारों का जखीरा बढ़ा रहा है. चीन लगातार अपने परमाणु हथियार प्रणाली का आधुनीकिकरण कर रहा है और अपने हथियारों के आकार को छोटा बना रहा है.

 
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK