टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 02 मार्च 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 02 मार्च 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-कोरोना वायरस और शून्य भेदभाव दिवस आदि शामिल हैं.

Created On: Mar 2, 2020 18:15 ISTModified On: Mar 2, 2020 17:34 IST

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 02 मार्च 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से-कोरोना वायरस और शून्य भेदभाव दिवस आदि शामिल हैं.

दिल्ली में मिला कोरोना वायरस (COVID-19) का पहला मरीज, जानें इसके लक्षण और बचाव

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली में जिस मरीज को कोरोना वायरस से पीड़ित पाया गया है, वह इटली से आया था. दूसरा मरीज दुबई से आया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, नए मामले सामने आने के बाद मरीजों पर बारीक नजर रखी जा रही है.

फिलहाल दोनों मरीजों की हालत स्थिर है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने 02 मार्च 2020 को बताया इस महामारी से विश्वभर में 3,000 लोगों की जान चली गई है और 88,000 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं. डब्ल्यूएचओ ने कोराना वायरस को ‘कोविड-19’ नाम दिया है.

शून्य भेदभाव दिवस 2020: UNAIDS का महिलाओं के प्रति शून्य भेदभाव का आह्वान

शून्य भेदभाव दिवस 2020 का मुख्य उद्देश्य उन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करना है, जिनमें सभी महिलाओं और लड़कियों के लिए समानता को सक्षम करने हेतु तत्काल बदलाव की आवश्यकता है. संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रत्येक साल 01 मार्च को शून्य भेदभाव दिवस मनाया जाता है.

शून्य भेदभाव दिवस की शुरुआत 01 मार्च 2014 को UNAIDS के कार्यकारी निदेशक द्वारा की गई थी. इस दिन महिलाओं के अधिकारों, महिला सशक्तिकरण एवं लैंगिक समानता को बढ़ावा देने हेतु जागरुकता फैलाने का काम किया जाता है.

भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था: रिपोर्ट

रिपोर्ट के अनुसार भारत की जीडीपी पिछले साल 2.94 लाख करोड़ डॉलर (209 लाख करोड़ रुपए) के स्तर पर पहुंच गई. यह जानकारी अमेरिका के रिसर्च इंस्टीट्यूट वर्ल्ड पॉपुलेशन रिव्यू ने एक रिपोर्ट से दी है. हाल ही में भारतीय अर्थव्यवस्था ने साल 2019 में ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़ दिया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 1990 के दशक में आर्थिक उदारीकरण शुरू हुआ था. रिपोर्ट के मुताबिक भारत का सर्विस सेक्टर दुनिया के तेजी से बढ़ते सेक्टर में से एक है. देश की इकोनॉमी में इसका 60 प्रतिशत और रोजगार में 28 प्रतिशत योगदान है.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सुपोषित माँ अभियानलॉन्च किया

ओम बिड़ला के अनुसार “सुपोषित माँ अभियान” देश में किशोरियों और गर्भवती महिलाओं का के लिए लाभकारी सिद्ध होगा. इस अभियान का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों के स्वास्थ्य को दुरुस्त बनाए रखना है.

सुपोषित माँ अभियान हमारी भावी पीढ़ियों को स्वस्थ बनाए रखने का एक विशेष अभियान है. इस अभियान की योजना के मुताबिक, बारह महीने के लिए 1000 महिलाओं को एक महीने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन दिया जाएगा.

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Whatsapp IconGet Updates

Just Now