Search

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 18 जुलाई 2019

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 18 जुलाई 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से -कुलभूषण जाधव और चंद्रयान-2 आदि शामिल हैं.

Jul 18, 2019 18:10 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 18 जुलाई 2019 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से -कुलभूषण जाधव और चंद्रयान-2 आदि शामिल हैं.

पाक को एक और झटका, कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक

भारत के कुलभूषण जाधव के पक्ष में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आइसीजे) ने बड़ा फैसला सुनाया है. आइसीजे ने अपने फैसले में कहा कि कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगेगी और कूलभूषण जाधव के केस पर फिर से नए सिरे से विचार होगा. आइसीजे ने पाकिस्तान को वियना समझौते का पालन नहीं करने पर फटकार लगाई है और कहा है कि भारतीय राजनयिकों को जाधव से मिलने की इजाजत (काउंसिलर एक्सेस) दी जाए.

पाकिस्तान ने इस समझौते की धारा 36 के अंतर्गत कुलभूषण जाधव को उसके अधिकार के बारे में नहीं बताया. पाकिस्तान ने भारत को भी कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बारे में तुरंत नहीं बताया और भारतीय राजनयिकों को जाधव से मिलने की इजाजत (काउसंलर एक्सेस) नहीं दी. भारत को अपने नागरिक तक राजनयिक पहुंच बनाने की इजाजत दी जानी चाहिए थी, ताकि उसे सही कानूनी प्रतिनिधित्व दिया जा सके.

Chandrayaan-2: इसरो द्वारा 22 जुलाई को लॉन्च की घोषणा

18 जुलाई 2019 को इसरो ने घोषणा किया कि चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग श्रीहरिकोटा से 22 जुलाई को होगी. इसरो ने ट्वीट किया कि चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग 15 जुलाई को होनी थी, जो तकनीकी खराबी के कारण टाल दी गई थी. इसरो ने एक हफ्ते के अंदर सभी तकनीकी खामियों को ठीक कर लिया है. इसरो की ओर से एक आधिकारिक सूचना जारी की गई है जिसमें कहा गया है की 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2:43 बजे चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाएगा.

चंद्रयान-2 एक अंतरिक्ष यान है. इसके तीन सबसे अहम हिस्से लैंडर, ऑर्बिटर और रोवर हैं. चंद्रयान-2 दस साल के भीतर भारत का चंद्रमा पर भेजा जाने वाला दूसरा अभियान है. भारत ने इससे पहले अक्टूबर 2008 में चंद्रयान-1 चंद्रमा की कक्षा में भेजा था. भारत चंद्रयान-2 की सफलता के साथ ही अमेरिका, रूस और चीन के बाद धरती के इस उपग्रह पर अंतरिक्ष यान उतारने वाला चौथा देश बन जाएगा. 

Nelson Mandela Day 2019: कुछ ऐसा था नेल्सन मंडेला के योगदान

नेल्सन मंडेला दिवस विश्वभर में 18 जुलाई 2019 को मनाया जाता है. रंगभेद के विरुद्ध लड़ाई लड़नेवाले विश्व नेता के रूप में नेल्सन मंडेला को जाना जाता है. मंडेला दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों को बेहतर कार्यों के प्रति जागरूक करना तथा उन्हें अच्छे उद्देश्यों हेतु एक दूसरे का सहयोग करने के लिए प्रेरित करना है. नेल्सन मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को दक्षिण अफ़्रीका में हुआ था.

नेल्सन मंडेला ने रंगभेद के विरुद्ध आवाज उठाई थी. इसी कारण साल 1956 में उनके साथ 155 कार्यकर्ताओं पर मुकदमा चलाया गया जिसे चार साल बाद खत्म कर दिया गया. उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था के लिए भी अभियान चलाया था. उन्हें साल 1964 से साल 1990 तक रंगभेद और अन्याय के खिलाफ लड़ाई के चलते जेल में जीवन के 27 साल बिताने पड़े.

केंद्रीय खेल मंत्री ने स्मृति मंधाना और रोहन बोपन्ना को अर्जुन अवॉर्ड दिया

स्मृति मंधाना और रोहन बोपन्ना ने अर्जुन अवॉर्ड मिलने पर खुशी जताई है. गौरतलब है कि 25 सितंबर 2018 को राष्ट्रपति भवन में आयोजित पुरस्कार समारोह के दौरान दोनों खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार नहीं मिला था, क्योंकि वे अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए देश से बाहर थे. किरन रिजिजू ने खेल और देश में योगदान के लिए दोनों खिलाड़ियों की प्रशंसा की.

अर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों को दिये जाने वाला एक पुरस्कार है. स्मृति मंधाना एक भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है. वे मुख्य रूप से बांए हाथ से बल्लेबाजी करती है. उन्होंने साल 2016 में आईसीसी महिला टीम में शामिल होने वाले एकमात्र भारतीय महिला खिलाड़ी थी. रोहन बोपन्ना एक भारतीय पेशेवर टेनिस खिलाड़ी है. वे मिक्स डबल्स का फ्रेंच ओपन खिताब जीत चुके हैं और युगल में उनकी सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग तीन रही है.

Download our Current Affairs& GK app from Play Store

 

Whatsapp IconGet Updates