दिलीप कुमार का 98 वर्ष की उम्र में निधन, जानें उनके बारे में सबकुछ

अभिनेता पिछले कुछ दिनों से उम्र से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर रहे थे और उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 

Created On: Jul 7, 2021 10:20 ISTModified On: Jul 7, 2021 10:27 IST

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का 07 जुलाई 2021 को सुबह में निधन हो गया है. वे 98 साल के थे. उनकी तबीयत लंबे समय से ठीक नहीं थी. उन्हें कई बार हॉस्पिटल में भी भर्ती करना पड़ा था. दिलीप कुमार की निधन की खबर से फिल्म इंडस्ट्री में शोक पसर गया है. बॉलीवुड हस्तियों ने भी सोशल मीडिया पर दिलीप के निधन पर शोक जताया है.

अभिनेता पिछले कुछ दिनों से उम्र से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं का सामना कर रहे थे और उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें 30 जून को मुंबई के हिंदुजा अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती कराया गया था. दिलीप कुमार के निधन से उनके फैंस के बीच शोक की लहर दौड़ गई है.

निधन की पुष्टि

दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने एक्टर के ट्विटर से उनके निधन की जानकारी दी. उन्होंने लिखा- बहुत भारी दिल से ये कहना पड़ रहा है कि अब दिलीप साब हमारे बीच नहीं रहे. ये खबर मिलते ही इंडस्ट्री में शोक की लहर है. सभी सितारे  उनके निधन पर दुख व्यक्त कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि दिलीप कुमार जी को एक सिनेमाई किंवदंती के रूप में याद किया जाएगा. उन्हें अद्वितीय प्रतिभा का आशीर्वाद प्राप्त था, जिसके कारण पीढ़ियों के दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए थे. उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है. उनके परिवार, दोस्तों और असंख्य प्रशंसकों के प्रति संवेदना. श्रद्धांजलि.

दिलीप कुमार की फिल्मी करियर

दिलीप कुमार ने अपने एक्टिंग की शुरुआत साल 1944 में फिल्म ज्वार भाटा से की थी. इसे बॉम्बे टॉकीज ने प्रोड्यूस किया था. लगभग पांच दशक के एक्टिंग करियर में 65 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. दिलीप कुमार की कुछ फिल्में- अंदाज (1949), आन (1952), दाग (1952), देवदास (1955), आजाद (1955), मुगल-ए-आजम (1960),  गंगा जमुना (1961), राम और श्याम (1967) जैसी फिल्मों में नज़र आए हैं.

1976 में दिलीप कुमार ने काम से पांच साल का ब्रेक लिया. उसके बाद साल 1981 में उन्होंने क्रांति फिल्म से वापसी की. इसके बाद वो शक्ति (1982), मशाल (1984), करमा (1986), सौदागर (1991). उनकी आखिरी फिल्म किला (Qila) थी जो 1998 में रिलीज हुई.

दिलीप कुमार के बारे में

दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद युसूफ खान था. उनका जन्म 11 दिसंबर 1922 को पाकिस्तान में हुआ था. उन्हें हिंदी सिनेमा में The First Khan के नाम से जाना जाता है. हिंदी सिनेमा में मेथड एक्टिंग का क्रेडिट उन्हें ही जाता है.

एक्टर ने अपना नाम एक प्रोड्यूसर के कहने पर बदला था, जिसके बाद उन्हें स्क्रीन पर दिलीप कुमार के नाम से लोग जानने लगे. दिलीप कुमार ने अपने करियर में एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी है और दर्शकों का मनोरंजन किया है.

दिलीप कुमार को बॉलिवुड का 'ट्रेजिडी किंग' का नाम दिया गया था. उनके 12 भाई-बहन थे और वे तीसरे नंबर के थे. उनके पिता 1930 के दशक में मुंबई आ गए थे, वे यहां अपना फलों का कारोबार स्थापित करना चाहते थे.

पुरस्कार-सम्मान

दिलीप कुमार को आठ फिल्मफेयर अर्वाड मिल चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा अवॉर्ड जीतने के लिए दिलीप कुमार का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है. दिलीप कुमार को साल 1991 में पद्म भूषण और 2015 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया. उन्हें साल 1994 में दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा गया. वे साल 2000 से 2006 तक राज्य सभा के सदस्य भी रहे. वे 1998 में पाकिस्तान के सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान ‘निशान-ए-इम्तियाज’ से भी सम्मानित किए गए.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

7 + 0 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now