Search
  1. Home
  2. अर्थव्यवस्था
View in English

अर्थव्यवस्था

  • भारत में आधार कार्ड के बिना कौन सी सेवाओं का उपयोग नहीं किया जा सकता?

    वर्तमान मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए अपनी प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए जोरदार पहल करते हुए सामान्य लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी से जुडी 6 सेवाओं जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, एलपीजी कनेक्‍शन, इनकम टैक्‍स रिटर्न, रेलवे टिकट बुकिंग और पासपोर्ट को 1 जुलाई से आधार कार्ड से जोड़ने का फैसला किया है l

    Mar 28, 2017
  • शेयर बाजार में इस्तेमाल किए जाने वाले 23 सबसे महत्वपूर्ण शब्द

    भारत में मुख्य रूप से 2 स्टॉक एक्सचेंज हैं: बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE)l बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज दलाल स्ट्रीट, मुंबई, महाराष्ट्र, भारत में स्थित एक भारतीय शेयर बाजार है। सन 1875 में स्थापित, बीएसई एशिया का पहला स्टॉक एक्सचेंज हैl बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज, 30 बड़ी कंपनियों के बाजार मूल्य में उतार चढ़ाव की गणना करता हैl ये सभी शब्द बैंकिंग सामान्य ज्ञान के लिए बहुत उपयोगी हैंl

    Mar 27, 2017
  • मोदी सरकार की प्रमुख योजनायें

    लोकतांत्रिक रूप से चुनी गयी सरकार लोगों के कल्याण के लिए समर्पित मानी जाती हैl इस कसौटी पर खरा उतरते हुए मोदी सरकार ने समाज के सभी वर्गों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए बहुत सी नयी योजनायें बनायी हैंl उदाहरण के तौर पर अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, ग्रामोदय से भारत उदय और सेतु भारतम योजना का नाम लिया जा सकता है l

    Mar 24, 2017
  • शेयर बाजार में सेबी के मुख्य कार्य क्या हैं?

    भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) भारत में प्रतिभूति और वित्त का नियामक बोर्ड है। इसकी स्थापना 12 अप्रैल 1988 में हुई थीl इसका मुख्यालय मुंबई में हैl सेबी को सांविधिक निकाय का दर्जा 1992 में दिया गया थाl भारत में शेयर बाजार इसी संस्था के दिशा निर्देशों पर चलता हैl सेबी के वर्तमान चेयरमैन अजय त्यागी हैं l

    Mar 17, 2017
  • केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं के लिए 2017-18 के बजट में आवंटन

    भारत एक संघ शासित लोकतांत्रिक देश है इसी कारण सरकार सभी क्षेत्रों और समाज के विभिन्न वर्गों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर कल्याणकारी योजनाओं को बनाती है | इस लेख में हमने ऐसी ही कुछ योजनाओं के लिए हाल ही में प्रस्तुत किये गए बजट में आवंटित की गयी राशि का ब्यौरा दिया हैl

    Mar 17, 2017
  • भारत सरकार की आय और व्यय के स्रोत क्या हैं

    भारत सरकार ने 2017-18 के बजट में बताया था सरकार की कुल आय 2146735 करोड़ थी जबकि वित्तीय घाटा 5,46,532 करोड़ , राजस्व घाटा 3,21,163 करोड़ और प्राथमिक घाटा 23,544 करोड़ रुपये था l इन तीनों घाटों से स्पष्ट है कि सरकार की आय उसके व्यय से कम थी| सरकार इस घाटे को पूरा करने के लिए हीनार्थ प्रबंधन (Deficit Financing) का सहारा लेती है|

    Mar 16, 2017
  • डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के 9 प्रमुख स्तंभ

    डिजिटल इंडिया ज्ञान आधारित बदलाव के लिए भारत को तैयार करने और केंद्र सरकार और स्थानीय सरकार दोनों के सहयोग और समन्वित भागीदारी से लोगों को सुशासन प्रदान करने के लिए एक प्रतिबद्ध कार्यक्रम है। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम मुख्यतः तीन प्रमुख क्षेत्रों, प्रत्येक नागरिक को डिजिटल सुविधा, मांग पर आधारित प्रशासन और सेवा तथा प्रत्येक नागरिक के डिजिटल सशक्तिकरण पर आधारित हैl इस लेख में हम प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के 9 प्रमुख स्तंभों का विवरण दे रहे हैंl

    Mar 16, 2017
  • भारतीय रिज़र्व बैंक के मुख्य कार्य क्या हैं

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) भारत का सर्वोच्च मौद्रिक प्राधिकरण हैl यह संगठन भारतीय अर्थव्यवस्था में नोटों की छपाई और पैसों की आपूर्ति का प्रबंधन करने के लिए जिम्मेदार हैl भारतीय रिजर्व, बैंक विदेशी मुद्रा का संरक्षक, वाणिज्यिक बैंकों का बैंक, भारत सरकार का बैंक और क्रेडिट नियंत्रक के तौर पर काम करता हैl

    Mar 16, 2017
  • भारतीय शेयर बाज़ार में उतार चढ़ाव क्यूँ और कैसे होता है ?

    सेंसेक्स नाम का शब्द अंग्रेजी के 'Sensitive Index' से लिया गया है Sens + Ex, इसे हिंदी में संवेदी सूचकांक भी कहा जाता है| जैसा कि इसके नाम से स्पष्ट होता है कि एक ऐसा सूचकांक जो कि बहुत ही ज्यादा संवेदनशील (Sensitive) हो, उसे ही सेंसेक्स के नाम से पुकारा जाता है| शेयर बाज़ार में उतार चढ़ाव के लिए अच्छा मानसून, सकारात्मक बजट, सहयोगी मौद्रिक नीति, सरकार की नीतियां आदि जिम्मेदार होते हैं l

    Mar 9, 2017
  • भारत में पैसा छापने का निर्णय कौन करता है?

    भारतीय रिजर्व बैंक के पास भारतीय मुद्रा को मुद्रित करने की शक्ति है, हालांकि ज्यादातर फैसलों को भारत सरकार द्वारा ही अंतिम रूप दिया जाता है| उदाहरण के लिए, सरकार यह तय करती है कि किस मूल्यवर्ग (denominations) के कितने नोट छापे जायेंगे और नोटों का डिज़ाइन क्या होगा उनमे कौन-कौन से सुरक्षा मानक रखे जायेंगे|

    Mar 8, 2017
  • भारत में नये नोटों को छापे जाने की क्या प्रक्रिया होती है

    भारतीय रिजर्व बैंक को भारत का केन्द्रीय बैंक भी कहा जाता है | यह संस्था भारत की सबसे बड़ा मौद्रिक प्राधिकरण (monetary authority) है| भारतीय रिजर्व बैंक 2 रुपये से लेकर 2000 रुपये तक के नोटों को छापती है| एक रुपये के नोट को छापने और सिक्कों के बनाने का अधिकार भारतीय रिजर्व बैंक के पास नही है बल्कि वित्त मंत्रालय के पास है |

    Mar 7, 2017
  • मुद्रा क्या होती है और यह कितने प्रकार की होती है

    सामान्य अर्थों में ‘मुद्रा’ सिर्फ उस वस्तु को कहते हैं जिसको केंद्र सरकार ने सिक्कों या नोटों के रूप में छापा है परन्तु मुद्रा की सर्व व्यापक परिभाषा यह है कि “मुद्रा वह है जो कि मुद्रा का कार्य करे”|भारत में पत्र मुद्रा को निर्गत करने का अधिकार भारतीय रिजर्व बैंक को है जबकि इस पर लिखी गयी राशि के भुगतान का अंतिम दायित्व भारत सरकार का होता है| सभी सिक्कों और एक रुपये के नोट बनाने का अधिकार भारत सरकार के वित्त मंत्रालय का पास है |

    Mar 3, 2017
  • विश्व के सबसे बड़े निवेशक वॉरेन बफेट के बारे में 11 रोचक तथ्य

    ‘वारेन बफेट’ आज दुनिया के तीसरे सबसे अमीर आदमी हैं उनकी वर्तमान संपत्ति 63 अरब डॉलर है| बचपन में ‘वाशिंगटन पोस्ट’ नाम के समाचार पत्र को बाँट कर मात्र 175 डॉलर प्रति महीने कमाने वाले बफेट आज पूरी दुनिया में सबसे बड़े निवेशक के तौर पर जाने जाते हैं| इस लेख में हमने ‘वारेन बफेट’ से जुड़े उन तथ्यों के बारे में बताया है जो कि आज से पहले बहुत ही कम लोगों को पता थे |

    Mar 2, 2017
  • भारत के 8 सबसे अमीर शहरों की सूची

    दक्षिण अफ्रीका के संगठन न्यू वर्ल्ड वेल्थ रिपोर्ट द्वारा जारी हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीयों की कुल संपत्ति 6,200 अरब डॉलर (दिसम्बर 2016 तक) है और पिछले 6 महीने के दौरान इसमें लगभग 10% की वृद्धि हुई है| इस रिपोर्ट के अनुसार मुंबई भारत का सबसे अमीर शहर है और मुंबई की कुल संपत्ति लगभग 820 अरब डॉलर है| इस रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान में भारत में 2,64,000 करोड़पति और 95 अरबपति है, जबकि कुल संपत्ति के मामले में भारत दुनिया में छठे नंबर पर है| इस लेख में हम भारत के 8 सबसे अमीर शहरों का विवरण दे रहे हैं|

    Feb 28, 2017
  • भारतीय अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा

    प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI), विदेश में स्थित कंपनियों में विदेशी निवेशकों द्वारा किया गया निवेश है। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं, पहला ग्रीन फील्ड निवेश (इसके तहत दूसरे देश में एक नई कम्पनी स्थापित की जाती है) और दूसरा पोर्टफोलियो निवेश (इसके तहत किसी विदेशी कंपनी के शेयर खरीद लिए जाते हैं या विदेशी कंपनी का अधिग्रहण कर लिया जाता है)|

    Feb 28, 2017