Search
  1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. अर्थव्यवस्था
View in English

अर्थव्यवस्था

  • भारतीय रिज़र्व बैंक सोना क्यों खरीदता है?

    वित्त वर्ष 2017-18 की जून तिमाही में RBI ने 8.46 मीट्रिक टन सोना खरीदा है. इससे पहले RBI ने नवंबर 2009 में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से 200 मीट्रिक टन सोना खरीदा था. रिजर्व बैंक की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, अब उसके सोने का भंडार 566.23 मीट्रिक टन पहुंच गया है. इस लेख में बताया गया है कि RBI ने इस सोने की खरीद क्यों की है.

    10 hrs ago
  • भारत की सभी पंचवर्षीय योजनाओं की सूची

    भारत में आर्थिक नियोजन की अवधारणा रूस (तब यूएसएसआर) से ली गई थी. आर्थिक नियोजन वह प्रक्रिया है जिसमें वांछित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सीमित प्राकृतिक संसाधनों का कुशलतापूर्वक उपयोग किया जाता है. भारत ने अब तक 12 पंचवर्षीय योजनाएं लॉन्च की हैं और वर्तमान NDA सरकार ने भारत में पंचवर्षीय योजनाओं को बनाना बंद कर दिया है. भारत की पहली पंचवर्षीय योजना 1951 में शुरू की गई थी.

    3 days ago
  • बिटकॉइन (Bitcoin) मुद्रा क्या है और कैसे काम करती है?

    वर्तमान समय में सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली मुद्रा बिट कॉइन (Bitcoin) है. बिटकॉइन डिजिटल मुद्रा का एक रूप है सरल शब्दों में, यह एक गणितीय संरचना है जो एल्गोरिदम पर चलता है. इसे किसने विकसित किया था इसके बारे में कोई भी ठोस सबूत नही है लेकिन छदम रूप से इसके संस्थापक का नाम ‘सोतशी नाकामोतो’ माना जाता हैl जिस तरह रुपए, डॉलर और यूरो खरीदे जाते हैं, उसी तरह बिटकॉइन की भी खरीद होती है। ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको पारम्परिक मुद्राओं में भी बदला जाता है.

    Sep 11, 2019
  • भारत में बैंकों का विलय: अर्थ और लाभ

    अगस्त 30, 2019 को भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को 4 बड़े बैंकों में विलय करने की घोषणा की थी. इस विलय के बाद अब देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या 27 से घटकर 12 हो गई है. आइये इस लेख में जानते हैं कि इस विलय की प्रक्रिया के बाद बैंकों की ताकत किस प्रकार प्रभावित होगी और यह विलय देश के विकास में किस प्रकार सहायक होगा?

    Sep 3, 2019
  • G-7 और G–20 क्या है: इनके कार्य और सम्मलेन

    G–7 नामक संगठन की स्थापना विश्व के 7 विकसित देशों ने 1975 में की थी. इसमें रूस को शामिल करने पर यह G-8 कहलाता है लेकिन फ़िलहाल रूस इस संगठन से बाहर है . विश्व के विकसित देशों ने इंटरनेशनल लेवल पर विश्व के समक्ष मुद्दों पर विचार विमर्श करने या किसी वैश्विक समस्या को हल करने के लिए G–7 नामक संगठन बनाया था. G-20 विश्व के विकसित और विकासशील देशों का संघ है.

    Aug 26, 2019
  • पाकिस्तान के भारत से व्यापारिक सम्बन्ध ख़त्म; जानें किसका फायदा किसका नुकसान?

    एक रिपोर्ट के अनुसार वित्त वर्ष 2018-2019 में भारत से पाकिस्तान को कुल निर्यात लगभग 2.17 बिलियन डॉलर था जो कि भारत के कुल निर्यात का .83% मात्र है. यही हाल पाकिस्तान की ओर से भारत को किये जाने वाले व्यापार का है. भारत; पाकिस्तान से मुख्य रूप से ताजे फल, सूखे मेवे तैयार चमड़ा इत्यादि मंगवाता है वहीँ पाकिस्तान; भारत से टमाटर, चाय, चीनी, ऑयल केक, सूती धागे, टायर, रबड, डाई और पेट्रोलियम ऑयल इत्यादि आयात करता है.

    Aug 8, 2019
  • क्या आप भारत के सभी वेतन आयोगों का इतिहास जानते हैं?

    भारत में अब तक 7 वेतन आयोगों का गठन किया गया है. भारत में पहले वेतन आयोग का गठन जनवरी, 1946 में श्रीनिवास वरादाचरियर की अध्यक्षता में स्थापित किया गया था. देश में वेतन आयोग का गठन हर 10 साल के अन्तराल पर सरकारी कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि के लिए किया जाता है.

    Aug 3, 2019
  • भारत सरकार और आरबीआई के बीच रिज़र्व फण्ड ट्रान्सफर विवाद क्या है?

    अगस्त 2019 में भारतीय रिज़र्व बैंक ने मोदी सरकार को 24.8 अरब डॉलर यानी लगभग 1.76 लाख करोड़ रुपए लाभांश और सरप्लस पूंजी के तौर पर देने का फ़ैसला किया है. उम्मीद की जा रही है कि सरकार इस रूपये को वित्तीय संस्थाओं को सौंप सकती है जो कि वित्तीय कमी से गुजर रहे हैं. हालाँकि विपक्ष रिज़र्व बैंक के इस कदम की आलोचना कर रहा है.

    Aug 1, 2019
  • भारत में सिक्का ना लेने पर क्या सजा हो सकती है?

    वर्तमान में भारत में सिक्का बनाने का काम सिक्का अधिनियम, 2011 के अनुसार किया जाता है. ध्यान रहे कि भारत में नोटों को प्रिंट करने का काम भारतीय रिज़र्व बैंक; भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार करता है जबकि सिक्के वित्त मंत्रालय के द्वारा बनवाए जाते हैं. सिक्का अधिनियम, 2011 जम्मू-कश्मीर सहित पूरे भारत में लागू है. भारत में कुछ राज्यों में दुकानदार और लोग सिक्के लेने से मना कर रहे हैं. आइये जानते हैं कि क्या ऐसा करना अपराध की श्रेणी में आता है?

    Jul 19, 2019
  • भारत में सिक्कों का आकार क्यों घटता जा रहा है?

    देश में करेंसी नोटों को छापने के कार्य रिज़र्व बैंक के द्वारा किया जाता है जबकि सिक्कों को बनाने का काम वित्त मंत्रालय के द्वारा किया जाता है. भारत सरकार कोशिश करती है कि किसी भी सिक्के की मेटलिक वैल्यू उसकी फेस वैल्यू से कम ही रहे क्योंकि यदि ऐसा नही होगा तो लोग सिक्के को पिघलाकर उसकी धातु को बाजार में बेच देंगे जिसके कारण भारत के बाजर से सिक्के गायब हो जायेंगे. सिक्कों की मेटलिक वैल्यू घटाने के लिए सरकार उनका आकार छोटा कर रही है.

    Jul 8, 2019
  • कैसे जानें आपका आधार कार्ड कहाँ कहाँ इस्तेमाल किया गया है?

    आजकल सरकार के द्वारा पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए हर छोटे बड़े काम के लिए "आधार" का इस्तेमाल जरूरी कर दिया गया है. लेकिन ऐसा भी देखा गया है की कुछ कम्पनियाँ आपके "आधार" की इनफार्मेशन बेचकर रुपये भी कमा रहीं हैं. ऐसी स्थिति में आपको यह जानना जरूरी हो जाता है कि आपके आधार का इस्तेमाल कहाँ-कहाँ किया गया है?

    Jul 5, 2019
  • भारतीय बजट से जुडी शब्दावली

    बजट सरकार की आय और व्यय का लेखा जोखा होता है अर्थात बजट में यह बताया जाता है कि सरकार के पास रुपया कहां से आया और कहां गया. दरअसल बजट में बहुत से कठिन शब्दों का इस्तेमाल भी किया जाता है जिसके कारण आम लोग इसकी भाषा को ठीक से नही समझ पाते हैं. इसीलिए इस लेख में हमने राजस्व प्राप्तियां, योजनागत व्यय, राजकोषीय घाटा जैसे कुछ शब्दों के बारे में बताया है ताकि वे बजट के प्रभावों को ठीक से समझ सकें.

    Jul 5, 2019
  • सिक्का अधिनियम 2011: भारत में सिक्कों के साथ क्या नहीं कर सकते

    भारतीय रिज़र्व बैंक; भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार मुद्रा नोट्स प्रिंट करता है, जबकि भारत में सिक्के, सिक्का अधिनियम, 2011 के अनुसार बनाये जाते हैं. सिक्का अधिनियम, 2011 जम्मू-कश्मीर सहित पूरे भारत में लागू है. इस लेख के माध्यम से यह बताने का प्रयास किया गया है कि भारत में सिक्कों के इस्तेमाल को लेकर क्या क्या नियम बनाये गए हैं.

    Jul 2, 2019
  • NEFT और RTGS के बीच क्या अंतर है?

    वर्तमान में देश में तीन मुख्य भुगतान प्रणालियाँ प्रचलित हैं: राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण (NEFT), तत्काल सकल निपटान (RTGS) और तत्काल भुगतान सेवा (IMPS). देश में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए RBI ने NEFT और RTGS प्रणालियों के जरिये होने वाले लेन-देन पर शुल्क नहीं लगाने का निर्णय किया है. आरबीआई ने कहा,‘‘बैंकों को भी इसका लाभ अपने ग्राहकों को देना होगा.

    Jul 1, 2019
  • जानें सरकार हर वर्ष बजट क्यों पेश करती है?

    सरकार द्वारा हर साल बजट पेश करने का सीधा मतलब यह है कि सरकार लोगों को यह बताना चाहती है कि सरकार को वर्तमान वित्त वर्ष में वह किन किन योजनाओं पर पैसा खर्च करेगी उसको इस वर्ष किन स्रोतों आय उम्मीद है. यही आंकड़े अगले वर्ष और बीते हुए वित्त वर्ष जारी जाते हैं. अर्थात बजट सरकार की आय और व्यय का लेखा जोखा होता है अर्थात बजट में यह बताया जाता है कि सरकार के पास रुपया कहां से आया और कहां गया ?

    Jul 1, 2019