Search
  1. Home
  2. | कला एवं संस्कृति

कला एवं संस्कृति

Also Read in : English

क्या आप जानते हैं मूर्तिकला और वास्तुकला में क्या अंतर है?

Jul 6, 2018
हम अक्सर मूर्तिकला और वास्तुकला के शाब्दिक अर्थ समझे बिना दोनों को एक समझने की गलती कर देते हैं। असल में, दोनों अलग-अलग शब्द हैं। मूर्तिकला प्रोटो-इंडो-यूरोपीय (पीआईई) शब्द 'केल' से लिया गया है जिसका अर्थ होता है 'कट या क्लीव'। दूसरी ओर, शब्द वास्तुकला लैटिन शब्द 'टेकटन' से लिया गया है जिसका अर्थ होता है निर्माता (बिल्डर) । इस लेख में हमने मूर्तिकला और वास्तुकला में अंतर बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

Latest Videos

जानें कैसे गुरुकुल शिक्षा प्रणाली आधुनिक शिक्षा प्रणाली से अलग है?

Jun 14, 2018
प्राचीन काल से हमारे देश में शिक्षा को एक महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है. हमारे भारत में गुरुकुल परम्परा सबसे पुरानी व्यवस्था है. गुरुकुलम वैदिक युग से ही अस्तित्व में है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं कि गुरुकुल परम्परा क्या है, किस प्रकार से पहले शिक्षा दी जाती थी और आज के युग की आधुनिक शिक्षा गुरुकुल पद्धति से कैसे भिन्न है.

चित्तौड़गढ़ किले के बारे में 10 रोचक तथ्य

May 15, 2018
चित्तौड़गढ़ का किला बेराच नदी (Berach River valley) के किनारे राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में बसा हुआ है. ये राजस्थान का गौरव है और भारत का सबसे बड़ा किला. इसका निर्माण मौर्यों द्वारा सातवीं सदी में हुआ था. आइये इस लेख के माध्यम से चित्तौड़गढ़ किले के बारे में 10 रोचक तथ्यों पर अध्ययन करते हैं.

महादेवी वर्मा के बारे में 10 रोचक तथ्य

Apr 27, 2018
महादेवी वर्मा का जन्म 26 मार्च 1907 को फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था. वह हिन्दी भाषा की प्रख्यात कवयित्री, स्वतंत्रता सेनानी, महिला अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाली महान महिला हैं. उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन महिलाओं की शिक्षा और उनके विकास के लिए समर्पित किया. आइये इस लेख के माध्यम से महादेवी वर्मा के बारे में 10 रोचक तथ्यों को अध्ययन करते हैं.

बुद्ध की विभिन्न मुद्राएं एवं हस्त संकेत और उनके अर्थ

Mar 30, 2018
बुद्ध के अनुयायी, बौद्ध ध्यान या अनुष्ठान के दौरान शास्त्र के माध्यम से विशेष विचारों को पैदा करने के लिए बुद्ध की छवि को प्रतीकात्मक संकेत के रूप में इस्तेमाल करते हैं। भारतीय मूर्तिकला में, मूर्तियाँ देवत्व का प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व करती है, जिसका मूल और अंत धार्मिक और आध्यात्मिक मान्यताओं के माध्यम से व्यक्त किया जाता है।

नाथ सम्प्रदाय की उत्पति, कार्यप्रणाली एवं विभिन्न धर्मगुरूओं का विवरण

Feb 13, 2018
भारत में जब तांत्रिकों और साधकों के चमत्कार एवं आचार-विचार की बदनामी होने लगी और साधकों को शाक्त, मद्य, मांस तथा स्त्री-संबंधी व्यभिचारों के कारण घृणा की दृष्टि से देखा जाने लगा तथा इनकी यौगिक क्रियाएँ भी मन्द पड़ने लगी, तब इन यौगिक क्रियाओं के उद्धार के लिए नाथ सम्प्रदाय का उदय हुआ थाl नाथ सम्प्रदाय हिन्दू धर्म के अंतर्गत शैववाद की एक उप-परंपरा हैl यह एक मध्ययुगीन आंदोलन है जो शैव धर्म, बौद्ध धर्म और भारत में प्रचलित योग परंपराओं का सम्मिलित रूप हैl इस लेख में हम नाथ शब्द का अर्थ, नाथ सम्प्रदाय की उत्पति, उसके प्रमुख गुरूओं तथा इस सम्प्रदाय के क्रियाकलापों का विवरण दे रहे हैंl

गणतंत्र दिवसः भारतीय गणतंत्र की यात्रा

Jan 25, 2018
भारत 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्र हुआ था और तब हमारे देश के पास संविधान नहीं था | 26 जनवरी 1950 को संविधान को अंगीकार किया गया था और उस दिन के बाद से प्रत्येक वर्ष पूरे देश में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में बहुत गर्व और खुशी के साथ मनाया जाता है। यह लेख भारतीय गणतंत्र दिवस के इतिहास, उत्पत्ति और पृष्ठभूमि से संबंधित है।

मकर संक्रान्ति: इतिहास, अर्थ एवं महत्व

Jan 12, 2018
मकर संक्रान्ति हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार है। यह त्योहार भगवान सूर्य को समर्पित है| यह त्योहार जनवरी महीने की 14वीं या 15वीं तिथि को ही मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। मकर संक्रान्ति के दिन से ही सूर्य की उत्तरायण गति भी प्रारम्भ होती है। इसलिये इस पर्व को उत्तरायणी भी कहा जाता है|

11 रोचक तथ्य मिर्ज़ा गालिब के बारें में

Dec 27, 2017
मिर्ज़ा गालिब का पूरा नाम मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिब” था। उनका जन्म आगरा मे 27 दिसंबर 1797 को एक सैन्य परिवार में हुआ था और निधन 1869 में हुआ| उनकी शायरीयों मे गहन साहित्य और क्लिष्ट भाषा का समावेश था| उन्हें पत्र लिखने का बहुत शौक था इसीलिए उन्हें पुरोधा कहा जाता था| इस लेख में मिर्ज़ा ग़ालिब के बारे में 11 रोचक तथ्य दे रहे है जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे|

चिकन पॉक्स को भारत में माता क्यों कहा जाता है?

Dec 19, 2017
चेचक मानवों में होने वाला एक प्रमुख रोग है. यह रोग मुख्य रूप से छोटे बच्चों को होता है, लेकिन कई बार वयस्क भी इस रोग से ग्रसित हो जाते हैं. भारत में चेचक को माता के नाम से भी जाना जाता है. लेकिन क्या आपको पता है कि चेचक को भारत में माता क्यों कहा जाता है? यदि आप इस प्रश्न के उत्तर से अनभिज्ञ हैं तो इस लेख को पढ़ने के बाद अवश्य जान जाएंगे.

भारत में स्थित ऐतिहासिक गिरिजाघरों की सूची

Dec 19, 2017
ऐसा माना जाता है कि भारत में ईसाई धर्म की शुरुआत थॉमस नामक धर्मदूत द्वारा किया गया था, जो लगभग 52 ईस्वी में केरल के मुजिरिस नामक स्थान पर आये थे. यूँ तो पूरे भारत में ईसाई धर्म को मानने वाले लोग पाए जाते हैं, लेकिन इनकी सर्वाधिक आबादी दक्षिण भारत, दक्षिण तट, कोंकण तट और पूर्वोत्तर भारत में मिलती है. ईसाई धर्म के अनुयायियों के पूजा स्थल को गिरिजाघर या चर्च कहा जाता है. इस लेख में भारत में स्थित ऐतिहासिक गिरिजाघरों की सूची दे रहे हैं.

भारत की प्रमुख सांस्कृतिक संस्थाओं और संगठनों की सूची

Oct 30, 2017
किसी भी देश के इतिहास को जानने के लिए उस देश के कला एवं संस्कृति के विकास को जानना बहुत जरूरी होता है. भारत में कला एवं संस्कृति के विकास के लिए बहुत सी संस्थाएं स्थापित की गयी हैं जिनमे बहुत सी संस्थाएं भारत की पुरानी विरासत को संभाल कर रखने के लिए स्थापित की गयी हैं.

पुष्कर मेले के बारे में रोचक तथ्य

Oct 27, 2017
भारत के राजस्थान में पुष्कर मेला हर साल पुष्कर में आयोजित किया जाता हैं. देश-विदेश से हज़ारों पर्यटक मेला देखने आते है. यहां पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होता है जो इस मेले की शोभा को और बढ़ा देता हैं. आइये इस लेख के माध्यम से पुष्कर मेले के कुछ रोचक तथ्यों के बारे में अध्ययन करते हैं.

क्षेत्रों के अनुसार रंगोली के विभिन्न नाम और उनके महत्व

Oct 14, 2017
रंगोली पूरे देश में लोकप्रिय है और विभिन्न राज्यों में अलग-अलग नामों से जानी जाती है. वास्तव में भारत के प्रत्येक राज्यों में रांगोली की अपनी ही शैली है, डिजाइन चित्रण भी अलग-अलग होते हैं क्योंकि वे परंपराओं, लोककथाओं और प्रथाओं को प्रतिबिंबित करते हैं जो प्रत्येक क्षेत्र के लिए अद्वितीय हैं. आइये इस लेख के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों के अनुसार रंगोली के नाम और उसके महत्व के बारे में जानते हैं.

मधुबनी पेंटिंग के बारे में 10 अज्ञात तथ्य

Oct 9, 2017
मधुबनी पेंटिंग भारत और विदेशों में सबसे प्रसिद्ध कलाओं में से एक है. इस चित्रकला की शैली को आज भी बिहार के कुछ हिस्सों में प्रयोग किया जाता है खासकर मिथिला में. इस लेख में मधुबनी पेंटिंग का इतिहास, कैसे यह विश्व में प्रसिद्ध हुई, इसकी क्या खासियत है आदि के बारे में अध्ययन करेंगे.

स्वर्ण मंदिर के बारे में 7 रोचक तथ्य

Jun 12, 2017
स्वर्ण मंदिर हरमंदिर साहिब या श्री दरबार साहिब के नाम से भी जाना जाता है.सिखों के पांचवें गुरु अर्जनदेव ने स्वर्ण मंदिर का निर्माण कार्य पंजाब के अमृतसर में शुरू कराया था, जो कि भारत में पंजाब में स्तिथ हैं. इस लेख में स्वर्ण मंदिर के बारे में कुछ रोचक तथ्यों पर अध्ययन करेंगे

ललित कला अकादमी के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

Jun 5, 2017
ललित कला अकादमी स्वतंत्र भारत में गठित एक स्वायत संस्था है जो 5 अगस्त 1954 को भारत सरकार द्वारा स्थापित की गई. इसको नेशनल अकादमी ऑफ आर्ट्स भी कहते हैं. इस लेख में विस्तार से ललित कला अकादमी के बारें में अध्ययन करेंगे.

दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के बारे में 10 आश्चर्यजनक तथ्य

May 22, 2017
अक्षरधाम मंदिर नई दिल्ली में स्थित हैं. इसको स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर भी कहा जाता है. यह भारत का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर परिसर में से एक है. यह मंदिर आधिकारिक तौर पर 6 नवंबर, 2005 को खुला था. यह करीब 100 एकड़ की जमीन पर फैला हुआ है. इस लेख में अक्षरधाम मंदिर के बारे में कुछ आश्चर्यजनक तथ्य दिए जा रहें है जिन्हें पढ़कर आप हैरान हो जाएंगे.

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम द्वारा लिखे गए सभी 25 पुस्तकों की सूची

Mar 17, 2017
डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम एक प्रख्यात भारतीय वैज्ञानिक और भारत के 11वें राष्ट्रपति थेl डॉ कलाम भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम और मिसाइल विकास कार्यक्रम के साथ भी जुड़े थेl इसी कारण उन्हें “मिसाइल मैन” भी कहा जाता हैl वर्ष 2007 में राष्ट्रपति के पद से मुक्त होने के बाद वह शिक्षण, लेखन और सार्वजनिक सेवा में लौट आएl उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न” सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किया गया थाl इस लेख में हम डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम द्वारा रचित 25 प्रमुख पुस्तकों की सूची दे रहे हैं और आशा करते हैं कि ये पुस्तकें आपके जीवन में प्रेरणादायक साबित होंगीl

भारत के अलावा ऐसे 7 देश जहाँ होली का त्योहार पूरे उत्साह से मनाया जाता है

Mar 10, 2017
होली रंग, आनंद, खुशी और एकता का त्योहार है जिसे वसंत ऋतु में मनाया जाता हैl होली का उत्सव होलीका दहन से शुरू होता है जिसमें लोग होली से एक रात पहले एक साथ इकट्ठा होते हैं, गाते हैं और नृत्य करते हैं। अगली सुबह, लोग रंग और पानी के साथ होली खेलते हैंl होली भारत के सबसे लोकप्रिय त्योहारों में से एक है और यह कहना गलत नहीं होगा कि यह त्योहार कई अन्य देशों में भी उतना ही लोकप्रिय है। इस लेख में हम उन देशों का विवरण दे रहे हैं जहाँ भारत की तरह ही पूरे उत्साह के साथ होली का त्योहार मनाया जाता हैl
LibraryLibrary