1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. कला एवं संस्कृति
View in English

कला एवं संस्कृति

  • 11 रोचक तथ्य मिर्ज़ा गालिब के बारें में

    मिर्ज़ा गालिब का पूरा नाम मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिब” था। उनका जन्म आगरा मे 27 दिसंबर 1797 को एक सैन्य परिवार में हुआ था और निधन 1869 में हुआ| उनकी शायरीयों मे गहन साहित्य और क्लिष्ट भाषा का समावेश था| उन्हें पत्र लिखने का बहुत शौक था इसीलिए उन्हें पुरोधा कहा जाता था| इस लेख में मिर्ज़ा ग़ालिब के बारे में 11 रोचक तथ्य दे रहे है जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे|

    Dec 27, 2017
  • चिकन पॉक्स को भारत में माता क्यों कहा जाता है?

    चेचक मानवों में होने वाला एक प्रमुख रोग है. यह रोग मुख्य रूप से छोटे बच्चों को होता है, लेकिन कई बार वयस्क भी इस रोग से ग्रसित हो जाते हैं. भारत में चेचक को माता के नाम से भी जाना जाता है. लेकिन क्या आपको पता है कि चेचक को भारत में माता क्यों कहा जाता है? यदि आप इस प्रश्न के उत्तर से अनभिज्ञ हैं तो इस लेख को पढ़ने के बाद अवश्य जान जाएंगे.

    Dec 19, 2017
  • भारत में स्थित ऐतिहासिक गिरिजाघरों की सूची

    ऐसा माना जाता है कि भारत में ईसाई धर्म की शुरुआत थॉमस नामक धर्मदूत द्वारा किया गया था, जो लगभग 52 ईस्वी में केरल के मुजिरिस नामक स्थान पर आये थे. यूँ तो पूरे भारत में ईसाई धर्म को मानने वाले लोग पाए जाते हैं, लेकिन इनकी सर्वाधिक आबादी दक्षिण भारत, दक्षिण तट, कोंकण तट और पूर्वोत्तर भारत में मिलती है.  ईसाई धर्म के अनुयायियों के पूजा स्थल को गिरिजाघर या चर्च कहा जाता है. इस लेख में भारत में स्थित ऐतिहासिक गिरिजाघरों की सूची दे रहे हैं.

    Dec 19, 2017
  • भारत की प्रमुख सांस्कृतिक संस्थाओं और संगठनों की सूची

    किसी भी देश के इतिहास को जानने के लिए उस देश के कला एवं संस्कृति के विकास को जानना बहुत जरूरी होता है. भारत में कला एवं संस्कृति के विकास के लिए बहुत सी संस्थाएं स्थापित की गयी हैं जिनमे बहुत सी संस्थाएं भारत की पुरानी विरासत को संभाल कर रखने के लिए स्थापित की गयी हैं.

    Oct 30, 2017
  • पुष्कर मेले के बारे में रोचक तथ्य

    भारत के राजस्थान में पुष्कर मेला हर साल पुष्कर में आयोजित किया जाता हैं. देश-विदेश से हज़ारों पर्यटक मेला देखने आते है. यहां पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होता है जो इस मेले की शोभा को और बढ़ा देता हैं. आइये इस लेख के माध्यम से पुष्कर मेले के कुछ रोचक तथ्यों के बारे में अध्ययन करते हैं.

    Oct 27, 2017
  • क्षेत्रों के अनुसार रंगोली के विभिन्न नाम और उनके महत्व

    रंगोली पूरे देश में लोकप्रिय है और विभिन्न राज्यों में अलग-अलग नामों से जानी जाती है. वास्तव में भारत के प्रत्येक राज्यों में रांगोली की अपनी ही शैली है,  डिजाइन चित्रण भी अलग-अलग होते हैं क्योंकि वे परंपराओं, लोककथाओं और प्रथाओं को प्रतिबिंबित करते हैं जो प्रत्येक क्षेत्र के लिए अद्वितीय हैं. आइये इस लेख के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों के अनुसार रंगोली के नाम और उसके महत्व के बारे में जानते हैं.

    Oct 14, 2017
  • मधुबनी पेंटिंग के बारे में 10 अज्ञात तथ्य

    मधुबनी पेंटिंग भारत और विदेशों में सबसे प्रसिद्ध कलाओं में से एक है. इस चित्रकला की शैली को आज भी बिहार के कुछ हिस्सों में प्रयोग किया जाता है खासकर मिथिला में. इस लेख में मधुबनी पेंटिंग का इतिहास, कैसे यह विश्व में प्रसिद्ध हुई, इसकी क्या खासियत है आदि के बारे में अध्ययन करेंगे.

    Oct 9, 2017
  • स्वर्ण मंदिर के बारे में 7 रोचक तथ्य

    स्वर्ण मंदिर हरमंदिर साहिब या श्री दरबार साहिब के नाम से भी जाना जाता है.सिखों के पांचवें गुरु अर्जनदेव ने स्वर्ण मंदिर का निर्माण कार्य पंजाब के अमृतसर में शुरू कराया था, जो कि भारत में पंजाब में स्तिथ हैं. इस लेख में स्वर्ण मंदिर के बारे में कुछ रोचक तथ्यों पर अध्ययन करेंगे

    Jun 12, 2017
  • ललित कला अकादमी के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

    ललित कला अकादमी स्वतंत्र भारत में गठित एक स्वायत संस्था है जो 5 अगस्त 1954 को भारत सरकार द्वारा स्थापित की गई. इसको नेशनल अकादमी ऑफ आर्ट्स भी कहते हैं. इस लेख में विस्तार से ललित कला अकादमी के बारें में अध्ययन करेंगे.

    Jun 5, 2017
  • दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के बारे में 10 आश्चर्यजनक तथ्य

    अक्षरधाम मंदिर नई दिल्ली में स्थित हैं. इसको स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर भी कहा जाता है. यह भारत का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर परिसर में से एक है. यह मंदिर आधिकारिक तौर पर 6 नवंबर, 2005 को खुला था. यह करीब 100 एकड़ की जमीन पर फैला हुआ है. इस लेख में अक्षरधाम मंदिर के बारे में कुछ आश्चर्यजनक तथ्य दिए जा रहें है जिन्हें पढ़कर आप हैरान हो जाएंगे.

    May 22, 2017
  • ऑस्कर पुरस्कारों में नामांकित एवं पुरस्कार विजेता भारतीयों की सूची

    लॉस एंजेलिस में आयोजित विश्व प्रसिद्ध 89वें ऑस्कर अवॉर्ड समारोह में "मूनलाईट" को सर्वश्रेष्ठ फिल्म के पुरस्कार से नवाजा गया जबकि "ला ला लैंड" को “सर्वश्रेष्ठ निर्देशक” और “सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री” सहित छह श्रेणियों में पुरस्कृत किया गया है| इस समारोह में भारतीय मूल के ब्रिटिश अभिनेता देव पटेल "सर्वश्रेष्ठ सह-अभिनेता" का पुरस्कार प्राप्त करने से चूक गए| इस लेख में हम ऑस्कर पुरस्कार से सम्मानित या विभिन्न श्रेणियों में नामांकित भारतीय/भारतीय मूल के व्यक्तियों की सूची दे रहे हैं|

    Feb 27, 2017
  • गंधार, मथुरा और अमरावती शैलियों में क्या अंतर होता है

    मूर्ति कला की तीन प्रमुख शैलियों अर्थात गंधार, मथुरा और अमरावती शैली का विकास अलग-अलग स्थानों पर हुआ है | गंधार शैली का विकास आधुनिक पेशावर और अफगानिस्तान के निकट पंजाब की पशिचमी सीमाओं में 50 ईसा पूर्व से लेकर 500 ईस्वी तक हुआ| मथुरा शैली का विकास पहली और तीसरी शताब्दी ई .पू के बीच की अवधि में यमुना नदी के किनारे हुआ और भारत के दक्षिणी भाग में, अमरावती शैली का विकास सातवाहन शासकों के संरक्षण में कृष्णा नदी के किनारे हुआ था | इस लेख में इन शैलियों के बीच के अंतर का अध्ययन करेंगे |

    Feb 27, 2017
  • हड़प्पा सभ्यता: कला और वास्तुकला एक नज़र में

    भारतीय कला और वास्तुकला विकास पर निर्भर करती है और इसके पीछे कई कहानियां है| इस लेख में हड़प्पा सभ्यता की कला और वास्तुकला के बारे में जानेंगे और देखेंगे की कैसे इन कलाओं का उदभव हुआ, कहा से हुआ आदि |

    Feb 23, 2017
  • जाने तानसेन समारोह कब, कहाँ और क्यों मनाया जाता है?

    तानसेन समारोह भारत में आयोजित सबसे पुराने संगीत समारोहों में से एक है| इसका आयोजन अकबर के दरबार में रहने वाले महान संगीतकार तानसेन को श्रद्धांजलि देने के उद्देश्य से किया जाता है। तानसेन समारोह या तानसेन संगीत समारोह का आयोजन हर वर्ष दिसम्बर महीने में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के “बेहत” नामक गांव में किया जाता है।

    Dec 19, 2016
  • कमल मंदिर (लोटस टेम्पल) अविस्मरणीय क्यों है?

    नई दिल्ली का कमल मंदिर बहाई संप्रदाय से संबंधित है। बहाई धर्म दुनिया के नौ महान धर्मों का संयोजन है और इसकी स्थापना पैगंबर बहाउल्लाह ने की थी। यह मंदिर तालाबों और बगीचों के बीच आधे खुले तैरते कमल के आकार में बना है। कमल मंदिर एशिया में बना एक मात्र बहाई मंदिर है। एक वर्ष में यहां करीब 45 लाख पर्यटक आते हैं।

    Aug 17, 2016

Just Now