Search
  1. Home |
  2. घटनाचक्र

घटनाचक्र

Also Read in : English

परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन

Jul 29, 2011
12 अप्रैल, 2010 को अमेरिका, वाशिंगटन में परमाणु सुरक्षा सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में कुल 47 देशों के शीर्ष नेताओं ने भागीदारी की। परमाणु आतंकवाद जैसे गंभीर मसले से जुड़ा होने के कारण यह सम्मेलन काफी महत्वपूर्ण था।

Latest Videos

16वां सार्क शिखर सम्मेलन

Jul 29, 2011
दक्षिण एशियाई देशों के संगठन सार्क का शिखर सम्मेलन 29 अप्रैल, 2010 को भूटान की राजधानी थिम्पू में आयोजित किया गया। इस सम्मेलन की मुख्य थीम- हरित व सुखी दक्षिण एशिया का निर्माण थी।

भारत - पूर्व एशिया

Jul 28, 2011
अक्टूबर 2010 में प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने तीन देशों- जापान, मलेशिया व वियतनाम की यात्रा की। पिछले दो दशकों से भारत ने अपनी चिर-परिचित लुक ईस्ट पॉलिसी के तहत दक्षिण-पूर्व एशिया व पूर्वी एशियाई देशों के साथ व्यापारिक संबंधों को नया आयाम देने का पूरा प्रयास किया है।

भारत-बांग्लादेश: नरम गरम रिश्ते

Jul 28, 2011
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने 10-13 जनवरी, 2010 तक भारत की यात्रा की। उनकी यह यात्रा कई मायनों में ऐतिहासिक रही। शेख हसीना 6 जनवरी, 2010 को ही देश की प्रधानमंत्री बनी थीं।

भारत - चीन: द ग्रेट वाल

Jul 28, 2011
भारतीय राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल 27 मई, 2010 को छह दिनों की चीन यात्रा पर राजधानी बीजिंग पहुंची। वहां पहुंचने पर उनका पर्पल लाइट पवेलियन में प्रधानमंत्री बेन जियाबाओ ने स्वागत किया।

भारत - रूस: नई ऊंचाइयों की ओर

Jul 28, 2011
रूस के प्रधानमंत्री व्लादीमिर पुतिन ने 11 मार्च, 2010 को एक दिन की भारत यात्रा की। भारत की स्वतंत्रता के समय से ही दोनों देशों के संबंध अत्यंत मधुर रहे हैं, हालांकि सोवियत संघ के विखंडन के बाद से दोनों देशों ने एक बार फिर से अपने रिश्तों को पुनब्र्याख्यायित किया है।

महिला आरक्षण बिल

Jul 28, 2011
पिछले 14 वर्र्षों से केंद्र की सत्ता में काबिज कई सरकारों ने लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 आरक्षण देने संबंधी महिला आरक्षण बिल पास कराने का प्रयत्न किया, लेकिन इसमें उन्हें सफलता नहीं मिल सकी थी।

जनगणना-2011

Jul 28, 2011
भारत में प्रत्येक दस वर्र्षों के अंतराल में जनगणना का काम होता है। भारतीय जनगणना-2011 के लिए देश के समस्त निवासियों की गणना का कार्य 1 अप्रैल, 2010 से आरंभ हो गया। ऐसी आशा की जा सकती है कि मार्च 2011 तक देश की कुल जनसंख्या के नए अनुमान प्राप्त हो जाएंगे।

रामजन्मभूमि पर अदालत का ऐतिहासिक फैसला

Jul 28, 2011
30 सितंबर, 2010 को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने अपने एक ऐतिहासिक फैसले में अयोध्या के विवादित स्थल को रामजन्मभूमि घोषित कर दिया। हाईकोर्ट ने बहुमत से फैसला दिया कि विवादित भूमि जिसे रामजन्मभूमि माना जाता रहा है, उसे हिंदुओं के रामजन्मभूमि न्यास को सौंप दिया जाए।

भारत-अमेरिका

Jul 27, 2011
अमेरिका से भारत में काफी राशि प्रत्यक्ष निवेश के रूप में मिलती है। 1991 से 2004 के मध्य अमेरिका से भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का अंतप्र्रवाह कुल 4.13 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा। वाणिज्य: सं. रा. अमेरिका, भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है।

बराक ओबामा की भारत यात्रा

Jul 27, 2011
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 5-9 नवंबर, 2010 को भारत की बहुप्रतीक्षित यात्रा की। ओबामा की यह यात्रा कई मायने में महत्वपूर्ण थी। जनवरी 2009 में अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद से ही भारत-अमेरिकी संबंधों में संशय का वातावरण बन रहा था।

रेलवे

Jul 27, 2011
भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े रेल तंत्रों में से एक है। भारतीय रेल को सबसे बड़े रोजगारप्रदाता होने का सम्मान भी प्राप्त है। लगभग 15 लाख कर्मचारी विभिन्न पदों पर वर्तमान में कार्यरत हैं।

सिविल सर्विसेज में चमकदार कॅरियर

Jul 27, 2011
देश की सारी सरकारी नौकरियों में सिविल सर्विसेज को सबसे प्रतिष्ठित माना जाता है। इसे इसलिए भी सरकारी नौकरियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है कि इसमें इज्जत के साथ पैसा भी है और साथ ही सुविधाओं, ताकत व इज्जत भी मिलती हैं जो युवा वर्ग को अपनी ओर खींचती हैं।

सिविल सेवा परीक्षा

Jul 27, 2011
सिविल सेवा देश की सबसे प्रतिष्ठत सेवा मानी जाती है। इसमें नियुक्ति के लिए संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) हर वर्ष अखिल भारतीय स्तर पर परीक्षा का आयोजन करता है। इस परीक्षा के आधार पर ही आईएएस, आईपीएस, आईएफएस तथा एलायड सर्विसेज के क्लास वन अधिकारी चुने जाते हैं।

बैकिंग

Jul 27, 2011
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में नौकरियां करने के इच्छुक युवाओं के लिए हाल का समय काफी खुशनुमा रहा है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने अगले तीन साल के दौरान 85,000 नई नियुक्तियां करने की योजना बनाई है।

आर्म्ड फोर्सेस

Jul 27, 2011
आम्र्ड फोर्सेज में करियर बनाना प्रतिष्ठा व गरिमा की बात तो होती है, लेकिन इसकी राहें बहुत ही कठिन है। यही कारण है कि इसमें उन्हीं युवाओं को वरीयता दी जाती है, जो शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होने के साथ ही जोश से भरे हुए हों और देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा उनके अंदर हो।

टीचिंग वर्ल्ड

Jul 27, 2011
दुनिया भर में जब हर सेक्टर में मंदी का रोना रोया जा रहा था, एक क्षेत्र ऐसा भी रहा है जिसमें जीनियस लोगों की बड़े पैमाने पर जरूरत लगातार बनी रही। यह क्षेत्र पढऩे-पढ़ाने यानी अध्यापन के क्षेत्र से जुड़ा हुआ है।

शिक्षा के क्षेत्र में जॉब का परिदृश्य

Jul 27, 2011
संचार तकनीकी की सुलभ उपलब्धता से अब यह संभव हो सका है कि देश के प्रत्येक अध्यापक के संबंध में सभी आवश्यक जानकारी एक साथ एकत्रित हो सके। उसमें परिवर्तन लगातार समाहित होते रहें तथा नीति निर्धारकों तथा प्रबंधन का उत्तरदायित्व निभानेवालों को यह लगातार आवश्यकता पडऩे पर उपलब्ध कराई जा सके।

गवर्नमेंट सेक्टर में युवाओं के लिए अवसर

Jul 27, 2011
सरकारी नौकरियों का आकर्षण भारत में शुरुआत से रहा है। यहां तक कि भारत में मुस्लिम और अंग्रेजी शासन के दौरान भी सरकारी नौकरों को समाज में काफी ज्यादा अहमियत दी जाती थी। यह सिलसिला आजादी के बाद काफी लंबे अर्से तक चलता रहा।
LibraryLibrary

Newsletter Signup

Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK