1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. पर्यावरण और पारिस्थितिकीय
  4. पर्यावरणीय मुद्दे और सम्मेलन

पर्यावरणीय मुद्दे और सम्मेलन

View in English
  • जानें ग्रेट ग्रीन वॉल प्रोजेक्ट के बारे में

    हाल ही में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन (Emmanuel Macron) ने ग्रेट ग्रीन वॉल (Great Green Wall) प्रोजेक्ट के लिए लगभग $14 बिलियन देने की घोषणा की है. आइये इस लेख के माध्यम से ग्रेट ग्रीन वॉल प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से अध्ययन करते हैं.

    Jan 21, 2021
  • जानें नई रामसर साइटों के बारे में

    हाल ही में, महाराष्ट्र के बुलढाणा (Buldhana) जिले के लोनार झील और आगरा में सूर सरोवर (Soor Sarovar) को रामसर संरक्षण संधि के तहत अंतरराष्ट्रीय महत्व के आर्द्रभूमि स्थल के रूप में चुना गया है. आइये इस लेख के माध्यम से रामसर साइट और कन्वेंशन के बारे में जानते हैं.

    Nov 17, 2020
  • किन प्लांट्स की मदद से घर के वायु प्रदूषण को कम किया जा सकता है?

    अक्टूबर का महीना शुरू होते ही दिल्ली में वायु प्रदुषण की समस्य विकराल रूप ले लेती है. वायु में मौजूद PM 2.5 और PM 10 कण का स्तर बढ़ जाने के कारण हमारी आँखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत आदि होने लगती है. यदि आपको वायु प्रदूषण की समस्या का ठोस समाधान करना है तो आपको अपने घर में कुछ पौधे लगाने चाहिए.आइये इस लेख में इन पौधों के बारे में जानते हैं.

    Oct 22, 2020
  • जानें अंटार्कटिका के बर्फ के पहाड़ सफेद से हरे रंग के क्यों हो रहे हैं? कारण और प्रभाव

    ऐसा देखा गया है कि तटीय अंटार्कटिका में बर्फ का कुछ हिस्सा हरा हो रहा है. कुछ वर्षों से हरी बर्फ की एक छोटी मात्रा दिखाई देती थी. लेकिन अब यह पूरे महाद्वीप में फैल रही है. इसका क्या कारण है, आखिर अंटार्कटिका हरा क्यों हो रहा है? अगर पूरे अंटार्कटिका की बर्फ पिघल जाए तो क्या होगा? आइये इसका विस्तार से अध्ययन करते हैं.

    May 28, 2020
  • स्मॉग टॉवर क्या होता है और यह कैसे काम करता है?

    वर्तमान परिपेक्ष्य में प्रदूषण पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है. भारत की राजधानी दुनिया में सबसे प्रदूषित शहरों में गिनी जाती है. लेकिन अब इस प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के लिए स्मॉग टॉवर को लगाने की बात चल रही है.आइये इस लेख में जानते हैं कि स्मोग टावर क्या होता है और यह कैसे काम करता है?

    Dec 3, 2019
  • एयर क्वालिटी इंडेक्स क्या होता है और यह क्या बताता है?

    पर्यावरण प्रदूषण की समस्या विश्व के लिए नयी चुनौती बन चुकी है. दिल्ली में अक्टूबर और नवम्बर महीने में हर वर्ष प्रदूषण की स्थिति बिगड़ने लगती है. इस प्रदूषण की समस्या के माप के लिए भारत में राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 17 सितंबर, 2014 को स्वच्छ भारत अभियान के तहत नई दिल्ली में शुरू किया गया था.

    Dec 27, 2019
  • अर्थ आवर (Earth Hour) क्या है और यह हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

    पिछले कुछ दिनों से समाचार-पत्रों, पत्रिकाओं, विभिन्न टीवी चैनलों और इंटरनेट पर अर्थ ऑवर (Earth Hour) की चर्चा चल रही हैl जिसके कारण हर किसी के मन में यह उत्सुकता हो सकती है कि अर्थ ऑवर (Earth Hour) क्या है और किस कारण से यह इतनी चर्चा में है? इस लेख में हम यही जानने की कोशिश कर रहे है कि आखिर यह अर्थ ऑवर (Earth Hour) क्या है और यह किस प्रकार हमारे लिए महत्वपूर्ण है?

    Mar 30, 2019
  • विश्व जल दिवस की महत्ता और जल के उपयोग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

    आज पूरी दुनिया औद्योगीकरण की राह पर चल रही है, किंतु स्वच्छ और रोग रहित जल मिल पाना कठिन होता जा रहा हैl विश्व भर में साफ और पीने योग्य जल की अनुपलब्धता के कारण ही जल जनित रोग महामारी का रूप ले रहे हैंl कहीं-कहीं तो यह भी सुनने में आता है कि अगला विश्व युद्ध जल को लेकर ही होगाl विश्व के हर नागरिक को पानी की महत्ता से अवगत कराने के लिए ही संयुक्त राष्ट्र ने "विश्व जल दिवस" मनाने की शुरुआत की थी। इस लेख में हम विश्व जल दिवस की महत्ता और जल के उपयोग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों का विवरण दे रहे हैंl

    Mar 22, 2019
  • दुनिया के 10 सबसे अधिक प्रदूषण फ़ैलाने वाले देश

    यूरोपीय आयोग और नीदरलैंड पर्यावरण आकलन एजेंसी द्वारा जारी किए गए “एडगर डेटाबेस” के अनुसार विश्व में सबसे अधिक कार्बन डाइऑक्साइड गैस का उत्सर्जन करने वाला देश चीन है जबकि सर्वाधिक प्रति व्यक्ति कार्बन डाइऑक्साइड गैस का उत्सर्जन करने वाला देश अमेरिका है. यहाँ पर एक चौकाने वाला तथ्य यह है कि दुनिया के 10 सबसे बड़े कार्बन डाइऑक्साइड उत्पादक देशों का कुल कार्बन डाइऑक्साइड गैस के उत्पादन में 67.6% का योगदान है और इसमें में लगभग 30% योगदान अकेले चीन का है.

    Aug 21, 2017
  • आईयूसीएन रेड डाटा बुक

    संकटग्रस्त प्रजातियों की आईयूसीएन लाल डेटा सूची (रेड लिस्ट) को पौधों और पशु प्रजातियों के संरक्षण की स्थिति का मूल्यांकन करने के व्यापक उद्देश्य के वैश्विक दृष्टिकोण के रूप में मान्यता दी गयी है। अपनी छोटी सी शुरुआत से, आईयूसीएन की लाल डेटा सूची (रेड लिस्ट) के आकार और जटिलता में वृद्धि हुई है और यह वर्तमान में सरकारों, गैर सरकारी संगठनों और वैज्ञानिक संस्थाओं की संरक्षण गतिविधियों के मार्गदर्शन में तेजी से एक प्रमुख भूमिका निभा रही है। विलुप्त होने के जोखिमों का निर्धारण करने के लिए एक वैज्ञानिक दृष्टिकोण की शुरूआत 1994 में हुयी। जो सभी प्रजातियों पर लागू है और एक वैश्विक मानक बन गया है।

    Aug 21, 2017
  • सतत विकास पर संयुक्त राष्ट्र संघ का सम्मेलन

    संयुक्त राष्ट्र संघ के सतत् विकास सम्मेलन को रियो, 2012 के नाम से भी जाना जाता है। रियो+20 (पुर्तगाली उच्चारण या पृथ्वी सम्मेलन 2012) विश्व समुदाय के पर्यावरण तथा आर्थक उद्देश्यों संबंधित सतत् विकास पर तीसरा सम्मेलन ब्राजील के रियो डि जेनेरियो शहर में 13 से 22 जून, 2012 को सम्पन्न हुआ। रियो+20, पिछले 20 वर्षों में 1992 के पृथ्वी सम्मेलन के बाद हुई प्रगति को याद करने का सम्मेलन था जो 20 वर्ष बाद उसी शहर में हुआ।

    Aug 21, 2017
  • प्रवाल विरंजन (श्वेत पड़ना)

    जब तापमान, प्रकाश, या पोषक जैसी स्थिति में प्रवालों पर परिवर्तित होने का दवाब पड़ता है तो वे अपने ऊतकों में रहने वाले सहजीवी शैवालों को त्याग देते हैं जिसके कारण वे पूरी तरह विरंजित (पूरी तरह सफेद) हो जाते हैं। प्रवाल विरंजल का कारण गर्म पानी या गर्म तापमान हो सकता है। जब पानी अत्यधिक गर्म होता है तो प्रवाल अपने ऊतकों में रहने वाले सूक्ष्म शैवाल (zooxanthellae)  को त्याग देते हैं जिस कारण प्रवाल पूरी तरह से विरंजित (पूरी तरह सफेद) हो जाते हैं। प्रवाल, विरंजन के दौरान भी जीवित रह सकते हैं लेकिन वे अत्यधिक दवाब औऱ मृत्यु के साये में रहते है।

    Aug 21, 2017
  • ठोस अपशिष्ट प्रबंधन

    ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का संबंध अपशिष्ट पदार्थों के निकास से लेकर उसके उत्पादन व पुनःचक्रण द्वारा निपटान करने की देखरेख से है | अतः ठोस अपशिष्ट प्रबंधन को निम्न रूप में परिभाषित किया जा सकता है : ठोस अपशिष्ट के उत्पादन का व्यवस्थित नियंत्रण, संग्रह, भंडारण, ढुलाई, निकास पृथ्थ्करण, प्रसंस्करण, उपचार, पुनः प्राप्ति और उसका निपटान | नगरपालिका अपशिष्ट पदार्थ (MSW ) शब्द का प्रायः इस्तेमाल शहर, गाँव या कस्बे के कचरे के लिए किया जाता है |

    Aug 21, 2017
  • ध्वनि प्रदूषण

    तेज विक्षोभी ध्वनि को वातावरण में इसके विपरीत प्रभाव का अनुमान लगाये बगैर  उत्पन्न करने को ध्वनि प्रदूषण कहते हैं। सबसे ज्यादा बाहरी शोर का स्रोत दुनिया भर में मुख्य रूप से मशीनों और परिवहन प्रणालियों, मोटर वाहन, विमान, और रेलगाड़ियों के कारण होता है। सबसे ज्यादा बाहरी शोर का स्रोत दुनिया भर में मुख्य रूप से मशीनों और परिवहन प्रणालियों, मोटर वाहन, विमान, और रेलगाड़ियों के कारण होता है।उच्च स्तर का शोर मानव में हृदय तथा रक्तवाहिकाओं संबंधी और कोरोनरी धमनी रोग होने का सबसे बड़ा कारण है ।

    Aug 21, 2017
  • वैश्विक मद्धिम

    वैश्विक मद्धिम को पृथ्वी की सतह तक पहुंचने वाले सौर विकिरण की मात्रा में कमी के रूप में परिभाषित किया जाता है। जीवाश्म ईंधन के उप-उत्पाद छोटे कण या प्रदूषक हैं जो सौर ऊर्जा को अवशोषित करते हैं और अंतरिक्ष में सूर्य की रोशनी को वापस दर्शाते हैं। इस तथ्य या घटना को पहली बार 1950 में मान्यता दी गयी थी। वैज्ञानिकों का मानना है कि 1950 के बाद पृथ्वी तक पहुंचने वाली सूर्य की ऊर्जा में अंटार्कटिका में 9%, संयुक्त राज्य अमेरिका में 10%, यूरोप के कुछ हिस्सों में 16% और रूस में 30% से की कमी आयी है।

    Aug 21, 2017
Jagran Play
रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश
ludo_expresssnakes_laddergolden_goalquiz_master

Just Now