Search
  1. Home
  2. पर्यावरण और पारिस्थितिकीय
View in English

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय

  • राष्ट्रीय सतत कृषि मिशन क्या है?

    जलवायु परिवर्तन के इस युग में कृषि उत्पादकता को सतत बनाना बहुत ही आवश्यक है लेकिन प्राकृतिक संसाधनों जैसे मृदा एवं जल की गुणवत्ता और उपलब्धता पर भी निर्भर करता है कृषि विकास को समुचित स्थिति विशिष्ट उपायों के माध्यम से इन दुर्लभ प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण और सतत प्रयोग को बढ़ावा देकर संधारणीय बनाया जा सकता है। इस लेख में हमने राष्ट्रीय सतत कृषि मिशन के उद्देश्य, कार्यात्मक क्षेत्र और इसकी कमियों पर चर्चा की है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    1 day ago
  • राष्ट्रीय ग्रीन इंडिया मिशन क्या है?

    राष्ट्रीय ग्रीन इंडिया मिशन जलवायु परिवर्तन की चुनौती से निपटने के लिए भारत के आठ मिशनों में से एक है। इसे फरवरी 2014 में सुरक्षा के लिए लॉन्च किया गया था; अनुकूलन और शमन उपायों के संयोजन से भारत के कम होते वन आवरण को बहाल करना और जलवायु परिवर्तन के खतरे से निपटने के लिए तैयार करना। इस लेख में हमने राष्ट्रीय ग्रीन इंडिया मिशन के उद्देश्य, लक्ष्य और उसके घटकों पर चर्चा की है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    2 days ago
  • भारत के बाढ़ प्रवण क्षेत्र: शमन और नियंत्रण के उपाय

    बाढ़ नदी के तटीय क्षेत्र में उच्च जल स्तर की स्थिति है जो स्थलों पर बाढ़ का कारण बनती है इस दौरान भूमि भी जलमग्न हो जाती है। नदी बाढ़ और तटीय क्षेत्र बाढ़ के लिए सबसे अधिक संवेदनशील हैं; हालांकि, असामान्य रूप से लंबे समय तक भारी वर्षा वाले क्षेत्रों में बाढ़ आना संभव है। इस लेख में हमने भारत के बाढ़ प्रवण क्षेत्र तथा शमन और नियंत्रण के उपाय बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Feb 18, 2019
  • ग्लोबल वार्मिंग पर पृथ्वी के एल्बीडो कैसे प्रभाव डालते हैं?

    भूमंडलीय ऊष्मीकरण या ग्‍लोबल वॉर्मिंग पृथ्वी के वायुमंडल और उसके महासागरों के औसत तापमान में क्रमिक वृद्धि का वर्णन करता है, ऐसा माना जाता है कि यह परिवर्तन स्थायी रूप से पृथ्वी की जलवायु को बदल रहा है। जबकि एल्बीडो सौर विकिरण की मात्रा है जो किसी न किसी सतह से परिलक्षित होती है, और अक्सर प्रतिशत या दशमलव मान के रूप में व्यक्त की जाती है। इस लेख में हमने बताया है की भूमंडलीय ऊष्मीकरण या ग्‍लोबल वॉर्मिंग कैसे पृथ्वी के एल्बीडो से प्रभावित होता है।

    Feb 18, 2019
  • भारत का राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन क्या है?

    भारत सरकार ने राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन शुरू किया है जिसे जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय सौर मिशन भी कहा जाता है। भारत की ऊर्जा सुरक्षा चुनौती को संबोधित करते हुए पारिस्थितिक रूप से स्थायी विकास को बढ़ावा देने के लिए यह भारत सरकार और राज्य सरकारों की एक बड़ी पहल है। यह जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के वैश्विक प्रयास में भारत द्वारा एक प्रमुख योगदान होगा। इस लेख में हमने भारत का राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के उद्देश्य और लक्ष्य पर चर्चा किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Feb 15, 2019
  • तटीय क्षेत्र प्रबंधन के उद्देश्य और लक्ष्य क्या हैं?

    तटीय क्षेत्र ऐसे उच्च जल चिह्न तक प्रादेशिक जल की सीमा को परिभाषित करता है जो मुख्य भूमि, द्वीपों और समुद्र के संकीर्ण क्षेत्र से तटीय डोमेन की बाहरी सीमा बनाती हैं। इस लेख में हमने तटीय क्षेत्र प्रबंधन (सीजेडएम) के उद्देश्य, लक्ष्य और चुनौती पर चर्चा किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Feb 14, 2019
  • भारत में समुद्री विकास कार्यक्रम

    भारत ने महासागर विकास कार्यक्रम के तहत आजीविका में सुधार, तटीय खतरों की समय पर चेतावनी और महासागर संसाधनों के सतत विकास के लिए बहुत सारे कार्यक्रम की शुरुआत की है। इन कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य लंबी अवधि के अवलोकन कार्यक्रमों को लागू करने और लागू करने के माध्यम से महासागर प्रक्रिया की हमारी समझ में सुधार करना है ताकि, हम निर्णय लेने के लिए तटीय क्षेत्र के स्थायी उपयोग मॉडल में सक्षम हों। इस लेख में हमने, भारत द्वारा शुरू किये गए विभिन्न महासागर विकास कार्यक्रम पर नीचे चर्चा की है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Feb 14, 2019
  • सोलर जियो-इंजीनियरिंग क्या है?

    हमारे सौर मंडल में पृथ्वी ही एकमात्र ऐसा ग्रह है जहां सभी प्रकार का जीवन अस्तित्व में है। स्ट्रैटोस्फेरिक सलफेट एयरोसोल (stratospheric sulphate aerosols) के आवश्यकता से अधिक उपयोग के कारण ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन जैसी स्थितियां पैदा हुई हैं। मौजूदा समय में बहुत से पर्यावरणविद ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के लिए जलवायु इंजीनियरिंग पर काम कर रहे हैं। इस लेख में हमने सोलर जियो-इंजीनियरिंग के बारे में बताया जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 30, 2019
  • भारत का राष्ट्रीय सतत पर्यावरण मिशन क्या है?

    राष्ट्रीय सतत पर्यावरण मिशन शमन रणनीति के तहत भारत सरकार के आठ जलवायु मिशनों में से एक है। इस नीति को इसलिए सूत्रबद्ध किया गया है ताकि भवनों ऊर्जा क्षमता के सुधार, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन तथा लोग यातायात के प्रकार में परिवर्तन लाया जा सके। इस लेख में हमने भारत का राष्ट्रीय सतत पर्यावरण मिशन के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 22, 2019
  • राष्ट्रीय बायोगैस और खाद प्रबंधन कार्यक्रम क्या है?

    पर्यावरण में हो रहे बदलाव से पूरी दुनिया समस्या का सामना कर रही है। इसलिए दुनिया कुछ वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों की तलाश कर रही है जो पर्यावरण के अनुकूल होने के साथ-साथ किफायती भी हो सके। इस लेख में हमने बायोगैस (Biogas) तथा राष्ट्रीय बायोगैस और खाद प्रबंधन कार्यक्रम पर चर्चा की है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 15, 2019
  • भारत के पर्यावरण आंदोलनों पर संक्षिप्त इतिहास

    भारत में विकास के साथ-साथ पर्यावरण आधरित संघर्ष भी बढ़ते जा रहे हैं क्योंकी ये विकास नीति कही ना कही पर्यावरणीय संतुलन को खतरे में डालकर बनाया जा रहा है। सार्वजनिक नीति में परिवर्तन के माध्यम से पर्यावरण की रक्षा के लिए होने वाले विरोध को पर्यावरण आंदोलन बोला जा सकता है। इस लेख में हमने भारत के पर्यावरण आंदोलनों पर संक्षिप्त इतिहास को बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 14, 2019
  • कार्बन फर्टिलाइजेशन या कार्बन निषेचन से फ़ासल उत्पादन पर कैसे प्रभाव पड़ता है?

    विश्व में ग्रीनहाउस गैसों (जीएचजी) के उत्सर्जन को कम करने वाले प्रबंधन रणनीतियों, व्यवहार परिवर्तनों और तकनीकी नवाचारों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन को रोकने या कम करने के लिए अनेको कार्य किया जा रहे हैं। इस लेख में हमने कार्बन फर्टिलाइजेशन या कार्बन निषेचन को परिभाषित किया है और यह बताया है यह कैसे फ़ासल उत्पादन पर प्रभाव डालता है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 10, 2019
  • मौसम के रेड, ऑरेंज और येलो अलर्ट क्या होते हैं और कब जारी किये जाते हैं?

    मौसम विभाग द्वारा चेतावनी देने के लिए रेड अलर्ट, ऑरेंज अलर्ट, येलो अलर्ट और ग्रीन अलर्ट को जारी किया जाता है. चेतावनी देने के लिए रंगों का चुनाव कई एजेंसियों के साथ मिलकर किया जाता है. इन अलर्ट को मौसम के ख़राब होने की तीव्रता के आधार पर जारी किया जाता है. यानि भीषणता के माध्यम से रंग बदलते रहते हैं.

    Jan 8, 2019
  • राष्ट्रीय ई-गतिशीलता कार्यक्रम क्या है?

    नेशनल ई-मोबिलिटी प्रोग्राम या ‘राष्ट्रीय ई-गतिशीलता कार्यक्रम’ (National E-Mobility Programme) भारत का एक प्रकार का पर्यावरण कार्यक्रम है जिसका मुख्य उद्देश्य 2030 तक चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए नीतिगत ढाँचा तैयार करना ताकि सडकों पर 30% इलेक्ट्रिक वाहन लाया जा सके। इस लेख में हमने ‘राष्ट्रीय ई-गतिशीलता कार्यक्रम’ (National E-Mobility Programme) की अवधारणा और उद्देश्यों की व्याख्या की है, जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 7, 2019
  • क्रायोस्फीयर वैश्विक जलवायु को कैसे प्रभावित करता है?

    पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के अंतर्गत पृथ्वी के विभिन्न घटक जैसे वातावरण, समुद्र, क्रायोस्फीयर, भूमंडल और जीवमंडल के बीच जटिल संबंधों की समझ शामिल है। पृथ्वी प्रणाली के बारे में जानकारी से, जलवायु, मौसम और प्राकृतिक खतरों की भविष्यवाणी में सुधार करने में मदद मिलती है। इस लेख में हमने बताया है की कैसे क्रायोस्फीयर वैश्विक जलवायु को प्रभावित करता है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Jan 2, 2019