Search
  1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. अर्थव्यवस्था
  4. भारतीय अर्थव्यवस्था
View in English

भारतीय अर्थव्यवस्था

  • स्विस बैंक में खाता खोलने के लिए क्या योग्यता होती है?

    स्विस बैंक और काला धन ये दोनों शब्द भारत की राजनीति में कोहराम मचा देते हैं. अपुष्ट ख़बरों में कहा गया है कि भारतीयों द्वारा विदेशों में भारत के सकल घरेलू उत्पाद का कम से कम 10% से लेकर 120% तक काला धन जमा है. लेकिन अब सवाल यह उठता है कि आखिर स्विट्ज़रलैंड की बैंकों में खाता खुलवाने के लिए कम से कम कितने रुपये की जरूरत पड़ती है? आइये इस लेख में जानते हैं.

    Feb 5, 2020
  • जानें बजट के बारे में 11 रोचक तथ्य

    क्या आपको पता है कि पहली बार बजट कब पेश किया गया था या बजट डॉक्युमेंट की प्रिंटिंग कहां होती है? यदि आपका उत्तर नहीं है तो आइए इस लेख में हम उपरोक्त प्रश्नों के अलावा बजट से संबंधित 11 रोचक तथ्यों का विवरण दे रहें हैं जिससे आपको बजट को समझने में और आसानी होगी. 

    Feb 4, 2020
  • विकसित और विकासशील देशों के बीच क्या अंतर होता है?

    देशों को उनकी आर्थिक स्थिति के आधार पर 2 श्रेणियों में बांटा गया है. विकसित देश और विकासशील देश. इन देशों का वर्गीकरण विभिन्न आर्थिक कारकों जैसे प्रति व्यक्ति आय, सकल घरेलू उत्पाद, जीवन स्तर, शिक्षा का स्तर, जीवन प्रत्याशा आदि पर किया जाता है. आइये इस लेख में जानते हैं कि किन देशों को किस श्रेणी में रखा गया है?

    Feb 3, 2020
  • भारतीय बजट के बारे में 7 ऐसे प्रश्न जो आप नही जानते हैं

    स्वतंत्र भारत के पहले केंद्रीय बजट को R.K. शणमुखम चेट्टी द्वारा 26 नवम्बर ,1947 को पेश किया गया था. भारतीय संविधान में बजट शब्द का उल्लेख नहीं है बल्कि अनुच्छेद 112 में 'वार्षिक वित्तीय विवरण' का जिक्र किया गया है. बजट (Budget), केंद्र सरकार की एक चित्त वर्ष के दौरान होने वाली आय और व्यय का व्यौरा होता है.

    Jan 31, 2020
  • क्या भारत सरकार नए नोट छापकर विदेशी कर्ज चुका सकती है?

    दिसम्बर 2014 में भारत के ऊपर कुल विदेशी ऋण 462 अरब डॉलर था जो कि सकल घरेलू उत्पाद का 23.2% था. लेकिन इसमें साल दर साल वृद्धि होती गयी और जून 2019 में बढ़कर 557 अरब डॉलर हो गया है जो कि सकल घरेलू उत्पाद का 19.8% है. आंकड़े बताते हैं कि पिछले 5 सालों में मोदी सरकार के शासन में देश के ऊपर 95 अरब डॉलर का कर्ज बढ़ा है. लोग यह तर्क दे रहे हैं क्या इस कर्ज को भारत में नयी करेंसी छापकर चुकाया जा सकता है? आइये समझते हैं कि क्या ऐसा संभव है?

    Jan 31, 2020
  • केन्द्रीय बजट क्या है: परिभाषा एवं प्रकार

    साधारण शब्दों में बजट (Budget), सरकार की एक चित्त वर्ष के दौरान होने वाली आय और व्यय का व्यौरा होता है. केंद्र सरकार, बजट के माध्यम से देश को यह बताती है कि उसको किन मदों से आय प्राप्त होगी और वह किन मदों पर कितना खर्च करेगी?  इस लेख में हम बजट की परिभाषा, उद्येश्यों और उसके प्रकारों का विवरण दे रहे हैं, जिसकी मदद से आप बजट को और भी अच्छी तरह से समझ सकते हैं.

    Jan 30, 2020
  • भारतीय नोटों पर गाँधी जी की तस्वीर कब से छपनी शुरू हुई थी?

    एक RTI के जवाब में केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बताया था, कि नोट के दाहिनी तरफ गांधी जी की तस्वीर को छापने की सिफारिश 13 जुलाई 1995 को RBI ने केंद्र सरकार को की थी. इसके बाद आरबीआई ने 1996 में नोटों में बदलाव का फैसला लिया और अशोक स्तंभ की जगह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के फोटो का इस्तेमाल किया गया.

    Jan 28, 2020
  • गर्ल चाइल्ड डे (24 जनवरी): गर्ल्स के लिए भारत सरकार की प्रमुख योजनायें

    महिलाओं के विकास के बिना देश और समाज का विकास अधूरा है.इसीलिए सरकार ने बच्चियों के सशक्तिकरण और विकास के लिए सुकन्या समृद्धि योजना और कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय योजना और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसी योजनाओं की शुरुआत की है. आइये इस गर्ल चाइल्ड डे (24 जनवरी) के मौके पर जानते हैं कि सरकार ने गर्ल्स के कल्याण के लिए कौन सी योजनायें शुरू की हैं?

    Jan 24, 2020
  • ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से अलग होने के क्या फायदे होंगे?

    BREXIT का मतलब है, ब्रिटेन का यूरोपियन यूनियन से एग्जिट. यह घटना पूरे यूरोपियन मार्किट की सबसे चर्चित घटना है. ब्रिटेन के वर्तमान प्रधानमन्त्री बोरिस जॉनसन, BREXIT चाहते हैं लेकिन इसमें कई दिक्कतें हैं इस कारण यह प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही है. आइये इस लेख में पूरी BREXIT प्रक्रिया से ब्रिटेन को होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं.

    Jan 21, 2020
  • जनसँख्या विस्फोट: अर्थ, कारण और परिणाम

    अगर भारत की जनसंख्या वर्तमान दर से बढती रही तो भारत जल्दी ही चीन को पछाड़कर दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जायेगा. यह एक ऐसी उपलब्धि होगी जिस पर किसी भारतीय को गर्व नहीं होगा. इसी कारण भारत में 2 चाइल्ड पालिसी को लागू करने की बात की जा रही है. आइये इस लेख में जानते हैं कि जनसँख्या विस्फोट किसे कहा जाता है और इसके क्या कारण और परिणाम होते हैं?

    Jan 20, 2020
  • P2P लेंडिंग क्या होती है और इसमें लोन कैसे दिया जाता है?

    P2P लेंडिंग या पीयर-टू-पीयर लेंडिंग लोन लेने और देने का एक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है. यह एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ पर कुछ लोग लोन देने और कुछ लोग लोन लेने के इच्छुक होते हैं. ध्यान रहे कि पी2पी लोन लेने के लिए कोई कागजी कार्रवाई नहीं होती है. लोन लेने वाले व्यक्ति के एड्रेस का फिजिकल वेरिफिकेशन किया जाता और बाकी की पी2पी लेंडिंग की पूरी प्रक्रिया आनलाइन होती है.

    Jan 14, 2020
  • मोदी सरकार की प्रमुख योजनाओं की सूची

    सन 2014 से लेकर अब तक मोदी सरकार ने कई योजनायें शुरू की हैं. ये योजनायें समाज के विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए बनायीं गयीं हैं. मोदी सरकार की प्रमुख योजनाओं में  स्वच्छ भारत मिशन, जन धन योजना,बेटी बचाओ-बेटी पढाओ और स्किल इंडिया शामिल हैं. आइये इस लेख में मोदी सरकार की प्रमुख योजनाओं के बारे में जानते हैं.

    Jan 14, 2020
  • न्यूनतम गारंटी योजना (MIG) और न्यूनतम आय गारंटी योजना (UBI) में क्या अंतर है?

    MIG vs UBI: पूर्व वित्त मंत्री स्व. श्री अरुण जेटली ने आर्थिक सर्वेक्षण 2016-17 में गरीबी कम करने के प्रयास के लिए देश में चल रही विभिन्न 'सामाजिक कल्याण योजनाओं' के स्थान पर एक न्यूनतम आय गारंटी योजना (UBI) शुरू करने की वकालत की थी. जबकि राहुल गाँधी ने देश में न्यूनतम गारंटी योजना (MIG) की बात कही थी. आइये इस लेख में जानते हैं कि इन दोनों योजनाओं में क्या अंतर है?

    Jan 3, 2020
  • भारतीय रिज़र्व बैंक का "Operation Twist" क्या है और क्यों शुरू किया गया है?

    वर्तमान में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में लगातार गिरावट आती जा रही है, ब्याज की दरें ज्यादा होने के कारण लोग बैंकों से ज्यादा उधार नहीं ले रहे हैं. ऐसे माहौल ने रिज़र्व बैंक ने तय किया है कि अब वह 'ऑपरेशन ट्विस्ट' के जरिये देश में लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा देगा.

    Dec 27, 2019
  • महारत्न, नवरत्न और मिनीरत्न कंपनियों का चुनाव कैसे किया जाता है?

    वर्तमान में भारत में 10 महारत्न कम्पनियाँ,14 नवरत्न कम्पनियाँ हैं और 73 मिनीरत्न कंपनियों को श्रेणी 1 और श्रेणी 2 में बांटा गया है. कौन सी कंपनी किस केटेगरी में रहेगी इसका फैसला, कंपनी के औसत वार्षिक कारोबार, कर चुकाने’के बाद कंपनी का कुल लाभ, कंपनी की कुल औसत वार्षिक संपत्ति, और कंपनी की पॉपुलैरिटी के आधार पर लिया जाता है. आइये इस लेख में जानते हैं कि कौन सी कंपनी किस केटेगरी में है?

    Dec 4, 2019